खेल

IPL 2020: जावेद मियांदाद ने दी धोनी को सलाह, बताया किस तरह हो सकते हैं मैच खेलने के लिए फिट

मियांदाद ने कहा, धोनी भले ही शरीर से फिट और तंदुरुस्त हैं, लेकिन वो मैच में खेलने के लिए फिट नहीं हैं.
मियांदाद ने कहा, धोनी भले ही शरीर से फिट और तंदुरुस्त हैं, लेकिन वो मैच में खेलने के लिए फिट नहीं हैं.

जावेद मियांदाद (Javed Miandad) ने धोनी (MS Dhoni) की आईपीएल (IPL 2020) की परफॉर्मेंस को लेकर अपनी राय दी है. साथ ही कहा है कि उन्होंने कहा कि चेन्नई के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी भले ही शरीर से फिट और तंदुरुस्त हैं, लेकिन वो मैच में खेलने के लिए फिट नहीं हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 19, 2020, 4:14 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2020) का यह सीजन शुरुआत से ही महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) और उनकी टीम चेन्नई सुपर किंग्स (Chennai Super Kings) के लिए अच्छा नहीं रहा है. धोनी भी अबतक बल्ले से कोई कमाल नहीं दिखा पाए. टीम इंडिया के इस पूर्व कप्तान ने इसी साल अगस्त में इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कहा. वह 2019 वर्ल्ड कप सेमीफाइनल के बाद से कोई प्रतियोगी क्रिकेट नहीं खेले थे. एक साल से ज्यादा वक्त के बाद उन्होंने 19 सितंबर 2020 को आईपीएल के जरिये क्रिकेट में वापसी की, लेकिन प्रभावित करने में असफल रहे. ऐसे में पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान जावेद मियांदाद (Javed Miandad) ने उन्हें फिटनेस को लेकर सलाह दी है.

महेंद्र सिंह का खराब परफॉर्मेंस का असर सीएसके के प्रदर्शन पर भी पड़ा है. मध्य क्रम में खराब बल्लेबाजी का सीएसके को काफी खामियाजा उठाना पड़ा है. सीएसके ने अबतक 9 मैच खेले हैं और छह हार के बाद अंक तालिका में खुद सातवें स्थान पर है. ऐसे में जावेद मियांदाद ने धोनी की आईपीएल 2020 की परफॉर्मेंस को लेकर अपनी राय दी है. साथ ही कहा है कि उन्होंने कहा कि चेन्नई के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी भले ही शरीर से फिट और तंदुरुस्त हैं, लेकिन वो मैच में खेलने के लिए फिट नहीं हैं.

'धोनी के टाइमिंग और रिफ्लेक्सिस में परेशानी'
जावेद मियांदाद ने इंडियन एक्सप्रेस को दिए एक इंटरव्यू में कहा, ''मैंने आईपीएल में धोनी की बल्लेबाजी देखी है. मेरे हिसाब से, टाइमिंग और रिफ्लेक्सिस में परेशानी है. अगर कोई खिलाड़ी पूरी तरह से मैच फिट नहीं होता है तो उसकी टाइमिंग और रिफ्लेक्सिस धीमे हो जाते हैं. धोनी को खुद का आकलन करने की जरूरत है. जब तक आप गेम खेल रहे होते हैं, तब तक सेल्फ असेसमेंट आप लगातार करते हैं.''
IPL 2020: 6 हार के बाद भी धोनी की CSK कर सकती है प्लेऑफ में क्वालिफाई, जानें कैसे



मियांदाद ने धोनी को सुझाव देते हुए अपना खुद का उदाहरण पेश किया कि कैसे वह अपनी खोई हुई फॉर्म वापस पा सकते हैं और आईपीएल 2020 में अपनी सर्वश्रेष्ठ वापसी कर सकते हैं. मियांदाद ने तबरीबन दो दशकों तक इंटरनेशनल क्रिकेट खेला है. उन्होंने 1996 में 39 साल की उम्र में वर्ल्ड कप खेला था. मियांदाद ने कहा कि धोनी को अपनी ताकत की जगह दिमाग इस्तेमाल करने की जरूरत है.

'मैं क्रिकेट अपने दिमाग से खेलता था'
उन्होंने कहा, ''मैं क्रिकेट अपने दिमाग से खेलता था. अगर आप अपना दिमाग इस्तेमाल करेंगे तो आप आपनी उम्र से कहीं ज्यादा क्रिकेट खेल सकते हैं. हो सकता है, आप वह खिलाड़ी नहीं बन पाएं जो आप हुआ करते थे, लेकिन फिर भी आप बहुत उपयोगी होंगे.''

'एक्सरसाइज ड्रिल और नेट्स पर बैटिंग का वक्त बढ़ाएं धोनी'
इसके साथ ही उन्होंने धोनी को सलाह दी कि वह अपनी एक्सरसाइज ड्रिल का वक्त बढ़ाएं और इसके साथ ही नेट्स पर बल्लेबाजी में ज्यादा समय बिताएं, लेकिन सीएसके के कप्तान को खुद इस बात की जानकारी होगी और शायद वह पहले से ही अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन पर लौट रहे हैं.

पाकिस्‍तान टीम से बाहर हुए शोएब मलिक, 22 गेंदों पर 56 जड़कर दिलाया था खिताब

उन्होंने कहा, ''धोनी को मेरा सुझाव है कि वह नेट्स पर बल्लेबाजी अभ्यास का वक्त बढ़ाएं और साथी ही अपनी एक्सरसाइज ड्रिल भी ज्यादा करें. उदाहरण के लिए अगर वह 20 सिटअप कर रहे हैं तो उन्हें 30 करने चाहिए. अगर वह 5 स्प्रिंट्स करते हैं तो उसे आठ कर दें. अगर वह नेट्स पर एक घंटा बल्लेबाजी का अभ्यास करते हैं तो उसे दो घंटा कर दें. जरूरी नहीं कि आप इसे एक साथ करें. आप हिस्सों में भी यह कर सकते हैं. आप इन्हें तीन सेशन- सुबह, दोपहर और शाम में कर सकते हैं.'' उन्होंने अंत में कहा कि धोनी यह जानते हैं और शायद उन्होंने यह करना शुरू भी कर दिया हो.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज