WTC Final: केन विलियमसन नहीं हैं टीम इंडिया के लिए बड़ा खतरा, जानिए वजह!

WTC Final: केन विलियमसन का रिकॉर्ड विदेश में बेहद खराब (फोटो-एएफपी)

WTC Final: केन विलियमसन का रिकॉर्ड विदेश में बेहद खराब (फोटो-एएफपी)

केन विलियमसन (Kane Williamson) दुनिया के नंबर 1 टेस्ट बल्लेबाज हैं लेकिन वो वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में टीम इंडिया के लिए बड़ा खतरा नहीं हैं, जानिये क्यों?

  • Share this:

नई दिल्ली. वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप (WTC Final) के फाइनल में भारत को न्यूजीलैंड से लोहा लेना है. साउथैंप्टन में 18 जून को होने वाले इस मुकाबले में टीम इंडिया के लिए जीत की राह इतनी आसान नहीं होगी. इंग्लैंड के हालात न्यूजीलैंड को काफी ज्यादा भाते हैं और भारतीय टीम स्विंग के आगे काफी ज्यादा परेशान दिखाई देती है. कीवी गेंदबाज स्विंग कराने में महारत रखते हैं ऐसे में टीम इंडिया के लिए ये बड़ी चुनौती होगी. वैसे कीवी कप्तान केन विलियमसन (Kane Williamson) को भी टीम इंडिया के लिए बड़ा खतरा बताया जा रहा है. केन विलियमसन दुनिया के नंबर 1 टेस्ट बल्लेबाज हैं और हाल के दिनों में उनके बल्ले से टेस्ट फॉर्मेट में जबर्दस्त रन निकले हैं. हालांकि इसके बावजूद न्यूजीलैंड का कप्तान टीम इंडिया के लिए बड़ा खतरा नहीं है, आइए बताते हैं क्यों?

केन विलियमसन अगर विकेट पर टिक जाएं तो वो विरोधी टीम के गेंदबाजों को बहुत परेशान करते हैं. खुद टीम इंडिया के तेज गेंदबाज उमेश यादव ने ये बात कही है. उमेश यादव ने एक इंटरव्यू में कहा कि विलियमसन का पिच पर टिके रहना किसी टीम के गेंदबाजों के लिए अच्छी बात नहीं है. वैसे उमेश यादव के लिए अच्छी खबर ये है कि केन विलियमसन सिर्फ घरेलू मैदानों पर पिच पर जमते हैं. विदेशी सरजमीं पर वो आयाराम-गयाराम ही हैं.

WTC में विलियमसन के चौंकाने वाले आंकड़े

केन विलियमसन ने वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के 9 मैचों की 14 पारियों में 58.35 के बेहतरीन औसत से 817 रन बनाए हैं. इस दौरान उनके बल्ले से 3 शतक और एक अर्धशतक निकला है. ये आंकड़े विलियमसन को टीम इंडिया के लिए बड़ा खतरा बता रहे हैं लेकिन अगर आप कीवी कप्तान के विदेशी सरजमीं के आंकड़ें देखेंगे तो भारतीय फैंस के चेहरे पर मुस्कान आ जाएगी.
एशिया कप 2021 कोरोना वायरस के चलते रद्द, अगले 2 सालों तक नहीं होगा टूर्नामेंट!

विलियमसन वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के सभी विदेशी टेस्ट में फ्लॉप साबित हुए हैं. दिलचस्प बात ये है कि विलियमसन इस दौरान एक अर्धशतक नहीं लगा पाए. कीवी कप्तान ने विदेशी धरती पर 7 पारियों में महज 11.57 के औसत से 87 रन बनाए हैं और उनका सर्वश्रेष्ठ 34 रन रहा है. यही नहीं केन विलियमसन 7 में से 2 पारियों में तो खाता तक नहीं खोल पाए. न्यूजीलैंड और भारत के बीच वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल तटस्थ देश इंग्लैंड में हो रहा है. भारत की पेस बैटरी कमाल की है जो विलियमसन को पैवेलियन की राह दिखा सकती है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज