• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • IPL 2021: फिटनेस के लिए घर से रोज 30 मिनट दौड़कर स्टेशन जाते थे, अब किया आईपीएल डेब्यू

IPL 2021: फिटनेस के लिए घर से रोज 30 मिनट दौड़कर स्टेशन जाते थे, अब किया आईपीएल डेब्यू

IPL 2021 में 23 साल के बंगाल के तेज गेंदबाज ने पंजाब किंग्स के लिए डेब्यू किया. जानिए उनका यहां तक का सफर (Ishan Porel Instagram)

IPL 2021 में 23 साल के बंगाल के तेज गेंदबाज ने पंजाब किंग्स के लिए डेब्यू किया. जानिए उनका यहां तक का सफर (Ishan Porel Instagram)

IPL 2021: आईपीएल 2021 का 32वां मैच पंजाब किंग्स और राजस्थान रॉयल्स के बीच खेला जा रहा है. इस मुकाबले में दोनों टीमों की तरफ से 4 खिलाड़ियों ने डेब्यू किया. लेकिन सबकी नजर बंगाल की तरफ से घेरलू क्रिकेट खेलने वाले तेज गेंदबाज इशान पोरेल (Ishan Porel IPL Debut) पर है. 23 साल के पोरेल बंगाल की अंडर-16, अंडर-19 क्रिकेट टीम की तरफ से खेले और फिर अंडर-19 विश्व कप खेलने वाली भारतीय टीम में जगह मिली. हालांकि, पोरेल के लिए यह सफर आसान नहीं रहा.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्ली. आईपीएल 2021 का 32वां मैच पंजाब किंग्स और राजस्थान रॉयल्स (PBKS vs RR) के बीच खेला जा रहा है. इस मुकाबले में दोनों टीमों की तरफ से 4 खिलाड़ियों ने डेब्यू किया. लेकिन सबकी नजर बंगाल की तरफ से घेरलू क्रिकेट खेलने वाले तेज गेंदबाज इशान पोरेल पर (Ishan Porel IPL Debut) है. 23 साल के पोरेल बंगाल की अंडर-16, अंडर-19 टीम की तरफ से खेले और फिर अंडर-19 विश्व कप खेलने वाली भारतीय टीम में जगह मिली. वहां बेहतर प्रदर्शन करके उन्होंने बंगाल की सीनियर टीम का टिकट कटाया. हालांकि, इस गेंदबाज के लिए कोलकाता के चंदन नगर से आईपीएल तक का सफर आसान नहीं रहा. लेकिन अपनी जिद और जज्बे के दम पर इस गेंदबाज ने इस मुकाम को हासिल किया.

    इशान ने 2017 में 19 साल की उम्र में बंगाल के लिए रणजी ट्रॉफी में डेब्यू किया था. तब मुकाबला विदर्भ से था और बंगाल यह मैच 10 विकेट से हार गया था. आमतौर पर हारी हुई टीम के लिए डेब्यू कर रहे गेंदबाज के प्रदर्शन को भूलना आसान रहता है. लेकिन जूनियर सेलेक्शन कमेटी के जो सलेक्टर्स इस मुकाबले को स्टेडियम में बैठकर देख रहे थे, वो कुछ भी नहीं भूले.

    उस समय 2018 की अंडर-19 विश्व कप का स्क्वॉड फाइनल करने का काम चल रहा है. सेलेक्टर्स ने इससे पहले भी पोरेल को गेंदबाजी करते देखा था. लेकिन उनकी फिटनेस से जुड़े इतिहास को लेकर आशंकित थे. क्योंकि 19 साल की उम्र में ही पोरेल साइड स्ट्रेन, लिगामेंट इंजरी और घुटने की चोट से जूझ रहे थे. लेकिन उनकी गेंदबाजी की हमेशा से ही चर्चा रही थी. इसलिए चयनकर्ताओं ने उन्हें पहले दिन बिना विकेट के 22 विकेट ओवर फेंकते देखा. दूसरे दिन, भी लंच से टी ब्रेक तक वो लगातार गेंदबाजी करते रहे.

    पहले रणजी मैच में ही सेलेक्टर्स को प्रभावित किया
    तब पोरेल की गेंदबाजी देखकर जूनियर सेलेक्शन कमेटी के चीफ वेंकटेश प्रसाद ने कहा था कि वो काफी तेज और सटीक हैं और बेजान पिच से भी अतिरिक्त उछाल हासिल कर रहे हैं. 35 डिग्री तापमान और उमस में, पोरेल ने विदर्भ की पहली पारी में 138 में से 47 ओवर फेंके. यानी एक तिहाई ओवर तो इसी गेंदबाज ने किए थे और मैच में उन्होंने 139 रन देकर 4 विकेट हासिल किए. फिटनेस का इससे ज्यादा सबूत कोई गेंदबाज नहीं दे सकता था. इसके बाद पोरेल अंडर-19 चैलेंजर ट्रॉफी के लिए भारतीय टीम में चुने गए और फिर विश्व कप की टीम में उन्हें मौका मिला. वो फरवरी 2018 में विश्व विजेता बनकर न्यूजीलैंड से लौटे. अगर विदर्भ के खिलाफ मुकाबले में सेलेक्टर्स की पोरेल पर नजर नहीं पड़ती, तो शायद उनका करियर ऐसे परवाज नहीं चढ़ता.

     सचिन-सौरव जैसा बल्लेबाज बनना चाहते थे पोरेल
    पोरेल कोलकाता से 50 किलोमीटर दूर एक कस्बे चंदननगर के रहने वाले हैं. उन्होंने अपने शहर से ही क्लब क्रिकेट की शुरुआत की थी. 2012 में वो पहली बार कोलकाता में ट्रायल के लिए आए थे. हालांकि, वो सचिन तेंदुलकर और सौरव गांगुली से प्रभावित होकर बल्लेबाज बन जाते थे और उन्होंने ट्रायल के दौरान भी बल्लेबाजी की थी. लेकिन कैंप के कोच ने उनकी कद-काठी देखकर तेज गेंदबाज बनने की सलाह दी और यहीं से पोरेल का करियर बदल गया.

    IPL 2021: 150वें टी20 मैच में धमाका करने को तैयार RR का बल्लेबाज, चौके से अधिक छक्के लगाए

    पोरेल ने अपनी फिटनेस पर काफी मेहनत की
    पोरेल 2014 में नेशनल क्रिकेट एकेडमी में पहुंचे. हालांकि, तब उन्हें अंडर-वेट माना गया था और उनके एक्शन पर भी सवाल उठे थे. इसके बाद उन्होंने एक साल तक अपने तरीके से फिटनेस पर काम किया. एसी जिम की जगह उन्होंने चंदननगर में अपने घर से रेलवे स्टेशन तक दौड़ना शुरू किया. 30 मिनट की इस दूरी को पूरी करने के दौरान उनके कंधे पर किट बैग भी टंगा होता था. स्टेशन से हो हावड़ा की ट्रेन पकड़ते और फिर बस से सॉल्ट लेक या ईडन गार्डेंस पहुंचते थे. शाम को घर लौटते वक्त भी वो यही रूटीन फॉलो करते थे.

    यह भी पढ़ें: IPL 2021: पंजाब किंग्स ने सिर्फ 43 छक्के वाले खिलाड़ी को दिया मौका, टी20 में 1000 छक्के लगाने वाला बाहर

    पोरेल ने टी20 में 29 विकेट लिए हैं
    इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि इस गेंदबाज ने खुद को मेहनत की भट्टी में कितना तपाया और इसी का नतीजा है कि वो कुंदन बनकर निकले और आज आईपीएल में डेब्यू करने का मौका मिला.
    पोरेल ने अब तक 22 फर्स्ट क्लास मैच में 61 विकेट लिए हैं. वहीं, 19 टी20 में इस गेंदबाज के नाम 29 विकेट हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज