IPL News: विदेशी खिलाड़ियों पर फैसला जुलाई में, बीसीसीआई विभिन्न बोर्ड से करेगा बात

आईपीएल के मौजूदा सीजन के 31 मैच बचे हैं. (BCCI/Twitter)

आईपीएल 2021 (IPl 2021) के मौजूदा सीजन के बचे 31 मैच सितंबर-अक्टूबर में यूएई में होने हैं. लेकिन इंटरनेशनल सीरीज होने के कारण ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड सहित कई विदेशी खिलाड़ियों के खेलने पर संशय है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. आईपीएल 2021 (IPL 2021) के दूसरे चरण के मुकाबले सितंबर-अक्टूबर में यूएई में होने हैं. बीसीसीआई ने 29 मई को विशेष बैठक करके यह फैसला किया. बोर्ड के उपाध्यक्ष राजीव शुक्ला टूर्नामेंट की तैयारियों को पुख्ता करने यूएई पहुंच चुके हैं. बोर्ड अध्यक्ष सौरव गांगुली भी यूएई में जाने वाले हैं. मौजूदा सीजन के 60 में से 29 मुकाबले ही हुए हैं. 31 मैच खेले जाने बाकी हैं. यूएई में तीसरी बार टूर्नामेंट का आयोजन होने जा रहा है. लेकिन इस दौरान इंटरनेशनल सीरीज होने के कारण विदेशी खिलाड़ियों के खेलने पर संदेह है.

    एएनआई से बात करते हुए बैठक में शामिल सूत्र ने कहा कि सभी विदेशी बोर्डों के साथ चर्चा की जाएगी और जुलाई के आस-पास निर्णय लिया जाएगा कि क्या विदेशी खिलाड़ी उपलब्ध होंगे या रिप्लेसमेंट खिलाड़ियों की जरूरत होगी. सूत्र ने कहा, ‘बोर्ड ने अगले कुछ हफ्तों में शामिल सभी विदेशी बोर्डों के साथ इस मुद्दे पर चर्चा करने का फैसला किया है. उन्हें इस मामले पर आंतरिक रूप से चर्चा करने और बीसीसीआई को सूचित करने के लिए पर्याप्त समय देगा कि क्या खिलाड़ियों को 14वें सीजन की बहाली के लिए उपलब्ध कराया जा सकता है. भारतीय बोर्ड खिलाड़ियों की उपलब्धता पर अगला फैसला लेने से पहले जुलाई के आस-पास इंतजार करेगा.’

    सूत्र ने कहा, ‘एक बार जब विदेशी बोर्ड से खिलाड़ी की उपलब्धता की जानकारी मिल जाएगी, तो बीसीसीआई चर्चा करेगा. इसके बाद बीसीसीआई फ्रेंचाइजी को अवगत कराएगा. यदि कुछ विदेशी खिलाड़ी टूर्नामेंट के लिए उपलब्ध नहीं होते हैं तो फ्रेंचाइजी को उसी तरह से रिप्लेसमेंट करने की अनुमति दी जाएगी, जिस तरह से सामान्य परिस्थितियों में चोट के रिप्लेसमेंट को चुना जाता है.’

    ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के खिलाड़ियों के खेलने पर संशय

    ऑस्ट्रेलिया की टीम बांग्लादेश का दौरा करने की योजना बनी रही है. टीम यहां 5 टी20 खेल सकती है. इसे अक्टूबर-नवंबर में होने वाले टी20 वर्ल्ड कप के लिहाज से महत्वपूर्ण माना जा रहा है. इससे पहले टीम जून में विंडीज का दौरा करेगी. अफगानिस्तान से टेस्ट और उसके बाद एशेज सीरीज भी है. हालांकि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया खिलाड़ियों पर अंतिम फैसला लेगा. तेज गेंदबाज पैट कमिंस पहले ही हट चुके हैं. दूसरी ओर इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड ने खिलाड़ियों के नहीं भेजने की बात कही है. वहीं कैरेबियन प्रीमियर लीग (CPL) के मुकाबले 28 अगस्त से 19 सितंबर तक होने हैं. बीसीसीआई इसे 10 दिन पहले कराने के लिए विंडीज बोर्ड से बात कर रहा है. विंडीज के दिग्गज कायरन पोलार्ड, क्रिस गेल, सुनील नरेन आईपीएल में खेलते हैं. अगर सीपीएल के मुकाबले नहीं टले तो इन खिलाड़ियाें का भी खेलना संदिग्ध है.

    यूएई में तीसरी बार हो रहा है आयोजन

    यूएई में तीसरी बार आईपीएल के मुकाबले खेले जाएंगे. इससे पहले 2014 में शुरुआती 20 मैच यूएई में हुए थे, इसके बाद सीजन के बाकी बचे मैच भारत में खेले गए. 2020 के सभी 60 मैच यूएई में खेले गए थे. मुंबई इंडियंस ने रिकॉर्ड 5वीं बार खिताब जीता था. अब मौजूदा सीजन के बचे 31 मैच भी यहीं होने हैं. इसके अलावा 2009 में भी टी20 लीग का आयोजन विदेश में दक्षिण अफ्रीका में कराया गया था. मौजूदा आईपीएल सीजन के 31 मैच यूएई में होने हैं. 60 में से 29 मुकाबले खेले जा चुके हैं.

    बोर्ड को होता 2500 करोड़ का नुकसान

    आईपीएल के मौजूदा सीजन के बचे मुकाबले अगर बोर्ड नहीं कराता तो उसे लगभग 2500 करोड़ रुपए का नुकसान होता. बोर्ड अध्यक्ष सौरव गांगुली ने यह बात कही थी. पिछले साल कोरोना के कारण रणजी का सीजन नहीं हो सका है. इस बार भी कोरोना के कारण आयोजन कठिन है. ऐसे में 700 खिलाड़ियों को मुआवजे के तौर पर 50 करोड़ रुपए दिए जाने हैं. टी20 लीग के आयोजन से इन खिलाड़ियों को भी पैसे देने में बोर्ड काे दिक्कत नहीं होगी.