होम /न्यूज /खेल /टी20 करियर खत्म करने के लिए धोनी को ठहराया दोषी, तो इरफान पठान ने दिया दिल छूने वाला जवाब

टी20 करियर खत्म करने के लिए धोनी को ठहराया दोषी, तो इरफान पठान ने दिया दिल छूने वाला जवाब

इरफान पठान ने अपने अंतर्राष्ट्रीय करियर में कुल 301 विकेट झटके.

इरफान पठान ने अपने अंतर्राष्ट्रीय करियर में कुल 301 विकेट झटके.

Irfan Pathan News: 29 टेस्ट, 120 एकदिवसीय और 24 टी20 मैचों का अनुभव रखने वाले इरफान पठान को 2012 के बाद भारतीय टीम में ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

नई दिल्ली. जब इरफान पठान भारतीय क्रिकेट परिदृश्य में उभरे, तो बल्लेबाजों को अपनी स्विंग से हैरान करने वाले बाएं हाथ के इस तेज गेंदबाज के कौशल ने हर किसी को प्रभावित किया. उन्होंने 2003 में सिर्फ 19 साल की उम्र में एडिलेड में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक टेस्ट मैच में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया और जल्द ही भारतीय क्रिकेट में एक स्टार बन गए. समय के साथ, पठान ने अपने बल्लेबाजी कौशल में भी सुधार किया और जल्द ही भारत के पूर्व कोच ग्रेग चैपल द्वारा उन्हें एक ऑलराउंडर के रूप में माना जाने लगा. हालांकि, 29 टेस्ट, 120 एकदिवसीय और 24 टी20 मैचों का अनुभव रखने वाले पठान को 2012 के बाद भारतीय टीम में नहीं लिया गया.

वर्तमान में लीजेंड्स लीग क्रिकेट में भीलवाड़ा किंग्स के लिए खेल रहे इरफान पठान को भारतीय क्रिकेट टीम में उनका सेलेक्शन नहीं करने को लेकर ट्विटर पर एक प्रशंसक ने अपनी राय जाहिर की. प्रशंसक ने हैशटैग लीजेंड्स लीग क्रिकेट के साथ ट्वीट किया, ‘जब भी मैं लीग टूर्नामेंटों में इरफान पठान को देखता हूं, मैं एमएस धोनी और उनके प्रबंधन को और भी अधिक शाप देता हूं… मुझे विश्वास नहीं हो रहा है, उन्होंने सिर्फ 29 साल की उम्र में अपना आखिरी अंतर्राष्ट्रीय टी20 मैच खेला था… नंबर 7 के लिए बिल्कुल सही खिलाड़ी, कोई भी उन्हें अपनी टीम में लेने के लिए तैयार हो जाता… लेकिन भारत ने जड्डू (रवींद्र जडेजा) को टीम में शामिल किया. यहां तक ​​कि स्टूअर्ट बिन्नी भी भारत के लिए खेले.’ हालांकि, पूर्व क्रिकेटर ने अपनी प्रतिक्रिया में उदारता दिखाई. उन्होंने जवाब में लिखा, ‘किसी को दोष मत दो. आपके प्यार के लिए धन्यवाद.’

News18 Hindi

इरफान ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर का अंत 29 टेस्ट, 120 एकदिवसीय और 24 टी20 के साथ किया, जहां उन्होंने कुल 301 विकेट (क्रमशः 100, 173 और 28 विकेट) लिए. वह आखिरी बार भारत के लिए 2012 में वर्ल्ड टी20 के दौरान मैदान में उतरे थे. उसके बाद के कुछ सालों तक, बड़ौदा का यह खिलाड़ी घरेलू क्रिकेट में अपनी नियमित मौजूदगी दर्ज कराता रहा, जहां वे जम्मू-कश्मीर के खिलाड़ियों के मेंटोर थे.

इरफान को पाकिस्तान के खिलाफ उनकी घातक गेंदबाजी के लिए याद किया जाता है. इसमें 2006 में कराची टेस्ट के पहले ओवर में उनकी हैट्रिक और 2007 के टी20 विश्व कप फाइनल में ‘मैन ऑफ द मैच’ का उनके करियर में खास स्थान है. इरफान पठान ने 4 जनवरी 2020 को अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास का ऐलान किया था.

Tags: Irfan pathan, Legends League Cricket, Ms dhoni, Team india

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें