पीटरसन ने बताया आखिर क्यों कोरोना के बीच आईपीएल जारी रखी गई, खिलाड़ियों का भी बचाव किया

केविन पीटरसन ने कहा कि खिलाड़ियों के कोरोना पॉजिटिव होने के बाद बीसीसीआई के पास लीग को स्थगित करने के अलावा कोई विकल्प नहीं था. (Kevin Pieterson Twitter)

केविन पीटरसन ने कहा कि खिलाड़ियों के कोरोना पॉजिटिव होने के बाद बीसीसीआई के पास लीग को स्थगित करने के अलावा कोई विकल्प नहीं था. (Kevin Pieterson Twitter)

आईपीएल 2021(IPL 2021) के लिए स्टार स्पोर्ट्स के कॉमेंट्री पैनल में शामिल इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटर केविन पीटरसन (Kevin Pieterson) ने कोरोना के बीच लीग जारी रखने के फैसले के पीछे की वजह बताई. उन्होंने कहा कि इसके जरिए घर में बैठे लोगों को कुछ घंटों के लिए ही सही, लेकिन मनोरंजन का मौका मिल रहा था.

  • Share this:

नई दिल्ली. भारत में कोरोना के बढ़ते मामलों के बाद भी आईपीएल 2021(IPL 2021) को जारी रखने को लेकर शुरू में काफी बहस हुई. कुछ लोगों का मत था कि टूर्नामेंट को पहले ही रद्द कर देना चाहिए था, जबकि कुछ का मानना था कि आईपीएल लॉकडाउन के कारण घर में बैठे लोगों के लिए मनोरंजन का जरिया था. हालांकि, जब आईपीएल के बायो-बबल(Bio-Bubble) में कोरोना ने घुसपैठ कर दी, तो बीसीसीआई (BCCI) को मजबूरन लीग को स्थगित करना पड़ा.

इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटर केविन पीटरसन(Kevin Pieterson), जो आईपीएल के दौरान स्टार स्पोर्ट्स(Star Sports) के कॉमेंट्री पैनल में शामिल थे का मानना है कि टूर्नामेंट को शुरुआत में जारी रखने का फैसला सकारात्मक था. क्योंकि इसके जरिए लोगों को कम से कम 6 घंटे मनोरंजन का मौका मिला. पीटरसन ने अपने ब्लॉग में लिखा कि मैं इसे लेकर आज भी सहमत हूं कि शुरुआत में टूर्नामेंट जारी रखने का फैसला भारत के लिए जरूरी था. देश में हालात ऐसे अच्छे नहीं थे. लेकिन मेरा मानना था कि लोगों को रोज 6 घंटे मनोरंजन देना एक सकारात्मक बात थी.

हमारी कोशिश थी कि लोगों को किसी तरह राहत पहुंचाए: पीटरसन

पीटरसन ने आगे कहा कि हम पूरे भारत के लिए काम कर रहे थे. हमारी कोशिश थी कि कैसे भी लोगों को थोड़ी राहत पहुंचाए. मुझे लगा कि खिलाड़ी जो पैकेज दे रहे थे वह शानदार था. उन्होंने कहा कि खिलाड़ी और ब्रॉडकास्टर देश में क्या चल रहा था. इससे अनजान नहीं थे. हम सभी के मन में सहानुभूति थी कि किस तरह भी लोगों की मदद कर पाएं. इसलिए हम लीग में शामिल होने के लिए उत्सुक थे.
'बीसीसीआई के पास लीग टालने के अलावा कोई विकल्प नहीं था'

इंग्लैंड के इस पूर्व बल्लेबाज ने आगे कहा कि खिलाड़ियों और स्टाफ मेंबर्स के कोरोना पॉजिटिव होने के बाद बीसीसीआई और आईपीएल गवर्निंग काउंसिल के पास टूर्नामेंट को सस्पेंड करने के अलावा कोई विकल्प नहीं था. क्योंकि बोर्ड पर भी दबाव बढ़ गया था. इसलिए ये बेहतर रहा कि बीसीसीआई ने लीग को फौरन सस्पेंड करने का फैसला किया.

यह भी पढ़ें : TOP 10 Sports News : हार्दिक और कुलदीप को टेस्ट टीम में जगह नहीं, सुमित मलिक को ओलंपिक कोटा



भारतीय टीम में पहली बार एक साथ शामिल हुए 5 ऐसे तेज गेंदबाज, इंग्लैंड में 15 साल बाद मिलेगी जीत?

पीटरसन ने इंग्लैंड में बाकी बचे मैच कराने का सुझाव दिया

इस बीच, पीटरसन ने आईपीएल 2021 के बाकी बचे 31 मुकाबलों को इंग्लैंड में कराने का सुझाव भी दिया. उन्होंने कहा कि भारत और इंग्लैंड के बीच अगस्त-सितंबर में टेस्ट सीरीज होनी है. इसके बाद सितंबर में बाकी बचे मुकाबले कराए जा सकते हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज