लाइव टीवी

जसप्रीत बुमराह का बड़ा खुलासा- मुझे कहा गया 6 महीने से ज्यादा नहीं खेल पाऊंगा

News18Hindi
Updated: February 23, 2020, 3:04 PM IST
जसप्रीत बुमराह का बड़ा खुलासा- मुझे कहा गया 6 महीने से ज्यादा नहीं खेल पाऊंगा
जसप्रीत बुमराह ने किया बड़ा खुलासा

जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) न्यूजीलैंड के दौरे पर हैं और उन्होंने एक इंटरव्यू में बड़ा खुलासा किया है, जिसपर यकीन कर पाना भी मुश्किल है

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 23, 2020, 3:04 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) ने जब से टीम इंडिया में कदम रखा है, उसकी ताकत दोगुनी हो गई है. बुमराह टी20, वनडे और टेस्ट तीनों फॉर्मेट में अपना लोहा मनवा चुके हैं. जब भी टीम इंडिया को विकेटों की जरूरत होती है, भारतीय कप्तान विराट कोहली जसप्रीत बुमराह की ओर ही गेंद फेंकते हैं और बुमराह भी उन्हें निराश नहीं करते. हालांकि एक वक्त ऐसा भी था, जब जसप्रीत बुमराह के बारे में कहा जाता था कि वो 6 महीने से ज्यादा नहीं खेल पाएंगे. इस बात का खुलासा खुद बुमराह ने एक इंटरव्यू में किया.

बुमराह पर उठे थे सवाल
जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) ने क्रिकबज़ को दिए इंटरव्यू में बताया कि उन्हें कई लोगों ने कहा था कि वो 6 महीने से ज्यादा रणजी ट्रॉफी नहीं खेल पाएंगे. बुमराह ने कहा, 'मैं पतला था और मेरा कद देखकर लोग मुझे हल्के में लेते थे, वो सोचते थे कि ये क्या गेंद फेंकेगा. इसके बाद जब मैं पहली गेंद फेंकता था तो लोग चौंक जाते थे.'

बचपन से ही तेज गेंदबाजी पसंद थी.



बुमराह (Jasprit Bumrah) ने कहा कि उन्हें बल्लेबाजों का रन बनाना बचपन से ही पसंद नहीं था, वो तो गेंदबाजों के मुरीद थे. उन्होंने कहा, 'मुझे बचपन से ही तेज गेंदबाज पसंद थे. वो उनका तेज भागना, बल्लेबाज को डराना, मुझे कभी बड़े छक्के, बड़ा स्कोर पसंद नहीं आया, मुझे तभी मजा आता था जब कोई गेंदबाज अच्छा प्रदर्शन करता था. मैंने जब रणजी ट्रॉफी के डेब्यू मैच में 7 विकेट लिए तो मुझे विश्वास हो गया कि मेरे अंदर कुछ तो सही है जो मैं 4 दिवसीय मैचों में अच्छा प्रदर्शन कर पा रहा हूं. नहीं तो लोग कहते थे कि मैं 6 महीने से ज्यादा नहीं खेल पाऊंगा.'

बल्लेबाजों को गालियां देते थे बुमराह
जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) बेहद ही शांत तेज गेंदबाजों में शुमार हैं, लेकिन उन्होंने खुलासा किया कि पहले वो बल्लेबाजों को गालियां तक देते थे. उन्होंने कहा, 'मुझे बचपन में बहुत गुस्सा आता था, जब कोई बल्लेबाज मेरी गेंदों पर शॉट्स लगाता था. मैं बल्लेबाज को डराने की कोशिश करता था. बाउंसर फेंकता था. मैं बल्लेबाजों के पास जाकर गालियां देता था. धीरे-धीरे मुझे समझ आ गया कि ये मेरे खेल को अच्छा करने में मदद नहीं कर रहा है.'

टेनिस बॉल से सीखी यॉर्कर
जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) की यॉर्कर से दुनियाभर के बल्लेबाज खौफ खाते हैं. बुमराह ने इंटरव्यू में बताया कि उन्होंने ये गेंद टेनिस बॉल क्रिकेट में ही सीखी. उन्होंने बताया, 'बचपन में जब टेनिस बॉल क्रिकेट खेलता था तो एक ही तरीका था विकेट लेने का... यॉर्कर गेंद. इसके बाद जब मैंने लेदर बॉल से खेलना शुरू किया तो पता चला कि विकेट लेने के और भी तरीके हैं. इन स्विंग है, आउट स्विंग है. हालांकि मैं यॉर्कर अच्छी कराता था तो वो हथियार मैंने हमेशा अपने पास रखा और आज भी मैं उसका इस्तेमाल करता हूं.'

48 ओवर, 293 बॉल, 21 दिन बाद खत्म हुआ बुमराह का विकेट का सूखा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 23, 2020, 2:41 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर