Home /News /sports /

ipl 2022 lsg vs gt what is ipl qualifier and eliminator and how teams qualifies for it

LSG vs GT: लखनऊ या गुजरात... कौन बनाएगा इतिहास, जानिए IPL में क्यों होता है क्वालिफायर-एलिमिनेटर मुकाबला

आईपीएल में टॉप-2 के बीच क्वालिफायर-1 मुकाबला खेला जाता है.

आईपीएल में टॉप-2 के बीच क्वालिफायर-1 मुकाबला खेला जाता है.

IPL Qualifier and Eliminator: आईपीएल 2022 में आज लखनऊ सुपरजायंट्स और गुजरात टाइटंस का मुकाबला होना है. आज जो भी टीम जीतेगी उसके लीग में 18 प्वाइंट हो जाएंगे, जो क्वालिफायर-1 बनने के लिए काफी होंगे. आइए जानते हैं कि आईपीएल में सेमीफाइनल-फाइनल की जगह क्वालिफायर, एलिमिनेटर और फाइनल का फॉर्मेट क्यों अपनाया गया.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. आईपीएल 2022 में आज का दिन ऐतिहासिक होने जा रहा है. आज यानी 10 मई को लखनऊ सुपरजायंट्स और गुजरात टाइटंस का मुकाबला होने जा रहा है. ये दोनों ही टीमें जबर्दस्त फॉर्म में हैं. दोनों 8-8 मैच जीतकर प्वाइंट टेबल में टॉप पर बनी हुई हैं. आज जब ये टीमें आमने-सामने होंगी तो उनकी निगाहें क्वालिफायर पर रहेंगी. आज जो भी टीम जीतेगी उसके लीग में 18 प्वाइंट हो जाएंगे, जो क्वालिफायर-1 बनने के लिए काफी होंगे. लखनऊ सुपरजायंट्स और गुजरात टाइटंस दोनों ही आईपीएल में पहली बार शामिल हो रही हैं. ऐसे में उनके पास अपने पहले ही टूर्नामेंट में क्वालिफायर-1 खेलने का इतिहास बनाने का मौका भी है.

इंडियन प्रीमियर लीग यानी आईपीएल के मौजूदा सीजन में यूं तो अभी प्लेऑफ की लड़ाई चरम पर है. हर एक मुकाबला करो या मरो जैसा हो गया है और एक हार-जीत से समीकरण बदल जा रहे हैं. लेकिन ऐसा सारी टीमों के लिए नहीं है. लखनऊ सुपरजायंट्स और गुजरात टाइटंस अपने 11 में से 8 मैच जीतकर प्लेऑफ में अपनी जगह लगभग पक्की कर चुकी हैं. कोई चमत्कारिक प्रदर्शन ही इन टीमों को प्लेऑफ खेलने से रोक सकता है. यही कारण है कि अब इन दोनों टीमों की निगाहें टॉप-2 पर थम गई हैं.

प्वाइंट टेबल में टॉप-2 में रहने वाली टीमें ही क्वालिफायर-1 के तौर पर क्वालिफाई (Advance to Qualifier 1) करती हैं. जबकि तीसरे और चौथे नंबर पर रहने वाली टीमें एलिमिनेटर मुकाबले के लिए क्वालिफाई (Advance to Eliminator) करती हैं.

लखनऊ और गुजरात 8-8 मैच जीतकर प्वाइंट टेबल में टॉप पर हैं.

लीग मैचों के बाद टॉप-2 में रहने वाली टीमों के बीच क्वालिफायर-1 मुकाबला खेला जाता है. इस मुकाबले को जीतने वाली टीम फाइनल में प्रवेश करती है. जबकि हारने वाली टीम को फाइनल में जाने का एक और मौका मिलता है. वह एलिमिनेटर मुकाबला जीतने वाली टीम से क्वालिफायर-2 नामक दूसरा मैच खेलती है. क्वालिफायर-2 का विजेता फाइनल में प्रवेश करता है.

आईपीएल पहले अन्य टूर्नामेंट की तरह सेमीफाइनल और फाइनल के फॉर्मेट में खेला जाता था. लेकिन बाद में इसे और प्रतिस्पर्धी बनाने के लिए क्वालिफायर, एलिमिनेटर और फाइनल के फॉर्मेट में बदल दिया गया. इससे टीमों के बीच टॉप-4 की बजाय टॉप-2 में आने की होड़ होती है. इससे टूर्नामेंट के आखिरी लीग मैच तक मुकाबले दिलचस्प बने रहते हैं.

क्यों पड़ी क्वालिफायर-एलिमिनेटर फॉर्मेट की जरूरत
जब किसी टूर्नामेंट में ढेरों मैच खेले जाते हैं तो कई बार एक या दो टीमें अपने शुरुआती मुकाबले जीतकर जल्दी ही टॉप-4 के लिए क्वालिफाई कर जाती हैं. आईपीएल के मौजूदा सीजन में ही यह स्थिति देखने को मिल रही है. अक्सर सेमीफाइनल या टॉप-4 के लिए जल्दी क्वालिफाई कर लेने वाली टीमें बचे हुए लीग मैचों में अपने स्टार खिलाड़ियों को आराम दे देती हैं या कई बार वह जानबूझकर मैच हार जाती हैं ताकि उन्हें सेमीफाइनल में मनचाही टीम मिल सके. ऐसी स्थिति रोकने के लिए ही क्वालिफायर-एलिमिनेटर फॉर्मेट काम आता है. इससे टीमें टॉप-4 नहीं, टॉप-2 में जाने की कोशिश करती हैं और आखिर तक अहम दिलचस्प बने रहते हैं.

Tags: Gujarat Titans, IPL, IPL 2022, IPL Play-offs, Lucknow Super Giants

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर