भारत के खिलाफ धीमे ओवर के कारण WTC फाइनल से चूकी ऑस्‍ट्रेलिया, कोच ने बताई बड़ी लापरवाही

जस्टिन लैंगर ने कहा कि मेलबर्न टेस्ट में ओवर गति बरकरार नहीं रख पाना उनकी टीम की वास्तव में लापरवाही है,

जस्टिन लैंगर ने कहा कि मेलबर्न टेस्ट में ओवर गति बरकरार नहीं रख पाना उनकी टीम की वास्तव में लापरवाही है,

अगर ऑस्ट्रेलिया पर धीमी ओवर गति के लिए जुर्माना नहीं लगा होता तो न्यूजीलैंड की जगह वह फाइनल के लिए क्वालीफाई कर जाता.

  • Share this:
मेलबर्न. ऑस्ट्रेलिया के मुख्य कोच जस्टिन लैंगर (Justin Langer ) ने मंगलवार को कहा कि भारत के खिलाफ मेलबर्न टेस्ट में ओवर गति बरकरार नहीं रख पाना उनकी टीम की वास्तव में लापरवाही है, जिसके कारण वह आखिर में विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) के फाइनल में जगह नहीं बना पाए. ऑस्ट्रेलिया को चार मैचों की सीरीज के दूसरे मैच में तय समय से दो ओवर कम करने के कारण चार डब्ल्यूटीसी अंक गंवाने पड़े थे. हाल में इंग्लैंड को घरेलू सीरीज में 3-1 से हराने वाली भारतीय टीम ने डब्ल्यूटीसी फाइनल में जगह बनाई, जहां जून में उसका मुकाबला न्यूजीलैंड से होगा.

अगर ऑस्ट्रेलिया पर धीमी ओवर गति के लिए जुर्माना नहीं लगा होता तो न्यूजीलैंड की जगह वह फाइनल के लिए क्वालीफाई कर जाता. लैंगर ने एसईएन रेडियो नेटवर्क से कहा कि हमारे मैनेजर गेविन डोवे तब टीम के साथ नहीं थे. वह अपने परिवार के साथ क्रिसमस मनाने के लिए चले गए थे. हमें मैच के बाद अहसास हुआ कि हमारी ओवर गति धीमी हो गई थी. अब यह हमारी तरफ से वास्तव में लापरवाही थी.

पहले ही हो गया था अहसास

न्यूजीलैंड डब्ल्यूटीसी तालिका में ऑैस्ट्रेलिया से केवल 0.3 प्रतिशत अंक आगे है. ऑस्ट्रेलिया ने कोविड-19 महामारी के कारण टेस्ट सीरीज के लिए दक्षिण अफ्रीका का दौरा नहीं किया, जिससे उसकी डब्ल्यूटीसी फाइनल में जगह बनाने की संभावनाएं कम पड़ गई थी. लैंगर ने कहा कि मुझे याद है कि बाद में हम टीम रूम में थे और मैंने कप्तान टिम पेन और अपने विश्लेषक डेने हिल्स से इस बारे में बात की. मैं इसको लेकर नाराज था और मुझे लग रहा था कि इससे हम विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में खेलने का मौका गंवा सकते हैं.
यह भी पढ़ें : 

भारत को वर्ल्‍ड टेस्‍ट चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचाने वाले 6 खिलाड़ी शायद ही खेले ये ऐतिहासिक मुकाबला

संजना गणेशन से शादी की खबरों के बीच वायरल हो रहा जसप्रीत बुमराह का VIDEO



उन्होंने कहा कि मैंने बाद में खिलाड़ियों से कहा कि ये दो ओवर हमें विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के लिए महंगे पड़ सकते हैं. इसलिए हमें इस क्षेत्र में बेहतर करना होगा और सिडनी और ब्रिस्बेन में ऐसा नहीं होना चाहिए. लैंगर ने कहा कि यह बहुत निराशाजनक है, लेकिन इससे यह सबक मिलता है कि हम चीजों पर नियंत्रण कर सकते हैं. हमें चीजों पर नियंत्रण करना चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज