IPL 2021: एमएस धोनी के विश्वास से रुतुराज पटरी पर लौटे, केकेआर के खिलाफ खेली धुआंधार पारी

IPL 2021: रुतुराज गायकवाड़ ने पिछले सीजन के अंतिम 3 मैच में तीन अर्धशतक लगाए थे. (PTI)

IPL 2021: रुतुराज गायकवाड़ ने पिछले सीजन के अंतिम 3 मैच में तीन अर्धशतक लगाए थे. (PTI)

युवा बल्लेबाज रुतुराज गायकवाड़ (Ruturaj Gaikwad) आखिरी फॉर्म में लौट आए. आईपीएल 2021 (IPL 2021) के एक मैच (CSK vs KKR) में उन्होंने धुआंधार 64 रन बनाए. मैच के पहले उनके बाहर होने की अटकलें लगाई जा रही थीं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 21, 2021, 9:07 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. 24 साल के युवा बल्लेबाज रुतुराज गायकवाड़ (Ruturaj Gaikwad) आखिरकार कप्तान एमएस धोनी (MS Dhoni) के विश्वास पर खरे उतरे. आईपीएल 2021 (IPL 2021) के पहले तीन मैच में असफल होने के बाद उनके इस मैच (CSK vs KKR) में बाहर होन की अटकलें थीं. लेकिन चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) ने उन्हें मौका देने का फैसला किया. उन्होंने 64 रन की आक्रामक पारी खेली.

रुतुराज गायकवाड़ ने टी20 लीग के पहले मैच में दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ 5 रन बनाए. फिर पंजाब किंग्स के खिलाफ 5 और राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ 10 रन बनाए. इस तरह से 3 मैचों में उनके नाम सिर्फ 20 रन दर्ज थे. लेकिन सीएसके की टीम अधिक बदलाव नहीं करने के लिए जानी जाती है. अंतिम दो मैच में टीम को जीत भी मिली थी. इस कारण एक बार फिर रुतुराज मैच में उतरे.

48 रन बाउंड्री से बना डाले

रुतुराज गायकवाड़ ने 42 गेंद पर 64 रन बनाए. 6 चौके ओर 4 छक्के लगाए. यानी उन्होंने 64 रन बाउंड्री से ही बना डाले. ओवरऑल टी20 का यह उनका 10वां अर्धशतक है. उन्होंने डूप्लेसि के साथ पहले विकेट के लिए 115 रन की शतकीय साझेदारी भी की. इस मैच के पहले तक उन्होंने टी20 के 42 मैच में 31 की औसत से 1161 रन बनाए थे. स्ट्राइक रेट 158 का था. आईपीएल के पिछले सीजन के अंतिम तीन मैच में उन्होंने तीन अर्धशतकीय पारी खेलकर सबका ध्यान खींचा था. हालांकि पिछले साल टीम प्लेऑफ में जगह नहीं बना सकी थी.
यह भी पढ़ें: ZIM vs PAK: मोहम्मद रिजवान ने अकेले पाक के 55 फीसदी रन बनाए, जिम्बाब्वे नजदीकी मुकाबले में हारा

धोनी ने कहा था अधिक मत सोचो

तीन मैच में फेल होने के बाद रुतुराज गायकवाड़ ने कहा था कि धोनी ने मुझसे कहा था कि मैं अपनी क्रिकेट का आनंद लूं और नतीजे के बारे में ना सोचूं, शांत रहूं. एक बार मैंने अगर अपनी आंखें जमा ली तो उनको भरोसा था कि मैं छाप छोड़ने में सफल रहूंगा. मुझे लगता है कि वह मेरे लिए एक अच्छा रिमांइडर था, क्योंकि मैं उससे पहले सिर्फ नतीजे के बारे में सोच रहा था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज