Eng vs Pak: अस्पताल में भर्ती थे पिता, फिर भी मैदान पर उतरे बटलर और बन गए जीत के हीरो

Eng vs Pak: अस्पताल में भर्ती थे पिता, फिर भी मैदान पर उतरे बटलर और बन गए जीत के हीरो
जोस बटलर के पिता थे बीमार

जोस बटलर (Jos Butler) ने मैनचेस्टर (Manchester) टेस्ट में 75 रन की मैच जिताउ पारी खेली थी

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 9, 2020, 11:04 AM IST
  • Share this:
मैनचेस्टर. इंग्लैंड के विकेटकीपर बल्लेबाज जोस बटलर (Jos Butler) ने पाकिस्तान (Pakistan) के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में मुश्किल समय में शानदार बल्लेबाजी करते हुए टीम को जीत दिलाई. क्रिस वोक्स (Chris Woakes) के साथ 139 रनों की अहम साझेदारी करते हुए उन्होंने 75 रनों का पारी खेली और पाकिस्तान के हाथों से जीत छीन ली. हालांकि बटलर के लिए यह आसान नहीं था. उन्होंने मैच में विकेटकीपिंग के समय कई गलतियां की जिसकी वजह से वह दबाव में थे वहीं उन्हें अपने पिता की भी चिंता थी. बटलर को तीसरे दिन रात 10 बजे बताया गया था कि उनके पिता तबियत खराब होने के कारण अस्पताल में भर्ती हैं.

अस्पताल में भर्ती थे पिता
दरअसल जोस बटलर के पिता की तबियत अचानक खराब हो गई थी जिसके बाद उन्हे अस्पताल ले जाना पड़ा था. बटलर की शानदार पारी के बाद उनकी बहन ट्वीट करके तारीफ की था. वहीं टीम के कप्तान जो रूट ने भी तारीफ करते कहा, 'मैं जानता हूं यह उनके लिए काफी मुश्किल रहा होगा. यह उसकी खूबी है कि दबाव में वह और बेहतर प्रदर्शन करता है. वह फील्ड के दबाव को तो आसानी से झेल लेता है लेकिन फील्ड के बाहर के दबाव को झेलना उसके लिए आसान नहीं है. मुझे लगता है यह उनके करियर की अहम पारियों में शामिल होगी.'

शादी तय होने पर भी रोहित ने चहल को नहीं बख्शा, इस अंदाज में ट्रोल करते हुए दी बधाई
कोरोना पॉजिटिव पाए गए भारतीय कप्तान नहीं है गंभीर लक्षण, SAI ने किए खास इंतजाम



बटलर को है अपनी बल्लेबाजी पर गर्व
मैच के बाद बटलर ने कहा, 'मुझे काफी गर्व है, अगर मैं विकेटकीपिंग में वो मौके ना छोड़ता तो हम दो घंटे पहले मैच जीत जाते. मैं जानता था कि मैंने अच्छी विकेटकीपिंग नहीं की, मैंने मौके छोड़े और इस स्तर पर आप ऐसा करने का खतरा नहीं उठा सकते, चाहे आप कितने ही रन क्यों ना बनाएं.' उन्होंने कहा, 'दिमाग में ख्याल आते रहे थे कि अगर मैंने उतने रन नहीं बनाए, तो शायद मैं अपना आखिरी मैच खेल चुका हूं. लेकिन आपको इन सब बातों को भुलाकर अपना खेल खेलना होता है.' वोक्स के साथ अपने साझेदारी पर बटलर ने कहा, 'हमने इसे वनडे चेज की समझा और चार रन प्रति ओवर के हिसाब से खेला, और दूसरी नई गेंद को समीकरण से बाहर करने की कोशिश की. हमें अच्छा मूमेंटम मिला और अच्छी साझेदारी बनी.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज