IPL 2021: आईपीएल हमारे खिलाड़ियों को सिर्फ पैसे देती है, वर्ल्ड कप का खिताब नहीं

टीम इंडिया ने सिर्फ एक बार 2007 में टी20 वर्ल्ड कप का खिताब जीता है.

आईपीएल 2021 के लिए गुरुवार को ऑक्शन होने जा रहा है. एक बार फिर कई देशी और विदेशी खिलाड़ियों को करोड़ों रुपए मिलेंगे. यह लीग हमारे खिलाड़ियों को पैसे दे रही है, वर्ल्ड कप का खिताब नहीं. 2008 में लीग शुरू हुई तब से हम टी20 वर्ल्ड कप का खिताब नहीं जीत सके हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. आईपीएल 2021 के लिए आज यानी गुरुवार को दोपहर तीन बजे से नीलामी होने जा रही है. नीलामी (IPL 2021 Auction) के लिए 292 खिलाड़ियों को शॉर्ट लिस्ट किया गया है. इनमें से सिर्फ 61 खिलाड़ियों को चुना जाना है. 41 देशी और 20 विदेशी खिलाड़ियों को नीलामी में खरीदा जा सकेगा. कप्तान विराट कोहली की कप्तान वाली रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू की टीम सबसे ज्यादा 11 खिलाड़ी खरीद सकती है. 2008 आईपीएल टी20 लीग की शुरुआत हुई तब से कई भारतीय क्रिकेटर इससे 100 से अधिक करोड़ रुपए कमा चुके हैं. यानी उन्हें खूब पैसा मिल रहा है. लेकिन टीम इंडिया (Team India) टी20 का वर्ल्ड टाइटल तब से नहीं जीत सकी है. ऐसा क्यों है, आइए इसका कारण जानते हैं.

आईपीएल का आयोजन हमारे देश का क्रिकेट बोर्ड यानी बीसीसीआई करता है. बोर्ड ने साफ नियम बनाया है कि जब तक कोई खिलाड़ी घरेलू और इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास नहीं ले लेता है वह विदेशी लीग में नहीं खेल सकता है. यानी भले ही विराट कोहली, महेंद्र सिंह धाेनी, रोहित शर्मा आईपीएल के सबसे सफल खिलाड़ी हों लेकिन वे ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड सहित अन्य विदेशी टी20 लीग में नहीं खेल सकते हैं. अन्य क्रिकेट बोर्ड बाकायदा अपने खिलाड़ियों को दुनिया भर की टी20 में खेलने की एनओसी देते हैं. इससे उनके खिलाड़ी पैसा भी कमाते हैं. हालांकि पाकिस्तान के खिलाड़ी आईपीएल में नहीं खेल पाते हैं. भारतीय विदेश मंत्रालय इसकी इजाजत नहीं देता है. दोनों देश सालों से द्विपक्षीय सीरीज भी नहीं खेल रहे हैं.



हमारे खिलाड़ी विदेशी पिच का अनुभव नहीं ले पाते
बड़ी टी20 लीग की बात की जाए तो भारत के अलावा ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, पाक और विंडीज में इसका आयोजन हो रहा है. यानी क्रिकेट के पांच बड़े देशों में. हमारे खिलाड़ी भारत के अलावा कहीं अन्य लीग में नहीं खेलते हैं. ऐसे में उन्हें उस देश की पिच के बारे में जानकारी नहीं मिल पाती. यानी वे वहां के बारे में अधिक नहीं जान पाते हैं जबकि विंडीज के खिलाड़ी ही दुनिया की सभी टी20 लीग में सबसे ज्यादा खेलते हैं. बोर्ड को चुनिंदा खिलाड़ियों को विदेशों में खेलने की अनुमति देनी चाहिए, ताकि वे इसका फायदा उठा सकें.

आईपीएल के बाद सबसे ज्यादा दो खिताब विंडीज ने जीते
विंडीज के खिलाड़ी दुनिया भर की टी20 लीग में खेलते हैं. ऐसे में उनके देश को इसका फायदा भी दिख रहा है. आईपीएल शुरू होने के बाद अब तक 5 टी20 वर्ल्ड कप के टूर्नामेंट हो चुके हैं. विंडीज सबसे ज्यादा दो बार 2012 और 2016 में खिताब जीतने में सफल रहा. 2009 में पाकिस्तान, 2010 में इंग्लैंड और 2014 में श्रीलंका चैंपियन बना. टीम इंडिया आईपीएल के पहले 2007 में टी20 वर्ल्ड कप के पहले सीजन का खिताब जीतने में सफल रही थी. यानी आईपीएल के बाद हमें अब तक टी20 वर्ल्ड का खिताब नहीं मिला है. इस साल अक्टूबर-नवंबर में हमारे ही देश में टी20 वर्ल्ड कप का आयोजन होना है. इस बार भी टीम इंडिया को टूर्नामेंट का प्रबल दावेदार नहीं माना जा रहा है.

चार 4 खिलाड़ी आईपीएल से 100 करोड़ कमा चुके हैं
आईपीएल सैलरी से ही अब तक चार भारतीय खिलाड़ी 100 करोड़ रुपए से अधिक की कमाई कर चुके हैं. चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी इस मामले में नंबर-1 पर हैं. वे सैलरी से सबसे ज्यादा कमाने वाले खिलाड़ी हैं. उन्हें अब तक लगभग 153 करोड़ रुपए मिल चुके हैं. रोहित शर्मा 147 करोड़ के साथ दूसरे, विराट कोहली 143 करोड़ के साथ तीसरे और सुरेश रैना 111 करोड़ के साथ चौथे नंबर पर हैं. विदेशी खिलाड़ियों की बात की जाए तो दक्षिण अफ्रीका के एबी डिविलियर्स टॉप पर हैं. वे अब तक 102 करोड़ रुपए की कमाई कर चुके हैं. विंडीज के सुनील नरेन 95 करोड़ के साथ दूसरे और ऑस्ट्रेलिया के शेन वाटसन 77 करोड़ के साथ तीसरे पर हैं.

ज्यादा मैच खेलने वाले टॉप-5 खिलाड़ियों में विंडीज के 3 खिलाड़ी
ओवरऑल टी20 के सबसे ज्यादा मुकाबले खेलने वाले खिलाड़ियों की बात करें तो इसमें विंडीज के खिलाड़ियों का दबदबा है. टॉप-5 में विंडीज के ही तीन खिलाड़ी हैं. विंडीज के किरोन पोलार्ड सबसे ज्यादा टी20 मैच खेलने वाले खिलाड़ी हैं. वे अब तक 531 मैच खेल चुके हैं. 10,578 रन बनाए हैं और 293 विकेट भी लिए हैं. अन्य कोई खिलाड़ी 500 मैच नहीं खेल सका है. विंडीज के ड्वेन ब्रावो 471 मैच के साथ दूसरे पर हैं. उन्होंने 6,331 रन और 512 विकेट लिए हैं. वे 500 से अधिक विकेट लेने वाले एकमात्र गेंदबाज हैं. पाकिस्तान के शोएब मलिक 412 मैच के साथ तीसरे, विंडीज के क्रिस गेल 411 मैच के साथ चौथे और इंग्लैंड के रवि बोपारा, न्यूजीलैंड के ब्रेंडन मैक्कुलम 370-370 मैच के साथ संयुक्त रूप से पांचवें नंबर पर हैं.

हमारा कोई खिलाड़ी 350 मैच भी नहीं खेल सका है
भारतीय खिलाड़ियों के टी20 अनुभव की बात की जाए तो हम पीछे दिख रहे हैं. हमारा कोई खिलाड़ी अब तक 350 मैच भी नहीं खेल सका है. मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा सबसे ज्यादा 340 मैच खेलने वाले भारतीय खिलाड़ी हैं. महेंद्र सिंह धोनी 331 मैच के साथ दूसरे, सुरेश रैना 324 मैच के साथ तीसरे, दिनेश कार्तिक 310 मैच के साथ चौथे और विराट कोहली 299 मैच के साथ पांचवें नंबर पर हैं.

यह भी पढ़ें: क्रिकेट के मैदान पर बड़ा हादसा, पिच पर खिलाड़ी को आया हार्ट अटैक, दर्दनाक मौत

यह भी पढ़ें: IND vs SA: भारतीय महिला टीम के अच्छे दिन लौटे, एक साल बाद खेलेगी मुकाबला

सबसे ज्यादा रन और विकेट के टॉप-5 में भी हमारे खिलाड़ी नहीं
टी20 में सबसे ज्यादा रन और विकेट लेने वाले टॉप-5 खिलाड़ियों में हमारा कोई खिलाड़ी नहीं हैं. यहां भी विंडीज के खिलाड़ियों का बोलबाला है. रन की बात की जाए तो विंडीज के क्रिस गेल 13,584 रन के साथ दुनिया के नंबर-1 बल्लेबाज हैं. वे 22 शतक भी लगा चुके हैं. विंडीज के किरोन पाेलार्ड 10,578 रन के साथ दूसरे, पाक के शोएब मलिक 10,387 रन के साथ तीसरे, न्यूजीलैंड के ब्रेंडन मैक्कुलम 9,922 रन के साथ चौथे और ऑस्ट्रेलिया के डेविड वॉर्नर 9,824 रन के साथ पांचवें नंबर पर हैं. भारत की ओर से सबसे ज्यादा रन विराट कोहली के नाम है. उन्होंने 9,500 रन बनाए हैं. विकेट लेने की बात की जाए तो विंडीज के ड्वेन ब्रावो 512 विकेट के साथ टाॅप पर हैं. श्रीलंका के लसिथ मलिंगा 390 विकेट के साथ दूसरे, विंडीज के सुनील नरेन 390 विकेट साथ तीसरे, दक्षिण अफ्रीका के इमरान ताहिर 382 विकेट के साथ चौथे और पाकिस्तान के सोहेल तनवीर 368 विकेट के साथ पांचवें नंबर पर हैं. वहीं भारत की ओर से सबसे ज्यादा 262 विकेट पीयूष चावला ने लिए हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.