• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • CAB सचिव की BCCI अध्यक्ष गांगुली को चिठ्ठी- अगर बीसीए के उल्लंघन पर आंखें मूंदेंगे, तो कोर्ट जाऊंगा

CAB सचिव की BCCI अध्यक्ष गांगुली को चिठ्ठी- अगर बीसीए के उल्लंघन पर आंखें मूंदेंगे, तो कोर्ट जाऊंगा

आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग (IPL Spot Fixing) के याचिकाकर्ता आदित्य वर्मा ने बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली पर बिहार क्रिकेट एसोसिएशन द्वारा किए जा रहे उल्लंघन की अनदेखी करने का आरोप लगाया है. (Sourav Ganguly Instagram)

आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग (IPL Spot Fixing) के याचिकाकर्ता आदित्य वर्मा ने बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली पर बिहार क्रिकेट एसोसिएशन द्वारा किए जा रहे उल्लंघन की अनदेखी करने का आरोप लगाया है. (Sourav Ganguly Instagram)

आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग (IPL Spot Fixing) के याचिकाकर्ता आदित्य वर्मा (Aditya Verma) ने बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) को चिठ्ठी लिखकर उनसे बिहार क्रिकेट एसोसिएशन (BCA) द्वारा लगातार किए जा रहे उल्लंघनों पर गौर करने को कहा है. उन्होंने बोर्ड अध्यक्ष गांगुली को चेताया है कि अगर वो ऐसा नहीं करते हैं, तो उन्हें मजबूरी में कोर्ट का दरवाजा खटखटाना पड़ेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्ली. आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग (IPL Spot Fixing) के याचिकाकर्ता और क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ बिहार (Cricket Asocciation of Bihar) के सचिव आदित्य वर्मा (Aditya Verma) ने बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) को चिठ्ठी लिखकर उनसे बिहार क्रिकेट एसोसिएशन (BCA) द्वारा किए जा रहे उल्लंघनों पर गौर करने को कहा है. उन्होंने बोर्ड अध्यक्ष गांगुली को चेताया है कि अगर वो ऐसा नहीं करते हैं, तो उन्हें मजबूरी में कोर्ट का दरवाजा खटखटाना पड़ेगा.

    वर्मा ने अपनी चिठ्ठी में, जो न्यूज एजेंसी एएनआई के पास है. उसमें पूर्व भारतीय कप्तान गांगुली की ओर इशारा किया है अगर वो ऐसे ही सुप्रीम कोर्ट के आदेशों और बिहार क्रिकेट एसोसिएशन द्वारा किए जा रहे उल्लंघनों पर आंखें मूंदे रखते हैं, तो वो भी सुप्रीम कोर्ट की अवमानना के दायरे में आएंगे.

    उन्होंने बोर्ड अध्यक्ष को लिखी चिठ्ठी में कहा है कि मैंने आपसे बार-बार अनुरोध किया है कि आप नियमों का उल्लंघन करने वाले बीसीए के पदाधिकारियों पर कार्रवाई करें और सुप्रीम कोर्ट के आदेशों का उल्लंघन ना करें, लेकिन आज तक, आपकी ओर से कोई एक्शन नहीं लिया गया. अगर इस चिठ्ठी के बाद भी आप बिहार क्रिकेट एसोसिएशन द्वारा किए जा रहे नियमों के उल्लंघन पर आंखें मूंदने का फैसला करते हैं, तो मेरे पास बिहार के क्रिकेट और खिलाड़ियों के न्याय के लिए कोर्ट जाने के लिए अलावा कोई विकल्प नहीं बचेगा.

    गांगुली कर रहे कोर्ट की अवमानना : आदित्य वर्मा
    सीएबी के सचिव ने आगे लिखा कि अध्यक्ष महोदय, आप अपने समय के एक महान क्रिकेटर रहे हैं, लेकिन आज आप बीसीसीआई अध्यक्ष के प्रतिष्ठित पद पर हैं. साथ ही आपके पास बिहार क्रिकेट से जुड़े मुद्दों को देखने की भी अतिरिक्त जिम्मेदारी है. ऐसे में अगर आप सुप्रीम कोर्ट के आदेशों को नजरअंदाज कर देंगे, तो यह कहीं न कहीं कोर्ट की अवमानना होगी.

    IPL 2021: MI पर भारी पड़ गई कप्तान पोलार्ड की एक गलती, पीटरसन-इरफान पठान ने इसे बताया बड़ी चूक

    ‘गांगुली बिहार क्रिकेट पर ध्यान नहीं दे रहे’
    सीएबी के पदाधिकारी आदित्य वर्मा ने इस बात पर भी निराशा जताई कि बिहार क्रिकेट के प्रभारी होने के बावजूद, गांगुली बार-बार उन मुद्दों पर ध्यान देने में नाकाम रहे हैं, जिसकी सचिव होने के नाते उन्होंने बीसीसीआई अध्यक्ष को जानकारी दी. उन्होंने अपनी चिठ्ठी में इस बात का जिक्र करते हुए लिखा कि मैं आपके ध्यान में लाना चाहता हूं कि आपको बिहार क्रिकेट का प्रभारी बनाया गया है. लेकिन आज तक, मुझे भारत के सर्वोच्च न्यायालय के निर्देशों के अनुसार बीसीसीआई को पेश किए गए अभ्यावेदन के जवाब में बीसीसीआई या गांगुली से कोई जानकारी नहीं मिली. जो सर्वोच्च न्यायालय के आदेशों का सीधे-सीधे उल्लंघन है.

    बीसीए की खींचतान खत्म नहीं हो रही
    उन्होंने अपनी चिठ्ठी में बीसीसीआई अध्यक्ष से कहा है कि बिहार क्रिकेट एसोसिएशन में आतंरिक विवाद लंबे वक्त से जारी है और मैं कई बार इस विषय को आपके ध्यान में लाया हूं. अध्यक्ष राकेश तिवारी ने बीसीए सचिव संजय कुमार को हटाने के बाद संयुक्त सचिव कुमार अरविंद को भी पद से हटा दिया. ऐसे में बीसीए के जिला सदस्यों ने क्रिकेट गतिविधि चलाने के लिए अलग-अलग समूह का गठन किया है और वो अलग-अलग बैठकें भी कर रहे हैं. वो अपनी टीम चुन रहे हैं. ऐसे में खिलाड़ियों का भविष्य अधर में लटक गया है.

    IPL 2021: ऑरेंज और पर्पल कैप की रेस में CSK के रुतराज गायकवाड़ और दीपक चाहर टॉप 5 में शामिल

    उन्होंने इस बात पर भी सवाल उठाए कि बीसीसीआई के मना करने के बावजूद बीसीए ने कैसे बिहार क्रिकेट लीग (Bihar Cricket League) का आयोजन कर लिया. उनके खिलाफ क्यों नहीं कार्रवाई हुई?.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज