ICC World Cup: दक्षिण अफ्रीकी टीम को लेकर बड़ा खुलासा, खराब प्रदर्शन की वजह रही ये 'डील'

वर्ल्ड कप 2019 में दक्षिण अफ्रीकी टीम के खराब प्रदर्शन ने हर किसी को हैरान कर दिया. अब इसकी वजह कोल्पाक डील बताई जा रही है, जिसके तहत खिलाड़ियों को काउंटी क्रिकेट में तरजीह मिलती है.

News18Hindi
Updated: July 8, 2019, 10:49 AM IST
ICC World Cup: दक्षिण अफ्रीकी टीम को लेकर बड़ा खुलासा, खराब प्रदर्शन की वजह रही ये 'डील'
दक्षिण अफ्रीकी टीम ने इस वर्ल्ड कप में नौ मैच खेले, जिनमें से पांच में उसे हार का सामना करना पड़ा
News18Hindi
Updated: July 8, 2019, 10:49 AM IST
जो टीम पिछले एक साल में एक भी वनडे सीरीज नहीं हारी. जिसने वर्ल्ड कप से पहले अपने 76 प्रतिशत मैच जीते. जिससे सेमीफाइनल में पहुंचने की उम्मीद की जा रही थी, वो टीम एक बार फिर चोकर्स ही साबित हुई. हम बात कर रहे हैं दक्षिण अफ्रीकी टीम की. पूरी उम्मीद थी कि इस बार टीम बेहतरीन प्रदर्शन करेगी, लेकिन इस बार भी हालात पहले जैसे ही रहे.

दक्षिण अफ्रीकी टीम ने इस वर्ल्ड कप में नौ मैच खेले, जिनमें से पांच में उसे हार का सामना करना पड़ा. तीन में उसे जीत मिली, जबकि एक मैच बेनतीजा रहा. हालांकि टीम साख की लड़ाई में अपने आखिरी लीग मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया को 10 रन से हराने में जरूर सफल रही. लेकिन दक्षिण अफ्रीका के खराब प्रदर्शन के पीछे सिर्फ खिलाड़ी नहीं बल्कि एक डील भी जिम्मेदार है.

चौंकिए नहीं, दरअसल इस डील का नाम है कोल्पाक डील, जिसके तहत खिलाड़ियों को काउंटी क्रिकेट में तरजीह मिलती है. कोल्पाक डील 2004 में हुई थी. ये दुनिया के 100 देशों के खिलाड़ियों को यूरोपियन यूनियन (ईयू) के किसी भी देश में जाकर खेलने की इजाजत देती है. खेल को नस्लीय रूप से न्यूट्रल बनाने के लिए अफ्रीकी देशों के खिलाड़ियों को कोल्पाक के तहत काउंटी खेलने के लिए बढ़ावा भी दिया जाता है. इसी वजह से अफ्रीकी खिलाड़ियों में कम उम्र में ही अपने देश के क्रिकेट से संन्यास लेकर कोल्पाक साइन कर फिर काउंटी खेलते रहने का ट्रेंड बढ़ा है.

icc, cricket, icc cricket world cup 2019, south africa cricket team, faf du plesis, आईसीसी, क्रिकेट, आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019, दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेट टीम, फाफ डु प्लेसी, कोल्पाक डील, kolpak deal
कोल्पाक डील साइन करने वाले खिलाड़ियों में मोर्ने मोर्कल का नाम भी शामिल है.


ब्रेग्जिट के बाद पकड़ा जोर

ब्रेग्जिट के बाद इसमें और जोर आया. कोल्पाक के फायदों में ब्रिटेन की बेहतर लाइफस्टाइल, काउंटी का सालाना कॉन्ट्रैक्ट, प्रदर्शन का कम दबाव और फाइनेंशियल सिक्योरिटी तो शामिल है ही, साथ ही कोल्पाक डील के तहत काउंटी खेलने वालों को वहां डोमेस्टिक प्लेयर का दर्जा भी मिलता है. कोल्पाक डील साइन करने की आसान सी शर्तें हैं. इसके तहत खिलाड़ी की उम्र 18 साल से ज्यादा हो और उसने इंटरनेशनल लेवल पर क्रिकेट खेला हो.

15 साल में दक्षिण अफ्रीका के 44 खिलाड़ी कोल्पाक डील साइन कर चुके
Loading...

15 साल में द. अफ्रीका के 44 खिलाड़ी कोल्पाक डील साइन कर चुके हैं. 2010 से 2016 तक छह अफ्रीकी खिलाड़ियों ने डील साइन की, जबकि 2016 से अब तक तीन साल में 12 खिलाड़ी ये डील साइन कर चुके हैं। हाल ही में द. अफ्रीका के दिग्गज बल्लेबाज एबी डीविलियर्स ने जब करिअर के शीर्ष पर रहते हुए अचानक संन्यास ले लिया तब भी यही कयास लगाए गए कि वे अब कोल्पाक साइन कर सकते हैं, लेकिन अभी उन्होंने ऐसा कुछ नहीं किया है.

ये मुख्य खिलाड़ी शामिल : वेन पार्नेल, मॉर्ने मॉर्केल, रिले रॉस, काइल एबॉट, आंद्रे नेल

वर्ल्ड कप 2019: रोहित और राहुल ने रनों का पहाड़ खड़ा कर तोड़ डाले दिग्गजों के रिकॉर्ड
World Cup: पहले सेमीफाइनल में भारत का मुकाबला न्यूजीलैंड से, दूसरे में इंग्लैंड-ऑस्ट्रेलिया के बीच होगी भिड़ंत
First published: July 8, 2019, 9:36 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...