कोरोना की वजह से जेम्स एंडरसन की 'ताकत' खत्म, आशीष नेहरा और इरफान पठान ने कह दी बड़ी बात

कोरोना की वजह से जेम्स एंडरसन की 'ताकत' खत्म, आशीष नेहरा और इरफान पठान ने कह दी बड़ी बात
आशीष नेहरा और इरफान पठान ने कहा- स्विंग के बिना एंडरसन की ताकत आधी हो गई

इरफान पठान (Irfab Pathan) और आशीष नेहरा (Ashish Nehra) ने कहा है कि गेंद पर लार का इस्तेमाल नहीं होने से जेम्स एंडरसन जैसे दूसरे गेंदबाजों की शामत आने वाली है

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना काल में पहला टेस्ट मैच साउथैंप्टन में वेस्टइंडीज और इंग्लैंड (England vs West Indies) के बीच खेला गया. मैच वेस्टइंडीज की टीम ने जीता और इसकी सबसे बड़ी वजह रही, इंग्लैंड के सबसे कामयाब गेंदबाज जेम्स एंडरसन (James Anderson) की स्विंग ही गायब हो गई. कोरोना वायरस की वजह से गेंद पर लार नहीं लगाई जा सकती, जिसकी वजह से एंडरसन की गेंद स्विंग ही नहीं हुई. इस संबंध में टीम इंडिया के दो पूर्व तेज गेंदबाजों इरफान पठान और आशीष नेहरा ने अपनी राय फैंस के साथ साझा की है.

पठान बोले रिवर्स स्विंग भूल जाओ
भारत के पूर्व तेज गेंदबाज इरफान पठान (Irfan Pathan) का मानना है कि इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच जैविक रूप से सुरक्षित माहौल में खेले गए पहले टेस्ट को अगर सूचक मानें तो दुनिया भर के तेज गेंदबाजों को फिलहाल रिवर्स स्विंग तो भूल ही जानी चाहिये . भारत के एक और पूर्व गेंदबाज आशीष नेहरा का कहना है कि जिम्मी एंडरसन जिस तरह से शार्ट आफ लैंग्थ गेंदबाजी कर रहे थे, उससे लगता है कि लार के अभाव में सामान्य स्विंग भी नहीं मिल पा रही . कोरोना वायरस महामारी के कारण अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट नये तौर तरीकों के साथ बहाल हुआ जिसमें गेंद को चमकाने के लिये लार के इस्तेमाल पर रोक है .

नेहरा (Ashish Nehra) ने पीटीआई से कहा ,' एंडरसन कई बार शार्ट आफ लैंग्थ गेंद डाल रहे थे जबकि वह ऐसा कभी नहीं करते . ड्यूक गेंद स्विंग ही नहीं ले रही थी क्योंकि लार के बिना चमक नहीं थी . वह अपनी क्षमता का आधा भी प्रदर्शन नहीं कर पा रहे थे .' मार्क वुड और जोफ्रा आर्चर को पांचवें दिन गेंदबाजी करते देखने वाले पठान का मानना है कि कुछ समय के लिये गेंदबाजों को पुरानी गेंद से रिवर्स स्विंग के बारे में भूल जाना चाहिये . उन्होंने कहा ,' लार मोटी होती है और उससे रिवर्स स्विंग पर ज्यादा असर पड़ता है . कोरोना महामारी के रहने तक लार के इस्तेमाल पर रोक रहेगी और तेज गेंदबाजों की राह मुश्किल होने वाली है .'
भुवनेश्वर कुमार से पूछा गया सवाल- किस बल्लेबाज से डरते हो? जवाब देकर जीता दिल



सीम गेंदबाजी के लिए पिच बनानी जरूरी

इसके समाधान के बारे में पूछने पर पठान ने कहा ,'बाहरी पदार्थ के इस्तेमाल की अनुमति दें या भूल जायें कि रिवर्स स्विंग भी कुछ होती है .सीम गेंदबाजी के अनुकूल पिचें बनायें .' उन्होंने कहा ,' आप फिर सीम हिट करो, हरकत होती रहेगी या फिर मैच एकतरफा हो जायेंगे .' ऑस्ट्रेलिया में कूकाबूरा गेंद कैसे खेलेगी , इस बारे में पूर्व विकेटकीपर दीप दासगुप्ता ने कहा कि सभी टीमों के गेंदबाजों को दिक्कतें आयेंगी . उन्होंने कहा ,' ऑस्ट्रेलियाई पिचें सपाट हैं और कूकाबूरा सीम 20 ओवर बाद खत्म हो जायेगी . ऐसे में लार के बिना रिवर्स स्विंग भी नहीं मिलेगी . भारतीय गेंदबाजों को दोहरे दबाव से निपटने में काफी परेशानी आयेगी .'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज