खेल

IPL 2020: हारकर जीतने वाले को ‘बाजीगर’ नहीं, KKR कहते हैं...

दिनेश कार्तिक ने किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ 29 गेंद पर 58 रन बनाए.
दिनेश कार्तिक ने किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ 29 गेंद पर 58 रन बनाए.

कोलकाता नाइटराइडर्स (Kolkata Knight Riders) ने शनिवार को एक बार फिर ऐसी जीत दर्ज की, जिसकी उसके प्रशंसकों ने भी शायद ही कल्पना की हो. केकेआर ने बेहद रोमांचक मैच में किंग्स इलेवन पंजाब (Kings XI Punjab) को 2 रन से हराया. केकेआर ने ही 7 अक्टूबर को चेन्नई सुपरकिंग्स (Chennai Super Kings) को 10 रन से हराया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 11, 2020, 6:14 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. ‘हारकर जीतने वाले को बाजीगर कहते हैं...’ बॉलीवुड में यह डायलॉग किंग खान के नाम दर्ज है. और अगर बात आईपीएल की हो तो उनके इस डायलॉग को मैदान पर उनकी ही टीम आजमा रही है. वह भी एक बार नहीं, बार-बार. शाहरुख खान की टीम कोलकाता नाइटराइडर्स (Kolkata Knight Riders) ने शनिवार को एक बार फिर ऐसी जीत दर्ज की, जिसकी उसके प्रशंसकों ने भी शायद ही कल्पना की हो. उसने एक बेहद रोमांचक मैच में किंग्स इलेवन पंजाब (Kings XI Punjab) को 2 रन से हराया. केकेआर के नाम से लोकप्रिय कोलकाता की इस टीम ने 7 अक्टूबर को चेन्नई सुपरकिंग्स (Chennai Super Kings) को 10 रन से हराया था.

आईपीएल 2020 में अब तक 25 मैच हो चुके हैं. इनमें से कई मैच रोमांच की चरम तक पहुंचे. दो मैच तो टाई भी हुए, जिनके नतीजे के लिए सुपरओवर खेले गए. रोमांच के चरम के बीच दो मैच ऐसे भी रहे, जिन्हें उलटफेर के लिए जाना जाएगा. इनमें एक टीम ने लगभग हारी हुई बाजी को पलटकर खेल अपने नाम कर लिया. वह टीम केकेआर है. इसीलिए इरफान पठान (Irfan Pathan) जैसे दिग्गज तक यह कहने को मजबूर हो गए कि हारकर जीतने वाले को केकेआर कहते हैं.

किंग्स इलेवन की जेब से निकाल लाई जीत
केकेआर और किंग्स इलेवन पंजाब का मैच शनिवार को हुआ. केकेआर ने पहले बैटिंग कर 6 विकेट पर 164 रन बनाए. पंजाब ने इसके जवाब में 17 ओवर के बाद 1 विकेट पर 143 रन बना लिए थे. कप्तान केएल राहुल 70 और निकोलस पूरन 16 रन बनाकर नाबाद थे. किंग्स इलेवन को जीत के लिए आखिरी 18 गेंद पर 22 रन चाहिए थे और 9 विकेट बाकी थे. ऐसे में कोई और विरोधी टीम होती तो सरेंडर कर चुकी होती. लेकिन केकेआर इस बार अलग ही रूप में दिख रही है. उसने आखिरी 18 गेंदों में 8 डॉट फेंक दिए और इनमें से 4 में विकेट भी लिए.





केकेआर ने 18वें ओवर में सिर्फ 2 रन और 19वें ओवर में 6 रन दिए. किंग्स इलेवन को जीत के लिए आखिरी ओवर 14 रन चाहिए थे, लेकिन वह 11 रन ही बना सकी. इस तरह केकेआर ने लगभग हारा हुआ मैच 2 रन से जीत लिया. आखिरी तीन में से दो ओवर सुनील नरेन (Sunil Narine) ने फेंके. उन्होंने 18वें ओवर में प्रभसमिरन सिंह को लगातार तीन गेंदों पर रन नहीं बनाने दिए, जिससे पंजाब की टीम पर दबाव बढ़ गया.

3 दिन पहले धोनी से छीनी जीत
केकेआर ने तीन दिन पहले चेन्नई सुपरकिंग्स से भी ऐसी ही जीत छीनी थी, जिसमें उसकी हार तय नजर आ रही थी. कोलकाता की टीम ने 7 अक्टूबर को पहले बैटिंग करते हुए 167 रन बनाए. इसके जवाब में चेन्नई की टीम 20 ओवर में 5 विकेट पर 156 रन ही बना सकी. चेन्नई ने मैच में एक समय 12 ओवर में सिर्फ एक विकेट पर 99 रन बना लिए थे. तब उसे जीत के लिए 8 ओवर में 69 रन चाहिए थे और 9 विकेट बाकी थे. ऐसे में तीन बार की चैंपियन चेन्नई सुपरकिंग्स के लिए जीत पक्की मानी जा रही थी. चेन्नई को इसी तरह आखिरी 4 ओवर में 44 रन चाहिए थे और तब भी उसके 7 विकेट बाकी थे. केकेआर की हार पक्की लग रही थी, लेकिन उसने चेन्नई पर पलटवार करते हुए 10 रन से मैच जीत लिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज