IND vs AUS: टीम इंडिया का सवाल- अगर दर्शकों को आने की इजाजत है तो फिर खिलाड़ी क्यों रहें क्वारंटीन?

भारत और ऑस्‍ट्रेलिया के बीच सिडनी में तीसरा टेस्‍ट मैच खेला जाएगा  (साभार-एपी)

भारत और ऑस्‍ट्रेलिया के बीच सिडनी में तीसरा टेस्‍ट मैच खेला जाएगा (साभार-एपी)

भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) का कहना है कि वे इस बात के लिए तैयार नहीं हैं कि उन्हें किसी 'चिड़ियाघर के जानवर' की तरह ट्रीट किया जाए. वे तो एक होटल में क्वारंटीन रहें और सिडनी क्रिकेट ग्राउंड के स्टेडियम (SCG) में 20,000 दर्शक उन्हें खेलते देखें.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 4, 2021, 10:08 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) का कहना है कि वे इस बात के लिए तैयार नहीं हैं कि उन्हें किसी 'चिड़ियाघर के जानवर' की तरह ट्रीट किया जाए. वे तो एक होटल में क्वारंटीन रहें और सिडनी क्रिकेट ग्राउंड के स्टेडियम (SCG) में 20,000 दर्शक उन्हें खेलते देखें. पूरी भारतीय क्रिकेट टीम का रविवार को कोविड-19 का टेस्ट हुआ. वे उसके परिणाम की प्रतीक्षा कर रहे हैं ताकि सोमवार को मेलबर्न से सिडनी क्रिकेट ग्राउंड के लिए रवाना हो सकें. टीम के अंदरुनी सूत्रों का कहना है कि यदि हर व्यक्ति नेगेटिव हुआ तो कोई कारण नहीं है कि पूरी भारतीय टीम को बचे हुए दौरे के लिए क्वारांटीन किया जाए. मेहमान टीम चाहती है कि उनके साथ सामान्य ऑस्ट्रेलियंस की तरह व्यवहार किया जाए.

सूत्रों ने क्रिकबज से कहा, ''यह विरोधाभास है. यदि आप दर्शकों को मैदान पर आने दे रहे हैं और हमें वापस होटल जाकर क्वारांटीन किया जा रहा है. यह सब उस स्थिति में होगा, जब हम सब कोरोना टेस्ट में नेगेटिव आ चुके हैं. हम नहीं चाहते कि हमारे साथ चिड़ियघर के जानवरों की तरह व्यवहार किया जाए.'' सूत्र ने आगे कहा, ''हमने शुरू से कहा है कि हम उन्हीं नियमों का पालन करेंगे, जिनका ऑस्ट्रेलिया का नागरिक कर रहा है. लिहाजा यदि भीड़ को मैदान के अंदर आने की इजाजत मिलती है, तो हमें क्वारांटीन करने का कोई मतलब नहीं है.''

विराट कोहली ने ऑस्ट्रेलियन डेली की इस खास लिस्ट में हासिल किया दूसरा स्थान

टीम सूत्रों के अनुसार, क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की मेडिकल टीम ने ब्रिसबेन में पिछले सप्ताह उन्हें सूचित किया था कि हम फ्लोर से बाहर नहीं जा सकते. भारतीय टीम ने इसे उसी समय अस्वीकार कर दिया था. रविवार को ऑस्ट्रेलिया में इस तरह की रिपोर्ट्स थीं, जिनमें क्वींसलैंड के चीफ हेल्थ ऑफिसर डॉ. जीन्नेटे के हवाले से कहा गया था कि टीम को ब्रिसबेन में होटल तक ही सीमित नहीं रखा जा सकता. होटल में ही वे बबल में रहेंगे, लेकिन एक-दूसरे से मिल सकेंगें.
सूत्रों ने कहा, ''हम होटल में क्वारांटीन के पक्ष में नहीं हैं. हम यह भी नहीं चाहते कि हमें दौरे के इस चरण में अंदर रहने के लिए कहा जाए. हम सारे सरकारी नियमों का पालन करेंगे. बाहर जाते हुए मास्क लगाएंगे, रेड जोन्स और हॉट जोन्स में जाने से बचेंगे.'' क्रिकबज ने दो दिन पहले ही टीम इंडिया की चौथे टेस्ट के लिए ब्रिसबेन जाने की अनिच्छा का जिक्र किया था. खासकर यदि उनके साथ लॉकडाउन में सख्ती बरती गई. होटल में उनके मूवमेंट पर प्रतिबंध लगाया गया तो.

IND vs AUS: सिडनी रवाना होने से पहले टीम इंडिया का हुआ कोरोना टेस्‍ट, जानिए रिपोर्ट

अंदरुनी सूत्र का कहना है, ''खिलाड़ियों को बारिश होने की वजह से अंदर ही रहना पड़ा. हमारे खिलाड़ियों ने इस दौरे पर बहुत त्याग किए हैं. मोहम्मद सिराज अपने पिता के निधन पर नहीं जा पाए. हमारे कुछ खिलाड़ी महीनों से बबल्स में हैं. यह किसी के लिए आसान नहीं होता.''
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज