IPL 2021: दिल्ली और अहमदाबाद में लगी बायो-बबल में सेंध, 29 मैच बाद टालनी पड़ी लीग

IPL 2021 के दूसरे चरण में दिल्ली के अरुण जेटली स्टेडियम में 8 मैच होने थे. लेकिन कोरोना के कारण लीग टलने की वजह से 4 मुकाबले ही हो पाए.  (BCCI/Twitter)

IPL 2021 के दूसरे चरण में दिल्ली के अरुण जेटली स्टेडियम में 8 मैच होने थे. लेकिन कोरोना के कारण लीग टलने की वजह से 4 मुकाबले ही हो पाए. (BCCI/Twitter)

बीसीसीआई (BCCI) के कई पदाधिकारियों और राज्य क्रिकेट संघों से जुड़े लोगों का मानना है कि दिल्ली और अहमदाबाद में आईपीएल 2021(IPL 2021) के दूसरे चरण के मुकाबले कराने का फैसला गलत था. क्योंकि यहां प्रैक्टिस के लिए टीमों को जो मैदान मुहैया कराए गए थे. वहां खिलाड़ियों के कोरोना वायरस के सम्पर्क में आने की पूरी आशंका थी.

  • Share this:

नई दिल्ली. आईपीएल 2021(IPL 2021 Postponed) को खिलाड़ियों और सपोर्ट स्टाफ के कुछ सदस्यों के संक्रमित होने के बाद बीच में टाल दिया गया. अब इसके स्थगित होने की वजह सामने आई है. दरअसल, लीग के दूसरे चरण के लिए बीसीसीआई(BCCI) ने दिल्ली और अहमदाबाद को चुना था. जहां प्रैक्टिस की बेहतर सुविधाएं नहीं थीं और आशंका जताई जा रही है कि इसी दौरान कोविड-19 प्रोटोकॉल (Covid-19 Protocol) का उल्लंघन हुआ और कई खिलाड़ी और सपोर्ट स्टाफ के सदस्य कोरोना पॉजिटिव हुए. इन्हीं सब वजहों से लीग को 29 मैच के बाद रोकना पड़ा.

इस पूरे मसले से जुड़े बीसीसीआई के एक पदाधिकारी ने न्यूज एजेंसी आईएएनएस को बताया कि बोर्ड और राज्य क्रिकेट संघों का ये मानना था कि दिल्ली और अहमदाबाद में दूसरे चरण के मुकाबले कराने का फैसला गलत था. हर शहर में चार टीमें थीं और मुख्य मैदान को छोड़कर, जोकि अंतरराष्ट्रीय स्तर की सुविधाओं से लैस था और जहां लीग के मैच भी हुए थे. बाकी, अभ्यास के लिए जो मैदान मुहैया कराए गए थे. वहां लोगों के कोरोना वायरस के सम्पर्क में आने की पूरी आशंका थी.

दिल्ली में जहां चेन्नई सुपर किंग्स ने रोशनआरा क्लब के मैदान में प्रैक्टिस की थी. वहीं, अहमदाबाद में मौजूद टीम को सुविधाओं के अभाव में गुजरात कॉलेज के मैदान पर अभ्यास करना पड़ा था. इन दोनों शहरों में मौजूद वेन्यू भीड़-भाड़ वाले या पुराने हिस्सों में थे.

अहमदाबाद में टीमों को गुजरात कॉलेज के मैदान में अभ्यास करना पड़ा
बीसीसीआई पदाधिकारी ने बताया कि मोटेरा में नए बने नरेंद्र मोदी स्टेडियम के साथ समस्या यह है कि आसपास का मैदान अभी पूरी तरह से तैयार नहीं हुआ है. प्रैक्टिस के दौरान खिलाड़ी यहां बड़े शॉट्स नहीं खेल सकते थे. इसी वजह से टीमों को गुजरात कॉलेज के मैदान में अभ्यास के लिए जाना पड़ा और इसमें खतरा था. क्योंकि वहां पहले से ही माली, सुरक्षाकर्मी और कई अन्य स्टाफ तैनात था और यहां खिलाड़ियों के संक्रमित होने की आशंका काफी ज्यादा था. इस मैदान पर कोलकाता नाइट राइडर्स के अलावा दो और टीमों ने प्रैक्टिस की थी. बाद में केकेआर के चार खिलाड़ी कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे.

यह भी पढ़ें: श्रीलंका दौरे पर 3 वनडे और 3 टी20 मैच खेलेगी टीम इंडिया, जानिये सीरीज का कार्यक्रम

दिल्ली में भी कोरोना प्रोटोकॉल के लिहाज से प्रैक्टिस सुविधाएं नहीं थीं



अहमदाबाद की तरह दिल्ली का रोशनआरा क्लब भी भीड़-भाड़ वाले इलाके में था. जो महामारी के दौर में प्रैक्टिस के लिए सही नहीं था. यहां भी स्थानीय स्टाफ तैनात था. जो खिलाड़ियों को संक्रमित कर सकता था. दिल्ली में जिस होटल के पास आईपीएल टीमें ठहरी थीं. उसके नजदीक जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी का भी ग्राउंड था. जो काफी सुरक्षित था और ड्रेसिंग रूम भी अच्छा था. लेकिन वहां पिच को लेकर जरूर परेशानी थी. शायद इसी वजह से रोशनआरा क्लब में टीमों का अभ्यास सत्र हुआ.

कुलदीप यादव को टीम से बाहर करने पर राहुल द्रविड़ ने कही बड़ी बात, बताया क्यों नहीं बना पाए जगह

आईपीएल 2021 में दिल्ली और अहमदाबाद में 20 मैच होने थे

आईपीएल 2021 के दूसरे चरण में दिल्ली और अहमदाबाद में आईपीएल 2021 के कुल 20 मुकाबले खेले जाने थे. इसमें से अहमदाबाद में 12 और दिल्ली में 8 मैच होने थे. लीग स्थगित होने से पहले तक दिल्ली में चार और अहमदाबाद में पांच मैच हो चुके थे. वहीं, मुंबई और चेन्नई में कुल 20 मैच खेले जा चुके थे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज