Home /News /sports /

जसप्रीत बुमराह बने भारत के 290वें टेस्ट क्रिकेटर

जसप्रीत बुमराह बने भारत के 290वें टेस्ट क्रिकेटर

जसप्रीत बुमराह

जसप्रीत बुमराह

    साउथ अफ्रीका के खिलाफ केपटाउन टेस्ट में टीम इंडिया तीन शुद्व तेज़ गेंदबाज़ों के साथ ​उतरी है जिसमें मोहम्मद शमी और भुवनेश्वर कुमार के अलावा जसप्रीत बुमराह शामिल हैं. यह 24 वर्षीय बुमराह का डेब्यू टेस्ट और वह टीम इंडिया के लिए टेस्ट कैप हासिल करने वाले 290वें खिलाड़ी बन गए हैं. इससे पहले हार्दिक पंड्या को टेस्ट कैप हासिल हुई थी. जबकि पूर्व तेज़ गेंदबाज़ अमर सिंह टीम इंडिया के लिए टेस्ट कैप हासिल करने वाले पहले खिलाड़ी थे.

    आईपीएल और घरेलू क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन को देखते हुए दाएं हाथ के तेज़ गेंदबाज़ जसप्रीत बुमराह को 2016 की शुरूआत में ही वनडे टीम में चुना गया था जो कि आॅस्ट्रेलिया दौरे पर गई थी, लेकिन कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने इस युवा को वनडे से पहले टी20 क्रिकेट में उतारकर सबको चौंका दिया था.आईपीएल में अपने दमदार प्रदर्शन से सुर्खियों में आने वाले इस युवा ने भी अपने कप्तान को निराश नहीं किया और 3.3 ओवर में 23 रन देकर आॅस्ट्रेलिया के तीन विकेट निकालकर अपनी क्षमता दिखा दी. बुमराह का पहला इंटरनेशनल शिकार बने थे आॅस्ट्रेलिया के धाकड़ बल्लेबाज़ डेविड वॉर्नर. इसके अलावा उन्होंने जेम्स फॉकनर को बोल्ड तो कैमरन बोएस को हार्दिक पंड्या के हाथों कैच कराया था.

    आॅस्ट्रेलिया के खिलाफ तीन मैचों की सीरीज़ में उन्होंने 17.16 के औसत से छह विकेट नाम किए जो कि डेब्यू सीरीज़ के हिसाब से अच्छा प्रदर्शन था. वहीं उन्होंने अपने डेब्यू वनडे मैच में 40 रन पर दो विकेट लेकर अच्छा आगाज किया. इसके बाद इस युवा तेज़ गेंदबाज़ का सीमित ओवर क्रिकेट में दुनियाभर के बल्लेबाज़ों ने जबरदस्त खौफ देखा. अपनी यॉर्कर और डेथ ओवर में शानदार गेंदबाज़ी के कारण ये युवा देखते ही देखते हर किसी की निगाहों में चढ़ गया और एक दर्जन मैचों के बाद ही उन्हें टेस्ट क्रिकेट में मौका देने की आवाज आहिस्ता आहिस्ता उठने लगी.

    मुश्किल थी टेस्ट कैप की राह
    पिछले काफी समय से टीम इंडिया ने टेस्ट क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन किया है जिसमें उमेश यादव, भुवनेश्वर कुमार, मोहम्मद शमी और ईशांत शर्मा ने अहम भूमिका निभाई है. इसलिए बुमराह को टेस्ट टीम में शामिल करना एक ​मुश्किल चुनौती थी. क्योंकि जब कभी शमी तो कभी भुवी या फिर कभी ईशांत को बेंच पर बैठकर अपनी बारी का इंतजार करन पढ़ रहा है तब किसी नये गेंदबाज़ को मौका मिलने की बात बेमानी हो जाती है.

    हालांकि मजबूत जीविटता वाले बुमराह ने हार नहीं मानी और सीमित ओवर क्रिकेट में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए ना सिर्फ अपने कोच व कप्तान बल्कि भारतीय चयनकर्ताओं का भरोसा जीतने का काम बखूबी जारी रखा. जब कभी मीडिया ने उनसे टेस्ट टीम में शामिल ना होने को लेकर सवाल किया तो उन्होंने सीधे शब्दों में कहा कि मेरा काम अच्छा प्रदर्शन करना है और मैं इससे बहुत खुश हूं.

    आखिरकार 5 जनवरी 2018 उनके लिए वो लम्हा लेकर आया जब उन्हें टेस्ट कैप हासिल करने का मौका मिल ही गया.



    बहरहाल, इस युवा तेज़ गेंदबाज़ ने टीम इंडिया के लिए अब तक 31 वनडे मैचों में 22.73 के औसत से 56 विकेट तो 32 टी20 इंटरनेशनल मैचों में 19.17 के औसत से 40 विकेट अपने नाम किए हैं. घरेलू क्रिकेट के अलावा आईपीएल में उनकी कामयाबी से तो हर कोई वाकिफ है ही.जबकि 4 जनवरी को ही मुंबई इंडियंस ने बुमराह को सात करोड़ की कीमत पर रिटेन किया है.

    ये बुमराह के पहले शिकार
    जसप्रीत बुमराह ने अपने पहले टेस्ट में पहले शिकार के रूप में एबी डिविलियर्स का विकेट लिया है. जबकि उनका पहला आईपीएल का विकेट विराट कोहली का था. वनडे क्रिकेट में स्टीवन स्मिथ तो इंटरनेशनल टी20 में उनका पहला शिकार डेविड वॉर्नर बने थे.

    ये भी पढ़ें:

    IPL 2018: ये खिलाड़ी हुए रिटेन, धोनी चेन्नई में लौटे, KKR ने गंभीर को छोड़ा

    Tags: Bhuvneshwar kumar, Jasprit Bumrah, Mohammed Shami

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर