लाइव टीवी

फिक्सिंग मामले में बुकी ने किया बड़ा खुलासा, कहा-BCCI अधिकारी के कहने पर कर रहे थे काम: रिपोर्ट

News18Hindi
Updated: November 29, 2019, 12:16 PM IST
फिक्सिंग मामले में बुकी ने किया बड़ा खुलासा, कहा-BCCI अधिकारी के कहने पर कर रहे थे काम: रिपोर्ट
बीसीसीआई की एंटी करप्शन यूनिट के मैनेजर अंशुमन उपाध्याय पर आरोप (FILE PHOTO)

सेंट्रल क्राइम ब्रांच (Central Crime Branch) ने केपीएल में फिक्सिंग के मामले में अंतरराष्ट्रीय बुकी सयंम (Sanyam Gulati) को गिरफ्तार किया था. गुलाटी ने पूछताछ के दौरान चौंकाने वाले खुलासे किए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 29, 2019, 12:16 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कर्नाटक प्रीमियर लीग (Karnataka Premier League) में खिलाड़ियों को स्पॉट फिक्सिंग (Spot Fixing) में शामिल करने के आरोप में गिरफ्तार हुए संयम गुलाटी (Sanyam Gulati) ने चौंकाने वाला दावा किया है. गुलाटी का कहना है कि यह सब उन्होंने बीसीसीआई (BCCI) की एंटी करप्शन यूनिट (Anti Corruption Unit) के एक अधिकारी के कहने पर किया था. संयम गुलाटी (Sanyam Gulati)  ने लिखित तौर पर बयान दिया और कहा कि बीसीसीआई (BCCI) के एसीयू (ACU) को इस बारे में पूरी जानकारी थी और एसीयू के मैनेजर अंशुमान उपाध्याय के प्रतिनिधि के तौर पर ही उन्होंने मैच फिक्सिंग के आरोपी भावेश गुलेचा के खिलाफ सुबूत जुटाने के लिए उसे 75 हजार रुपये दिए थे.

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, हरियाणा के संयम गुलाटी (Sanyam Gulati) को सीबीआई (CBI) ने सेलीब्रेटी ड्रमर भावेश गुलेचा द्वारा मैच फिक्सिंग के मामले में नौ नवंबर को गिरफ्तार किया था. गुलाटी पर केपीएल (Karnataka Premier League) के खिलाड़ी भावेश गुलेचा (Bhavesh Gulecha) को स्पॉट फिक्सिंग (Spot Fixing) में शामिल करने का प्रयास करने का आरोप लगाया गया था. संयम ने कर्नाटक में न्यायिक अधिकारियों और पुलिस अफसरों को लिखित तौर पर बयान दिया कि उन्होंने गुलेचा (Bhavesh Gulecha) को 75 हजार रुपये दिए ताकी वह एसीयू (ACU) के लिए सुबूत इकट्ठा कर सकें. वहीं केपीएल टीम बेल्लारी टस्कर्स के खिलाड़ी गुलेचा ने पुलिस को जो बयान दिया है, उसके अनुसार मैच फिक्सिंग में शामिल होने की एवज में गुलाटी की ओर से उसे आईपीएल में खेलने का लालच और दो लाख रुपये की पेशकाश की गई थी. हालांकि गुलाटी का दावा है कि वह बाफना से 2018 टीएनपीएल में मिला था. इसके बाद बाफना ने ही 2019 के सीजन में फिक्सिंग करने के लिए उसकी मुलाकात गुलेचा से ये कहते हुए करवाई थी कि वो टूर्नामेंट के मैचों से पैसा बनाना चाहता है.

kpl spot fixing, kpl spot fixing scandal, karnataka premier league, tnpl spot fixing, फिक्सिंग,स्पॉट फिक्सिंग, केपीएल, संयम गुलाटी, कर्नाटक प्रीमियर लीग, तमिलनाडु प्रीमियर लीग, अंशुमान उपाध्याय

एसीयू के मैनेजर को थी जानकारी

संयम गुलाटी ने दावा किया है कि वह केपीएल (KPL) के खिलाड़ियों से बात कर रहे हैं यह बात एसीयू  (ACU) के मैनेजर अंशुमान उपाध्याय की जानकारी में थी. उन्होंने अपने बयान में कहा, ' बीसीसीआई के एसीयू मैनेजर अंशुमान उपाध्याय ने मुझसे आग्रह किया था कि मैं स्पॉट फिक्सिंग और भ्रष्टाचार के अन्य मामलों से जुड़ी जानकारी उन तक पहुंचाऊं. उनके कहने पर ही मैंने भावेश गुलेचा से बात की और उससे मिली जानकारी अंशुमान उपाध्याय को दी.'  गुलाटी ने कहा कि जुलाई में टीएनपीएल के सिलसिले में वह साउथ अफ्रीका गए थे, जहां वे एक बार फिर गुलेचा से मिले और उन्हें 75 हजार रुपये नकद दिए.

bhavesh gulecha, karnatka premeir league, spot fixing, fixing
भावेश गुलेचा कर्नाटक प्रीमियर लीग में बेल्लारी टस्कर्स की ओर से खेलते हैं


अंशुमन उपाध्याय ने किया था एक्शन का वादा
Loading...

खुद को बिजनेसमैन बताने वाले संयम गुलाटी (Sanyam Gulati) ने आगे कहा, 'जुलाई 2018 में मैं तमिलनाडु प्रीमियर लीग का मैच देखने चेन्नई आया था. यहां मुझे पता चला कि लीग में ऑनलाइन जुआ चल रहा है और मैदान की जानकारी बुकीज तक पहुंचाई जा रही है. मैंने तमिलनाडु पुलिस के एडीजीपी को ईमेल लिखकर कार्रवाई करने के लिए कहा था.' गुलाटी (Sanyam Gulati) ने आगे कहा, 'उसी दौरान मैं डिंडिगुल में एक मैच देखने गया, जहां मेरी मुलाकात एसीयू  (ACU) के मैनेजर अंशुमान उपाध्याय से हुई.  मैंने उन्हों भी मैदान से बुकीज तक पहुंचाई जा रही जानकारी के मामले के बारे में बताया. उन्होंने मुझे भरोसा दिलाया कि अगर इस मामले में कोई खिलाड़ी या अन्य व्यक्ति भ्रष्टाचार में लिप्त पाया जाता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.'

मुझे सौंपा सुबूत जुटाने का काम
संयम गुलाटी ने बयान में कहा, 'मुझे भरोसा था कि केपीएल के मैचों में फिक्सिंग हो रही है और मैंने एसीयू  (ACU) के मैनेजर अंशुमान उपाध्याय को इसकी जानकारी भी दी ‌थी. उन्होंने मुझसे कहा कि मैं भावेश गुलेचा के साथ बातचीत जारी रखूं और अगर वह आरोपी साबित होते हैं तो उन पर बीसीसीआई के नियमों के तहत तो कार्रवाई की ही जाएगी, साथ ही पुलिस में भी शिकायत होगी.' संयम (Sanyam Gulati) पर सिर्फ केपीएल (Karnataka Premier League) ही नहीं, बल्कि कैरिबियन प्रीमियर लीग (Caribbean Premier League) और तमिलनाडु प्रीमियर लीग (Tamilnadu Premier League) में सट्टेबाजी के आरोप भी लगे हैं.

KPL Match Fixing, cricket, cricket news, sports news, International Bookie, match fixing, क्रिकेट न्यूज, क्रिकेट, स्पोर्ट्स न्यूज, बुकी, सट्टेबाज, मैच फिक्सिंग, कर्नाटक प्रीमियर लीग, केपीएल,
हालिया समय में क्रिकेट सट्टेबाजी रैकेट से जुड़े कई लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है जिसमें संयम गुलाटी का नाम भी शामिल है. (TWITTER)


गुलाटी (Sanyam Gulati) ने कहा कि भावेश गुलेचा (Bhavesh Gulecha) को पैसे देने का केवल एक कारण था कि वह उनके खिलाफ सुबूत चाहते थे. गुलाटी  (Sanyam Gulati) के मुताबिक, 'मुझे पैसे कमाने होते तो मैं इस मामले से जुड़ी हर जानकारी अंशुमान उपाध्याय को क्यों देता. ऐसे में तो मैं बीसीसीआई एंटी करप्‍शन यूनिट के मुखबिर के तौर पर काम ही नहीं करता. इसकी सारी जानकारी क्यों देता. गुलाटी ने दावा किया है कि उसके पास केपीएल में फिक्सिंग की योजना को लेकर उपाध्याय को भेजे गए मैसेज के स्क्रीनशॉट भी हैं.

पुलिस ने खारिज किए गुलाटी के आरोप
बेंगलुरु पुलिस ने संयम गुलाटी के बयान को खारिज कर दिया है. पुलिस के अनुसार, 'गुलाटी खिलाड़ियों से यह कहकर मिलता था कि वह बीसीसीआई के एंटी करप्शन यूनिट से जुड़े हुए हैं. लोग उस पर भरोसा करते थे क्योंकि कोई भी इस बात की तह तक नहीं जाता था. संयम अंतरराष्ट्रीय बुकी है और वेस्टइंडीज में छिपा हुआ था. उसके खिलाफ लुकआउट नोटिस भी जारी किया गया था.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 29, 2019, 10:32 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...