B'day Special : 31 साल से नहीं टूटा इस भारतीय का वर्ल्ड रिकॉर्ड, गांगुली को किया था टीम से बाहर

News18Hindi
Updated: September 4, 2019, 12:05 PM IST
B'day Special : 31 साल से नहीं टूटा इस भारतीय का वर्ल्ड रिकॉर्ड, गांगुली को किया था टीम से बाहर
किरण मोरे 2002 से लेकर 2006 तक बीसीसीआई के मुख्य चयनकर्ता भी रहे. (फाइल फोटो)

4 सितंबर 1962 को गुजरात के वडोदरा में जन्मे किरण मोरे (Kiran More) का क्रिकेट करियर साल 1984 में शुरू हुआ.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 4, 2019, 12:05 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. किरण मोरे (Happy Birthday Kiran More) को भारतीय क्रिकेट इतिहास के बेहतरीन विकेटकीपरों में शुमार किया जाता है. क्रिकेट के मैदान पर वो एक ऐसे लम्हे के गवाह भी रहे हैं, जिसने भारत और पाकिस्तान की प्रतिद्वंद्विता को नया आयाम दिया. मैदान के बाहर वे ऐसे विवाद में भी शामिल रहे हैं, जिसने उन्हें क्रिकेट प्रशंसकों का 'दुश्मन' बना दिया. मगर किरण मोरे का क्रिकेट करियर सिर्फ इतना ही नहीं हैं, बल्कि उसमें कई दिलचस्प किस्से हैं, जिन्हें जानकर आप हैरान रह जाएंगे.

4 सितंबर 1962 को गुजरात के वडोदरा में जन्मे किरण मोरे (Kiran More) का क्रिकेट करियर शुरू हुआ साल 1984 में. यह मुकाबला इंग्लैंड के खिलाफ पुणे में खेला गया था और इसी से मोरे ने वनडे में डेब्यू किया था. हालांकि किरण मोरे का नाम तब क्रिकेट इतिहास में सुनहरे अक्षरों में दर्ज हो गया जब उन्होंने 1988 में वर्ल्ड रिकॉर्ड कायम कर दिया. यह टेस्ट मैच था और इसमें उन्होंने सर्वाधिक स्टंपिंग का ऐतिहासिक रिकॉर्ड अपने नाम दर्ज करा लिया.

दरअसल, 1988 में वेस्टइंडीज के खिलाफ चेन्नई में टेस्ट मैच खेला जा रहा थज्ञ. इस मैच में नरेंद्र हिरवानी (Narender Hirwani) ने डेब्यू किया था. उनकी जादुई गेंदबाजी और किरण मोरे (Kiran More) की जुगलबंदी से ये रिकॉर्ड कायम हुआ. इस मैच में किरण मोरे ने एक पारी में पांच खिलाड़ियों को स्टंप आउट किया, तो मैच में कुल छह स्टंप किए. यह दोनों ‌ही टेस्ट क्रिकेट में वर्ल्ड रिकॉर्ड है.

ग्राहम गूच ने भयावह बना दी जिंदगी

क्रिकेट के मैदान का एक और किस्सा है जो किरण मोरे कभी नहीं भूल सके. दरअसल, 1990 में इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स में टेस्ट मैच खेला जा रहा था. तब संजीव शर्मा (Sanjeev Sharma) की गेंद पर इंग्लैंड के बल्लेबाज ग्राहम गूच (Graham Gooch) का आसान सा कैच मोरे ने छोड़ दिया था. उस वक्त 36 रन पर खेल रहे गूच ने इसके बाद 333 रन की विशाल पारी खेली और अगली पारी में भी 123 रन बनाए. भारत ये मैच 247 रन से हारा.

cricket, kiran more, kiran more birthday, kiran more records, kiran more selectors, indian cricket team, indian wicket keepers, किरण मोरे, क्रिकेट, भारतीय क्रिकेट टीम, बीसीसीआई, किरण मोरे विकेटकीपर, किरण मोरे रिकॉर्ड, किरण मोरे बर्थडे, किरण मोरे चयनकर्ता
1992 वर्ल्ड कप में जावेद मियांदाद और किरण मोरे के बीच हुई घटना क्रिकेट इतिहास में हमेशा के लिए दर्ज हो गई. (फाइल फोटो)


मोरे की वजह से जावेद मियांदाद करने लगे उछल-कूद
Loading...

1992 क्रिकेट वर्ल्ड कप में भारत और पाकिस्तान के बीच मैच खेला जा रहा था. इस मैच में किरण मोरे की अत्यधिक अपील से परेशान होकर जावेद मियांदाद (Javed Miandad) ने पिच के बीच में पहुंचकर मोरे के सामने ही कूदना शुरू कर दिया. मियांदाद का ये रूप देखकर हर कोई हैरान रह गया. इसके बाद से ये तस्वीर क्रिकेट इतिहास में अमर हो गई.

सौरव गांगुली को टीम से बाहर किया
किरण मोरे (Kiran More) 2002 से लेकर 2006 तक भारत के मुख्य चयनकर्ता भी रहे. इस दौरान सौरव गांगुली (Saurav Ganguly) और ग्रेग चैपल विवाद के दौरान उन्होंने गांगुली को टीम से बाहर कर दिया था, जिसे लेकर प्रशंसकों और मीडिया में उनकी काफी आलोचना भी हुई थी.

cricket, kiran more, kiran more birthday, kiran more records, kiran more selectors, indian cricket team, indian wicket keepers, किरण मोरे, क्रिकेट, भारतीय क्रिकेट टीम, बीसीसीआई, किरण मोरे विकेटकीपर, किरण मोरे रिकॉर्ड, किरण मोरे बर्थडे, किरण मोरे चयनकर्ता
किरण मोरे की गिनती भारत के बेहतरीन विकेटकीपरों में की जाती है. (फाइल फोटो)


आईसीएल विवाद 
किरण मोरे को इंडियन क्रिकेट लीग विवाद के लिए भी जाना जाता है. दरअससल, 2007 में जब ये लीग शुरू हुई थी तो किरण मोरे को इसका एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर बनाया गया था. इसके बाद बीसीसीआई ने कपिल देव व कुछ अन्य क्रिकेटरों के साथ उन पर भी प्रतिबंध लगा दिया था.

साल 1993 तक किरण मोरे ने टीम इंडिया के लिए 94 वनडे खेले. उन्होंने 94 वनडे की 65 पारियों में 22 बार नाबाद रहते हुए 13.09 की औसत से 563 रन बनाए. दिलचस्प बात है कि वनडे में मोरे एक भी अर्धशतक नहीं लगा सके और उनका सर्वाधिक स्कोर नाबाद 42 रन रहा.

किरण मोरे को आंकड़ाें में जानिए
1. इस भारतीय विकेटकीपर ने 49 टेस्ट मैच खेलकर 1285 रन बनाए. विकेट के पीछे 130 शिकार किए. सर्वाधिक स्कोर 73 रन रहा.
2. उन्होंने भारत के लिए 94 वनडे खेलकर 563 रन बनाए. सर्वाधिक स्कोर नाबाद 42 रहा.
3. फर्स्ट क्लास क्रिकेट में उन्होंने 5223 रन बनाए. उनका सर्वाधिक स्कोर नाबाद 181 रन था.
4. किरण मोरे 2002 से 2006 तक बीसीसीआई की चयन समिति के अध्यक्ष रहे.
5. 1983-84 के रणजी सीजन में उन्होंने बड़ाैदा के लिए नाबाद 153 और नाबाद 181 रन की पारी खेली और टीम को सेमीफाइनल में पहुंचाने में अहम योदगान दिया.
6. 1986 में इंग्लैंड दौरे पर उन्होंने 16 कैच लिए और 52 की औसत से 156 रन बनाए. सीरीज में उनका औसत दूसरा सर्वश्रेष्ठ था.

न्यूजीलैंड ने दी श्रीलंका को मात, टी20 सीरीज पर भी कब्जा
J&K: आर्टिकल 370 हटने के बाद से 'गायब' खिलाड़ी मिले

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 4, 2019, 12:05 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...