IPL 2021 : महेंद्र सिंह धोनी ने सुनील नरेन की गेंद पर आईपीएल इतिहास में पहली बार जड़ा चौका

चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने सुनील नरेन के ओवर में फ्री हिट पर चौका लगाया. (Pic- PTI)

चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने सुनील नरेन के ओवर में फ्री हिट पर चौका लगाया. (Pic- PTI)

CSK vs KKR: चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने प्रतिष्ठित टी20 आईपीएल में पहली बार सुनील नरेन का सामना साल 2012 में किया था. इसके बाद से ही दिग्गज विकेटकीपर बल्लेबाज कोई बाउंड्री इस स्पिनर की गेंद पर नहीं लगा सका था. आठ साल में धोनी ने सुनील नरेन की 63 गेंदों का सामना किया और वह केवल 30 रन ही बना पाए थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 22, 2021, 10:51 AM IST
  • Share this:
मुंबई. तीन बार की आईपीएल चैंपियन चेन्नई सुपर किंग्स (Chennai Super Kings) के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी आक्रामक बल्लेबाजी के लिए मशहूर हैं. इंडियन प्रीमियर लीग के 14वें सीजन में भले ही उनका बल्ला अभी तक शांत है लेकिन उनकी टीम ने बुधवार को कोलकाता नाइट राइडर्स को हराकर लगातार तीसरी जीत दर्ज की. उन्होंने इस मुकाबले में सुनील नरेन (MS Dhoni Four off Sunil Narine) पर चौका लगाया जो इस टी20 लीग इतिहास में पहली बार हुआ. चेन्नई ने वानखेडे़ स्टेडियम में खेले गए मुकाबले में कोलकाता (KKR) को 18 रन से हराया. धोनी की टीम ने 3 विकेट पर 220 रन बनाए जिसके बाद केकेआर टीम 19.1 ओवर में 202 रन पर ऑलआउट हो गई.

इस मुकाबले में चेन्नई के कप्तान धोनी चौथे नंबर पर बल्लेबाजी को उतरे. मोईन अली (25) को नरेन ने शिकार बनाया और पारी के 17वें ओवर में धोनी क्रीज पर आए. इसी ओवर में नरेन ने नोबॉल फेंकी जिसके बाद फ्री हिट पर धोनी ने चौका लगा दिया. सुनील नरेन की गेंद पर धोनी का यह आईपीएल इतिहास में पहला चौका रहा जिसके लिए उन्हें 65 गेंदों का इंतजार करना पड़ा. धोनी ने 8 गेंदों पर 2 चौके और 1 छक्का लगाया और 17 रन का योगदान दिया. उन्हें 19वें ओवर की अंतिम गेंद पर रसेल ने मॉर्गन के हाथों कैच कराया.

इसे भी पढ़ें, चेन्नई एक्सप्रेस की हैट्रिक जीत, केकेआर को हराकर प्वाइंट टेबल में टॉप पर पहुंची

धोनी ने इस टी20 लीग में पहली बार नरेन का सामना साल 2012 में किया था. इसके बाद से यह दिग्गज विकेटकीपर बल्लेबाज कोई बाउंड्री इस स्पिनर की गेंद पर नहीं लगा सका था. इससे पहले आठ साल में धोनी ने सुनील नरेन की 63 गेंदों का सामना किया और वह केवल 30 रन ही बना पाए थे.
वानखेड़े स्टेडियम में चेन्नई ने ओपनर फाफ डुप्लेसी (95*) की दमदार पारी और ऋतुराज गायकवाड़ (64) के अर्धशतक की मदद से कोलकाता के खिलाफ तीन विकेट पर 220 रन बनाए जिसके बाद केकेआर टीम पैट कमिंस (66*) और आंद्रे रसेल (54) के अर्धशतकों के बावजूद 19.1 ओवर में 202 रन पर ऑलआउट हो गई. चेन्नई के लिए गायकवाड़ और डुप्लेसी ने 115 रन की ओपनिंग साझेदारी की. पेसर दीपक चाहर ने सर्वाधिक 4 विकेट लिए. सीएसके अंकतालिका में 6 अंकों के साथ टॉप पर पहुंच गई है. आरसीबी के भी 6 अंक हैं लेकिन बेहतर रन रेट के कारण चेन्नई टॉप पर है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज