IPL 2021: संजय मांजरेकर ने बताया, व्हाइट बॉल क्रिकेट में क्यों संघर्ष करते हैं अश्विन

IPL 2021: टेस्ट में शानदार प्रदर्शन करने वाले अश्विन पहले आईपीएल मैच में नहीं चल पाए (PIC: PTI)

IPL 2021: टेस्ट में शानदार प्रदर्शन करने वाले अश्विन पहले आईपीएल मैच में नहीं चल पाए (PIC: PTI)

IPL 2021: इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2021) में पहले मैच में दिल्ली कैपिटल्स के रविचंद्रन अश्विन ने 4 ओवर में 47 रन दिए और उन्हें एक भी विकेट नहीं मिला.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 12, 2021, 3:20 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय दिग्गज ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) की ऑस्ट्रेलिया में बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी टेस्ट सीरीज में शानदार प्रदर्शन किया था. उन्होंने 3 टेस्ट मैचों में 12 विकेट लिए थे. इंग्लैंड के खिलाफ 4 टेस्ट में अश्विन ने 32 विकेट लिए थे. टेस्ट मैच में उन्होंने लगातार अच्छा प्रदर्शन किया है, लेकिन इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2021) में पहले मैच में अश्विन ने 4 ओवर में 47 रन दिए और उन्हें एक भी विकेट नहीं मिला. ऐसे में टी20 क्रिकेट में अश्विन के इस संघर्ष पर पूर्व भारतीय क्रिकेटर और वर्तमान में कमेंटेटर संजय मांजरेकर ने अपनी राय दी है.

पूर्व क्रिकेटर संजय मांजरेकर (Sanjay Manjrekar) ने ईएसपीएनक्रिकइंफो से बातचीत में व्हाइट बॉल क्रिकेट में अश्विन के संघर्ष पर कहा, ''अमित मिश्रा के लिए टेस्ट में या टी20 में गेंदबाजी करने में बहुत फर्क नहीं आता. वह गेंद को टर्न कराने की अपनी ताकत पर ही भरोसा करते हैं. वहीं, अश्विन ऑफ स्पिनर की तरह गेंदबाजी नहीं करते. सीमित ओवरों में वह बहुत कम ऑफ स्पिन फेंकते हैं. टेस्ट मैच में यह उनकी मुख्य गेंद होती है. व्हाइट बॉल क्रिकेट में वह और भी प्रयोग करते हैं.''

IPL 2021: किचन में नजर आए CSK के खिलाड़ी, बावर्ची बने रैना और रायडू ने बनाई स्पेशल बिरयानी


पूर्व पाकिस्तानी पेसर की विराट कोहली को सलाह, बाबर आजम को देख सीख सकते हैं तकनीक

संजय मांजरेकर ने कहा, ''मुझे लगता है सीमित ओवर क्रिकेट में वह यही सोचते हैं कि उनकी गेंद पर हिट ना लगे, वह इससे बचने की ही कोशिश करते हैं. लिहाजा आप पिच से बहुत कुछ हासिल नहीं कर पाते.'' उन्होंने आगे कहा, ऐसा नहीं है कि अश्विन ने खराब गेंदबाजी की, लेकिन सुरेश रैना और मोईन अली ने शानदार शॉट्स खेले. अच्छी गेंदों को उन्होंने छक्के के लिए मारा. बहुत से लोग यह उम्मीद करते हैं कि उन्हें सीमित ओवर क्रिकेट में भारत के लिए खेलना चाहिए, लेकिन सच यह कि टेस्ट क्रिकेट वाले अश्विन और व्हाइट बॉल वाले अश्विन एक जैसे नहीं हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज