खेल

IPL 2020: धोनी ने फंसा दिया शाहरुख खान की टीम को, अब प्लेऑफ में कैसे पहुंचेगी कोलकाता नाइट राइडर्स?

मुश्किल में केकेआर
मुश्किल में केकेआर

IPL Playoff: धोनी की टीम ने केकेआर की प्लेऑफ में पहुंचने की उम्मीदों को बड़ा झटका दे दिया है. ऐसे में सवाल उठता है कि क्या केकेआर की टीम अब भी प्लेऑफ में पहुंच सकती है?

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 30, 2020, 8:22 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. चेन्नई सुपर किंग्स (Chennai Super King) ने गुरुवार को कोलकाता नाइट राइडर्स (kolkata knight riders) को 6 विकेट से हरा दिया. चेन्नई की इस जीत से सीधा फायदा मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) को हुआ. मुंबई की टीम प्लऑफ (Playoff) में पहुंच गई है. जबकि केकेआर के लिए मुश्किलें खड़ी हो गई है. ऐसा लग रहा है कि आईपीएल के मौजूदा सीज़न से पहले ही बाहर हो चुकी चेन्नई की टीम अब दूसरों का खेल खराब कर रही है. पिछले मैच में विराट कोहली की टीम को हराने के बाद धोनी ने शाहरुख खान की टीम को भी धो डाला. इस जीत के साथ ही धोनी की टीम ने केकेआर की प्लेऑफ में पहुंचने की उम्मीदों को बड़ा झटका दे दिया है. ऐसे में सवाल उठता है कि क्या केकेआर की टीम अब भी प्लेऑफ में पहुंच सकती है?

प्वाइंट टेबल में KKR
प्वाइंट्स टेबल पर कोलकाता की टीम फिलहाल पांचवें नंबर पर है. केकेआर के 13 मैचों से 12 अंक हैं. कोलकाता को 6 मैचों में  जीत और 7 मैचों में हार का समाना करना पड़ा है. केकेआर के लिए परेशानी की बात ये है कि उनका नेट रनरेट बेहद खराब है. केकेआर का नेट रनरेट (-0.467) है.





अब क्या कहता है समीकरण?
चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ हार का मतलब है कि अब केकेआर की टीम ज्यादा से ज्यादा 14 प्वाइंट्स तक पहुंच सकती है. ऐसे में उनके लिए प्लेऑफ का सफर आसान नहीं होगा. नेट रनरेट से प्लेऑफ का फैसला न हो इसके लिए केकेआर को दूसरी टीमों की जीत और हार के लिए दुआ करनी होगा.
>>केकेआर की टीम को प्लेऑफ में पहुंचने के लिए दुआ करनी होगी कि किंग्स इलेवन पंजाब अपने बाक़ी बचे दोनों मैच हार जाए
>>राजस्थान रॉयल्स और सनराइजर्स हैदराबाद को एक से ज्यादा मैचों में जीत न मिले
>>ऐसे में 14 अंकों के साथ भी केकेआर चौथे नंबर पर रह सकती है और उन्हें प्लेऑफ में मौका मिल जाएगा.
>> नेट रनरेट के मामले में केकेआर के नीचे सिर्फ राजस्थान रॉयल्स ( -0.505) है. लेकिन बाकी बचे दो मैच जीत कर वो अपना नेट रनरेट बेहतर कर सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज