Home /News /sports /

kapil dev said icc must protect test odi formats amid rise of t20 leagues 2

वनडे, टेस्ट के भविष्य को लेकर कपिल देव चिंतित, बताया- क्यों खत्म हो सकते हैं दोनों फॉर्मेट

कपिल देव ने टेस्ट और वनडे क्रिकेट के भविष्य को लेकर बड़ी बात कही है. (Kapil dev instagram)

कपिल देव ने टेस्ट और वनडे क्रिकेट के भविष्य को लेकर बड़ी बात कही है. (Kapil dev instagram)

पूर्व भारतीय कप्तान कपिल देव को लगता है कि जिस तरह दुनियाभर में टी20 क्रिकेट लीग का प्रभाव बढ़ रहा है. अगर वक्त रहते आईसीसी ने इसे रोकने की कोशिश नहीं की तो भविष्य में वनडे और टेस्ट फॉर्मेट खत्म हो सकता है. उन्होंने दोनों फॉर्मेट को बचाने के लिए आईसीसी को अहम सुझाव दिया है.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

कपिल देव ने टेस्ट-वनडे के भविष्य को लेकर चिंता जाहिर की है
उन्होंने बढ़ते टी20 क्रिकेट लीग के प्रभाव को लेकर बड़ी बात कही है

नई दिल्ली. भारत, ऑस्ट्रेलिया, पाकिस्तान और इंग्लैंड में पहले से ही इंटरनेशनल स्तर की टी20 लीग का आयोजन हो रहा है. अगले साल से यूएई और दक्षिण अफ्रीका में भी इस तरह की टी20 लीग शुरू हो जाएगी. ऐसे में वनडे, टेस्ट के भविष्य को लेकर नई बहस छिड़ गई है. पूर्व भारतीय कप्तान कपिल देव ने आईसीसी से वनडे और टेस्ट फॉर्मेट को बचाने के लिए आगे आने की गुजारिश की है.

बढ़ती टी20 लीग और क्रिकेट का असर भी दिखने लगा है. कुछ खिलाड़ियों ने हाल ही में व्यस्त क्रिकेट शेड्यूल का हवाला देकर अचानक वनडे क्रिकेट से संन्यास का ऐलान कर दिया. इसमें बेन स्टोक्स जैसे खिलाड़ी शामिल हैं. वहीं, दक्षिण अफ्रीका ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 2023 में होने वाली वनडे सीरीज सिर्फ इसलिए कैंसिल कर दी, क्योंकि उसकी तारीख क्रिकेट साउथ अफ्रीका की प्रस्तावित टी20 लीग से टकरा रही थी.

टेस्ट-वनडे को बचाने के लिए आईसीसी आगे आए: कपिल
आईसीसी ने खिलाड़ियों के वर्कलोड को बेहतर ढंग से मैनेज करने के लिए घरेलू और द्विपक्षीय क्रिकेट के बीच संतुलन खोजने की जिम्मेदारी सदस्य देशों पर डाल दी है. लेकिन कपिल देव का मानना है कि इसे मैनेज करने की बड़ी जिम्मेदारी आईसीसी पर है. पूर्व कप्तान कपिल देव ने सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड से कहा, ‘क्रिकेट फुटबॉल के रास्ते पर चल पड़ा है. टी20 लीग के बढ़ते प्रभाव के बीच आईसीसी को वनडे और टेस्ट को बचाने की कोशिश करनी चाहिए.’

‘फुटबॉल की राह पर है क्रिकेट’
कपिल देव ने आगे कहा, ‘फुटबॉल में फीफा वर्ल्ड कप 4 साल बाद होता है. फुटबॉल खेलने वाले देश एक-दूसरे के खिलाफ उतना नहीं खेलते, जितना क्रिकेट में होता है. खिलाड़ियों का फोकस अपने क्लब पर रहता है और वो सिर्फ वर्ल्ड कप खेलते हैं.’

Asia cup 2022 में नए लुक में नजर आएंगे हार्दिक पंड्या, पहली तस्वीर सामने आई

डिविलियर्स ने भारत को स्वतंत्रता दिवस की बधाई देने में की बड़ी गलती, डैरेन सैमी भी हुए ट्रोल

पूर्व भारतीय कप्तान ने कहा कि भविष्य में इंटरनेशनल क्रिकेट की भी हालत कुछ ऐसी ही होगी. इंटरनेशनल क्रिकेट की जगह सिर्फ वर्ल्ड कप तक रह जाएगी. बाकी समय खिलाड़ी आईपीएल जैसी टी20 क्रिकेट लीग खेलते रहेंगे. आईसीसी को पहल करनी होगी. सिर्फ क्लब क्रिकेट या टी20 लीग ही नहीं, बल्कि टेस्ट और वनडे के लिए भी जगह बची रहनी चाहिए.

Tags: Big bash league, IPL, Kapil dev, PSL, T20 cricket

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर