इमरान खान पर फूटा जावेद मियांदाद का गुस्सा, कहा- खुद को खुदा समझने लगे हैं प्रधानमंत्री

जावेद मियांदाद ने लगाए गंभीर आरोप

पाकिस्तान (Pakistan) के प्रधानंत्री इमरान खान (Imran Khan) क्रिकेट करियर के दौरान जावेद मियांदाद की कप्तानी में खेल चुके हैं

  • Share this:
    नई दिल्ली. पाकिस्तान (Pakistan) के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) इन दिनों अपने ही पूर्व कप्तान जावेद मियांदाद (Javed Miandad) के निशाने पर आ चुके हैं. मियांदाद पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (Pakistan Cricket board) को लेकर इमरान के कई फैसलों से नाराज हैं. मियांदाद ने देश के प्रधानमंत्री पर घरेलू क्रिकेटर्स को बेरोजगार करने, पीसीबी (PCB) में गलत लोगों को नियुक्त करने के अलावा मनमर्जी करने का आरोप लगाया है.

    मियांदाद ने कहा कि वह राजनीति में शामिल होंगे और लोगों को बताएंगे कि असली राजनीति क्या है. उन्होंने कहा, 'खेल के मामलों में ही नहीं, मैं उन्हें राजनीति के क्षेत्र में भी चुनौती दूंगा. इमरान को याद रखना चाहिए कि मैं उनका कप्तान था.' मियांदाद ने वीडियो में आगे कहा- 'देश और क्रिकेट की बदहाली के लिए इमरान खान जिम्मेदार हैं. मैं मदद न करता तो इमरान प्रधानमंत्री न बन पाते. इमरान ने देश को धोखा दिया. अब मैं उन्हें सियासत सिखाऊंगा.'

    मियांदाद का आरोप- खुद को खुदा समझने लगे हैं इमरान
    मियांदाद (Javed Miandad) ने प्रधान मंत्री इमरान पर पीसीबी में ऐसे लोगों को नियुक्त करने का आरोप लगाया है जो उनकी नजरों में सही नहीं. मियांदाद के मुताबिक इमरान अपनी मनमानी करने लगे हैं जो कि सही नहीं है. उन्होंने कहा- 'इमरान खुद को खुदा समझने लगे हैं. मनमाने फैसले करने लगे हैं.' मियांदाद लंबे समय से पीसीबी का अध्यक्ष बनना चाहते थे लेकिन ऐसा नहीं हुआ. मियांदाद ने पीसीबी डायरेक्टर और सीईओ वसीम खान और चेयरमैन एहसान मनी पर सवाल उठाते हुए कहा कि वह विदेशी हैं और उन पर भरोसा नहीं किया जा सकता.

    आपको बता दें इन दोनों ही लोगों के पास ब्रिटेन की नागरिकता भी हैं. उन्हें लगता है कि हमारे देश में पीसीबी चलाने के लिए काबिल लोग ही नहीं हैं. इसी वजह से वह बाहर के लोगों को बोर्ड में नियुक्त कर रहे हैं जिन्हें इस खेल के बारे में भी कुछ नहीं पता. अगर बोर्ड में बैठे विदेशी भ्रष्टाचार करके भाग गए, तो फिर इन्हें कौन पकड़ेगा?

    इमरान के कारण बेरोजगार हो गए क्रिकेटर
    मियांदाद (Javed Miandad) के मुताबिक इमरान खान (Imran Khan) के ही कारण घरेलू क्रिकेटर्स बेरोजगार हो गए हैं. उन्होंने कहा- 'इमरान ने जानबूझकर डिपार्टमेंट क्रिकेट बंद किया. इससे खिलाड़ी बेरोजगार हो गए हैं. इसका जवाब कौन देगा? पाकिस्तान में घरेलू क्रिकेट का मतलब सरकारी विभागों की टीमें हैं, कुछ बैंक और प्राइवेट लिमिटेड की टीमें भी इसमें हिस्सा लेती थी. पिछले साल से डिपार्टमेंट क्रिकेट बंद कर दिया गया और इसका नया फॉर्मेट लाया गया. इस फॉर्मेट में 20-24 की जगह केवल चार ही टीमें शामिल की गईं. इस कारण कई खिलाड़ी बेरोजगार हो गए हैं.'

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.