लाइव टीवी

एमएस धोनी ने दिया फिनिशर बनने का मंत्र, बताया-15 गेंद बची हो तो क्या करना चाहिए

News18Hindi
Updated: November 20, 2019, 2:41 PM IST
एमएस धोनी ने दिया फिनिशर बनने का मंत्र, बताया-15 गेंद बची हो तो क्या करना चाहिए
माना जा रहा है कि महेंद्र सिंह धोनी वेस्टइंडीज के खिलाफ टी—20 और वनडे सीरीज में खेल सकते हैं. (FILE PHOTO)

भारतीय टीम (Indian Cricket Team) के पूर्व कप्तान (Former Captain) महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) ने चार महीने से अंतरराष्ट्रीय​ क्रिकेट (International Cricket) नहीं खेला है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 20, 2019, 2:41 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) को दु​निया का सर्वश्रेष्ठ फिनिशर (Finisher) माना जाता है. बेशक एमएस धोनी ने करीब चार महीने से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट (International Finisher) से दूरी बना रखी है. मगर अब उनके जल्द ही मैदान पर उतरने की संभावना जताई जा रही है. धोनी की गैरमौजूदगी में ऋषभ पंत (Rishabh Pant) को विकेटकीपिंग की जिम्मेदारी दी गई. हालांकि अब भी पंत अपेक्षाओं के मुताबिक प्रदर्शन करने में नाकाम रहे हैं. ऐसे में महेंद्र सिंह धोनी ने दुनियाभर के क्रिकेटरों को मैच फिनिश करने का गुरुमंत्र दिया है.

38 साल के विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) को भारतीय क्रिकेट (Indian Cricket) इतिहास के सबसे सफल कप्तानों में शुमार किया जाता है. उन्होंने अपने करियर के अधिकतर मैचों में 5वें या छठे नंबर पर बल्लेबाजी की है. इनमें से अधिकतर मुकाबलों में महेंद्र सिंह धोनी मुश्किल लक्ष्य का पीछा करते हुए टीम को जीत दिलाकर नाबाद पवेलियन लौटे हैं. धोनी की इसी काबिलियत के मुरीद दुनियाभर के क्रिकेटर हैं. जब भी टीम मुश्किल में फंसी नजर आती है, धोनी एक छोर से टीम की नैया अकेले दम पर पार लगा देते हैं.

cricket news, sports news, ms dhoni, mahendra singh dhoni, indian cricket team, team india, bcci, dhoni records, क्रिकेट, क्रिकेट न्यूज, महेंद्र सिंह धोनी, एमएस धोनी, भारतीय क्रिकेट टीम, बीसीसीआई, टीम इंडिया, धोनी रिकॉर्ड,
टीम इंडिया के दिग्गज विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी 2020 टी—20 विश्व कप के बाद संन्यास ले सकते हैं. (FILE PHOTO)


क्रीज पर जमने के लिए अधिक वक्त नहीं मिलता

हरियाणा में एक कार्यक्रम में पहुंचे महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) ने मैच फिनिश करने का गुरुमंत्र दिया. उन्होंने कहा, 'इस तरह के मौके पर प्रैक्टिकल एप्रोच के अलावा बेसिक्स पर ध्यान देने की जरूरत होती है. जब आप छठे नंबर पर बल्लेबाजी कर रहे होते हैं तो आपका लक्ष्य साफ होता है. तब बल्लेबाज को क्रीज पर जमने के लिए अधिक वक्त नहीं मिलता. बल्लेबाज के पास आमतौर पर 15 से 20 गेंदें होती हैं और उसे इनका अधिक से अधिक फायदा उठाना होता है. ऐसे में प्रैक्टिकल एप्रोच अपनाना बेहद जरूरी है. मान लीजिए अगर मैं छठे नंबर पर बल्लेबाजी कर रहा हूं और 15 गेंदें खेलता हूं तो मुझे पता है कि अगर मैं 25—30 रन बना दूंगा तो ये बेहतरीन प्रदर्शन माना जाएगा. लेकिन वास्तव में इसका दूसरा पहलू भी है. आप स्कोर करने के लिए बड़े शॉट का जोखिम उठाते हैं और ऐसे में आउट भी हो सकते हैं. इसलिए आपको प्रैक्टिकल एप्रोच अपनाते हुए यह तय करना चाहिए कि आपका लक्ष्य क्या है.'

विकेट न फेंकने की दी सलाह
महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) ने साथ ही कहा कि बड़े शॉट खेलने के लिए बल्लेबाज को अपना विकेट तोहफे में नहीं देना चाहिए. हर किसी के मन में अपना लक्ष्य चल रहा होता है. ऐसे में आपका ध्यान प्रोसेस ठीक करने पर होना चाहिए क्योंकि यही चीज आपके हाथ में होती है. प्रोसेस सही होगा तो सफलता जरूर मिलेगी. उन्होंने कहा, 'मैं पहले भी कह चुका हूं कि आपको उन्हीं चीजों पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए जो आपके हाथ में है. सफल होने के लिए प्रक्रिया सही होना बेहद जरूरी है.'
Loading...

इंडिया-बांग्लादेश के ऐतिहासिक मुकाबले से पहले जानिए डे-नाइट टेस्ट का दिलचस्प इतिहास

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 20, 2019, 2:41 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...