अब जसप्रीत बुमराह की गेंद की भी होगी जमकर 'धुनाई', भारतीय गेंदबाज ने कहा- कुछ तो करो

अब जसप्रीत बुमराह की गेंद की भी होगी जमकर 'धुनाई', भारतीय गेंदबाज ने कहा- कुछ तो करो
जसप्रीत बुमराह ने बताया कौन है यॉर्कर किंग

जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) ने कहा गेंद पर लार का इस्तेमाल नहीं हुआ तो गेंदबाजों का क्या होगा

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस की वजह से दूसरे खिलाड़ियों की तरह काफी समय से मैदान से दूर रहने वाले जसप्रीत बुमराह  (Jasprit Bumrah) ने कहा है कि उन्होंने कई दिनों से गेंदबाजी प्रैक्टिस नहीं की है. बुमराह ने कहा कि वो नहीं जानते कि तीन महीने बाद गेंदबाजी करने के बाद उनका शरीर कैसी प्रतिक्रिया देगा. इसके अलावा जसप्रीत बुमराह ने लार के विकल्प की भी मांग की. बुमराह के मुताबिक अगर लार पर बैन लगा तो गेंदबाज के लिए कुछ नहीं रह जाएगा.

बुमराह ने नहीं की गेंदबाजी प्रैक्टिस
जसप्रीत बुमराह  (Jasprit Bumrah) ने आईसीसी की वीडियो सीरीज इनसाइड आउट पर इयान बिशप और शॉन पॉलक से बातचीत करते हुए कहा ,'मुझे नहीं पता कि दो तीन महीने बाद गेंदबाजी करने पर शरीर कैसी प्रतिक्रिया देगा. मैं शरीर का पूरा ख्याल रख रहा हूं ताकि फिट रहूं. मैं सप्ताह में छह दिन अभ्यास करता हूं लेकिन लंबे समय से गेंदबाजी नहीं की.'

लार का विकल्प जरूरी
जसप्रीत बुमराह  (Jasprit Bumrah) को मैदान पर गले लगने या हाई - फाइव की कमी नहीं खलेगी लेकिन गेंद पर लार के इस्तेमाल की कमी वह जरूर महसूस करेंगे और उनका मानना है कि इसका विकल्प मुहैया कराया जाना चाहिये. भारत के पूर्व कप्तान अनिल कुंबले की अध्यक्षता वाली आईसीसी क्रिकेट समिति ने कोरोना वायरस महामारी के बाद क्रिकेट बहाल होने पर गेंद पर लार के इस्तेमाल पर रोक लगाने का सुझाव दिया है. समिति ने गेंद पर कृत्रिम पदार्थ के इस्तेमाल की भी अनुमति नहीं दी.



नये नियम से गेंदबाजों के लिये काफी कठिन हालात हो जायेंगे. कई पूर्व और मौजूदा तेज गेंदबाजों की तरह बुमराह का भी मानना है कि लार का विकल्प होना चाहिये. उन्होंने कहा, 'मैं वैसे भी मैदान पर गले लगने या हाई - फाइव करने वालों में से नहीं हूं तो मुझे इसकी कमी नहीं खलेगी. लेकिन लार के इस्तेमाल की कमी महसूस होगी.' बुमराह ने कहा, 'मुझे नहीं पता कि खेल बहाल होने पर क्या दिशा निर्देश होंगे लेकिन मेरा मानना है कि इसका विकल्प होना चाहिये.' उन्होंने कहा कि लार का इस्तेमाल गेंद पर नहीं होने से खेल पूरी तरह से बल्लेबाजों के अनुकूल हो जायेगा.
उन्होंने कहा, 'गेंद पर लार का इस्तेमाल नहीं कर पाने से गेंदबाजों के लिये काफी कठिनाई आयेगी. मैदान छोटे होते जा रहे हैं और विकेट भी सपाट हो रहे हैं.'

बुमराह  (Jasprit Bumrah) ने कहा, 'हमें गेंद की चमक बनाये रखने के लिये विकल्प की जरूरत है ताकि स्विंग या रिवर्स स्विंग मिल सके.' बिशप ने जब यह कहा कि पिछले कुछ साल से हालात तेज गेंदबाजों के अनुकूल थे, तो बुमराह ने उनसे सहमति जताई . उन्होंने कहा, 'टेस्ट क्रिकेट में यह सही है. यही वजह है कि यह मेरा पसंदीदा फॉर्मेट है. वनडे और टी20 क्रिकेट में गेंद को आखिर में रिवर्स स्विंग मिलती ही नहीं है.' उन्हें बल्लेबाजों की इस शिकायत पर हैरानी होती है कि गेंद स्विंग लेती है.

बुमराह ने कहा ,'जब भी हम खेलते हैं तो बल्लेबाज कहते हैं कि गेंद स्विंग ले रही है, हमारी टीम में ही नहीं, हर जगह, लेकिन गेंद तो स्विंग लेगी ही. हम सिर्फ थ्रोडाउन डालने के लिये मैदान में तो नहीं उतरते.'

वापसी के लिए कार्तिक ने खुद को दिया थर्ड डिग्री टॉर्चर, जानें पूरा मामला
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading