38 साल की उम्र में रिटायरमेंट से वापस लौटा ये क्रिकेटर, कहा- मैं पहले से ज्यादा फिट हूं

योहान बोथा

योहान बोथा

दक्षिण अफ्रीका के लिए 5 टेस्ट, 78 वनडे और 40 टी-20 खेलने वाले योहान बोथा (Johan Botha) एक दमदार ऑफ स्पिनर होने के साथ-साथ नीचले क्रम के एक अच्छे बल्लेबाज़ भी है

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 7, 2020, 8:50 AM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. किसी ने शायद सच ही कहा है कि खेल के मैदान पर उम्र मायने नहीं रखती है बल्कि जोश जरूरी है. कुछ ऐसी ही कहानी दक्षिण अफ्रीका के पूर्व ऑलराउंडर योहान बोथा (Johan Botha) की है. 38 साल की उम्र में उन्होंने रिटायरमेंट से वापस लौटने का फैसला किया है. बोथा ऑस्ट्रेलिया में इस साल के बीग बैश लीग (BBL) में खेलेंगे. वो होबार्ट हरिकेन्स टीम के लिए खेलेंगे. बता दें कि बोथा इन दिनों ऑस्ट्रेलिया में तसमानिया के कोच हैं.

कैसे मिला बोथा को मौका?

होबार्ट हरिकेन्स के स्टार स्पिनर संदीप लामिछाने पिछले दिनों कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए थे. लिहाजा वो इस साल बिग बैश में नहीं खेल पाएंगे. ऐसे में होबार्ट की टीम ने योहान बोथा को शामिल कर लिया. खास बात ये है कि बोथा को साल 2016 में ऑस्ट्रेलिया की नागरिकता मिल गई है. ऐसे में वो प्लेइंग इलेवन में घरेलू क्रिकेटर के तौर पर शामिल किए जाएंगे. इससे पहले बोथा बिग बैश में सिडनी सिक्सर्स के लिए खेल चुके हैं. इसके अलावा वो आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स और कोलकाता नाइट राइंडर्स का भी हिस्सा रह चुके हैं.

पहले से ज्यादा फिट
बता दें कि बोथा ने पिछले साल जनवरी में बिग के फाइनल में सिडनी सिक्सर के हाथों होबार्ट की हार के बाद अचानक संन्यास का ऐलान कर दिया था. अब बोथा ने रिटायरमेंट से लौटे जाने के सवाल पर कहा कि वो अब पहले से ज्यादा फिट हैं. उन्होंने कहा, 'मैं पहले से ज्यादा फिट हूं. मैं अब भी टीम के लिए योगदान कर सकता हूं. मैंने क्रिकेट को काफी मिस किया है.'

ये भी पढ़ें:- विराट कोहली की कप्तानी में जीत मिली तो आया रोहित शर्मा का बयान, कही ये बात

कमाल का करियर



दक्षिण अफ्रीका के लिए 5 टेस्ट, 78 वनडे और 40 टी-20 खेलने वाले बोथा एक दमदार ऑफ स्पिनर होने के साथ-साथ नीचले क्रम के एक अच्छे बल्लेबाज़ भी है. साल 2007 से लेकर 2011 तक उन्होंने 66 वनडे में 4.53 की इकॉनमी रेट से 64 विकेट लिए थे. पूरे करियर के दौरान बोथा के बॉलिंग एक्शन पर सवाल उठते रहे. साल 2009 में उनकी कप्तानी में दक्षिण अफ्रीका को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज़ में भी जीत मिली थी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज