19 साल की उम्र में किया डेब्यू, 11 साल से टीम में जगह नहीं मिलने से निराश बड़ा गेंदबाज

जयदेव उनादकट आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स से खेलते हैं. (PTI)

जयदेव उनादकट आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स से खेलते हैं. (PTI)

बाएं हाथ के तेज गेंदबाज जयदेव उनादकट (Jaydev Unadkat) ने 2019-2020 रणजी सीजन में 67 विकेट लिए थे. यह ओवरऑल किसी तेज गेंदबाज का सबसे अच्छा प्रदर्शन था. इसके बाद भी उन्हें पिछले 11 साल से टेस्ट टीम में जगह नहीं मिली है.

  • Share this:

नई दिल्ली. न्यूजीलैंड के खिलाफ वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप (World Test Championship) के फाइनल और इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज (India vs England) के लिए टीम इंडिया की घोषणा हो चुकी है. तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार को टीम में जगह नहीं मिली है. लेकिन जयदेव उनादकट (Jaydev Unadkat) टीम में नहीं चुने जाने से निराश हैं. उन्होंने 19 साल की उम्र में ही टेस्ट डेब्यू कर लिया था. लेकिन पिछले 11 साल से उन्हें टेस्ट खेलने का मौका नहीं मिला है.

Sportstar अनुसार, बाएं हाथ के तेज गेंदबाज जयदेव उनादकट टीम इंडिया में दोबारा न चुने जाने से निराश हैं, लेकिन उन्होंने कहा कि वे अभी भी वापसी कर सकते हैं. एक टेस्ट, 7 वनडे और 10 टी20 मैचों में टीम इंडिया के लिए खेल चुके जयदेव उनादकट ने कहा, ‘जब ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मुझे टीम में जगह नहीं मिली तो मुझे लगा था कि ये सही है, क्योंकि तब टीम में हर कोई फिट था. लेकिन बाद में जब अधिकतर खिलाड़ियों को चोट लगी और जिन क्रिकेटरों को उनकी जगह मौका दिया गया तो मुझे महसूस हुआ कि एक मौका मुझे भी मिलना चाहिए था.’ उनादकट 2010 के बाद से ही कोई टेस्ट नहीं खेला है.

इंग्लैंड के खिलाफ चुने जाने का विश्वास था

जयदेव उनादकट को उम्मीद थी कि उन्हें इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैचों की टेस्ट सीरीज के लिए टीम इंडिया में जगह मिलेगी, लेकिन उन्हें स्टैंडबाई क्रिकेटरों में भी जगह नहीं मिली. इस बारे में उन्होंने कहा, ‘मुझे इंग्लैंड दौरे के लिए चुने जाने की उम्मीद थी. जब शीर्ष खिलाड़ी टीम में हों तो मुझे इंतजार करना ही था, लेकिन इस बार मैं निराश हूं. हालांकि मैं खुद को प्रोत्साहित करने पर ध्यान देता हूं. मैं अभी हताशा के उस चरम पर नहीं पहुंचा हूं, जहां मेरे लिए चीजें अभी नहीं तो कभी नहीं वाली हों.’
यह भी पढ़ें: शुभमन गिल ने कहा- रोहित शर्मा बताते हैं कब जोखिम लेना है, लेकिन कप्तान विराट?

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेला था पहला टेस्ट

उन्होंने कहा कि मैं अभी 29 साल का हूं. मैंने 19 साल की उम्र में टेस्ट डेब्यू कर लिया था. इसलिए लोग मुझे बूढ़ा समझते हैं. मेरे पास अभी काफी समय है. उनादकट ने 89 प्रथम श्रेणी मैचों में 327 विकेट लिए हैं. 2019-2020 रणजी सीजन में जयदेव उनादकट ने 67 विकेट लिए थे. यह बतौर तेज गेंदबाज एक सीजन में सबसे ज्यादा विकेट लेने का रिकॉर्ड है. आईपीएल स्थगित होने के बाद भी उनादकट अपने परिवार के साथ समय बिता रहे हैं. उन्होंने एकमात्र टेस्ट 2010 में सेंचुरियन में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेला था. वे मैच में एक भी विकेट नहीं ले सके थे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज