IPL 2021: डेविड वॉर्नर से कप्तानी छिनने से मांजरेकर नाराज, विटोरी भी बोले- फैसला चौंकाने वाला

डेविड वॉर्नर की कप्तानी में सनराइजर्स हैदराबाद ने 2016 में आईपीएल का खिताब जीता था. (PIC:PTI)

डेविड वॉर्नर की कप्तानी में सनराइजर्स हैदराबाद ने 2016 में आईपीएल का खिताब जीता था. (PIC:PTI)

IPL 2021: डेविड वॉर्नर (David Warner) को आईपीएल 2021 के बीच में सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) की कप्तानी के हटाने के फैसले से डेनियल विटोरी और पूर्व भारतीय बल्लेबाज संजय मांजरेकर भी हैरान हैं. मांजरेकर ने कहा कि इस सीजन में हैदराबाद के खराब प्रदर्शन के लिए वॉर्नर जिम्मेदार नहीं हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. आईपीएल 2021(IPL 2021) में सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा है. टीम 6 में पांच मैच हारकर अंक तालिका में आखिरी स्थान पर है. इसी वजह से एक दिन पहले डेविड वॉर्नर (David Warner) से हैदराबाद टीम की कप्तानी छीन ली गई. पूर्व दिग्गज हैदराबाद टीम मैनेजमेंट के इस फैसले से नाराज हैं. न्यूजीलैंड के पूर्व कप्तान डेनियल विटोरी (Daniel Vettori) और पूर्व भारतीय बल्लेबाज संजय मांजरेकर (Sanjay Manjrekar) टूर्नामेंट के बीच में लिए गए इस फैसले को पचा नहीं पा रहे हैं.

डेनियल विटोरी ने ईएसपीएन क्रिकइंफो से बाचीत में कहा कि हैदराबाद टीम का ये फैसला चौंकाने वाला है. हालांकि, कुछ वक्त से इसके संकेत मिलने लगे थे. क्योंकि वॉर्नर टीम सेलेक्शन और हार की जिम्मेदारी खुद पर ले रहे थे. लेकिन फिर भी वॉर्नर जैसे खिलाड़ी के लिए ऐसा फैसला करना हैदराबाद टीम मैनेजमेंट के लिए सही नहीं है. क्योंकि वॉर्नर सालों से इस टीम की दिल और आत्मा की तरह हैं.

उन्होंने आगे कहा कि बीते सालों में उनका प्रदर्शन और कप्तानी दोनों शानदार रही है. उन्होंने टीम को एक खिताब भी जिताया है. ये उन लोगों के लिए एक फैसला भर हो सकता है, जो टीम के साथ जुड़े नहीं रहे हैं. लेकिन ये पहले से अंक तालिका में आखिरी स्थान पर बैठी फ्रेंचाइजी के लिए अच्छा नहीं है.

टीम के खराब प्रदर्शन के लिए वॉर्नर जिम्मेदार नहीं: मांजरेकर
संजय मांजरेकर भी वॉर्नर को कप्तानी से हटाने के फैसले से हैरान हैं. उन्होंने कहा कि मैं अतीत के प्रदर्शन को आधार बनाकर किसी खिलाड़ी की तरफदारी का पक्षधर नहीं हूं. अगर वॉर्नर का मौजूदा फॉर्म अच्छा नहीं होता तो भी ये फैसला समझ आता है. अगर आप इस सीजन में हैदराबाद की हार को करीब से देखें तो समझ आएगा कि उन्होंने लक्ष्य का पीछा करते हुए कई सारी चीजें गलत की. क्या इसके लिए वॉर्नर की कप्तानी जिम्मेदार थी?. मुझे ऐसा नहीं लगता. टूर्नामेंट में टीम के प्लेइंग-11 कभी संतुलित नजर नहीं आया. खासतौर पर भारतीय खिलाड़ियों को लेकर.

यह भी पढ़ें : IPL 2021: धोनी की टीम के खिलाफ मिली जीत को रोहित शर्मा ने बताया जिंदगी का सबसे रोमांचक मैच

वॉर्नर को प्लेइंग-11 से भी बाहर किया जा सकता है



उन्होंने आगे कहा कि अगर हैदराबाद टीम विदेशी खिलाड़ियों के कॉम्बिनेशन को बदलना चाहती है, तो ये भी मेरे लिए हैरान करने वाला होगा. क्योंकि मुझे नहीं लगता कि सनराइजर्स हैदराबाद के पास इतने विकल्प हैं कि वो किसी भी मैच में बतौर बल्लेबाज वॉर्नर के बगैर उतर सकते हैं. हालांकि, उनके विकल्प के तौर पर इंग्लिश बल्लेबाज जेसन रॉय को प्लेइंग-11 में मौका दिया जा सकता है.

इसे भी पढ़ें, पोलार्ड की धमाकेदार पारी से मुंबई इंडियंस ने चेन्नई सुपर किंग्स को दी मात

SRH विदेशी खिलाड़ियों के संयोजन में भी बदलाव करेगी

बता दें कि एक दिन पहले ही सनराइजर्स हैदराबाद फ्रेंचाइजी ने एक बयान जारी कर डेविड वॉर्नर की जगह केन विलियमसन को टीम का कप्तान बनाने की जानकारी दी थी. इस बयान में टीम प्रबंधन ने कहा था कि राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ वह विदेशी खिलाड़ियों के संयोजन में भी बदलाव करेगी. इसके मायने हैं कि वॉर्नर को टीम से बाहर किया जा सकता है. बयान में कहा गया कि यह फैसला आसान नहीं था. क्योंकि टीम प्रबंधन वॉर्नर का काफी सम्मान करता है. हमें उम्मीद है कि बाकी मैचों में वह शानदार प्रदर्शन करेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज