• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • कुलदीप यादव विकेट के पीछे महसूस कर रहे धोनी की कमी, बोले- मैं उनका मार्गदर्शन मिस करता हूं

कुलदीप यादव विकेट के पीछे महसूस कर रहे धोनी की कमी, बोले- मैं उनका मार्गदर्शन मिस करता हूं

कुलदीप यादव पिछले काफी वक्त से फॉर्म में नहीं हैं. (Yuzvendra Chahal/Instagram)

कुलदीप यादव पिछले काफी वक्त से फॉर्म में नहीं हैं. (Yuzvendra Chahal/Instagram)

कुलदीप यादव (Kuldeep Yadav) और युजवेंद्र चहल (Yuzvendra Chahal) पहले भी कई मौकों पर अपनी विकेटों को श्रेय महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) को देते रहे हैं.

  • Share this:
    नई दिल्ली. भारत के 'चाइनामैन' गेंदबाज कुलदीप यादव (Kuldeep Yadav) किसी वक्त पर क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में नंबर 1 स्पिनर की पसंद थे, लेकिन पिछले छह महीने से उन्हें काफी मुश्किल वक्त देखना पड़ रहा है. कुलदीप यादव अब भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य सदस्य नहीं रहे हैं. उन्होंने पिछले काफी वक्त में सिर्फ दो वनडे और एक टेस्ट मैच भारत के लिए खेला है. अपने चरम पर, कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल (Yuzvendra Chahal) की जोड़ी को 'कुलचा' नाम से जाना था. इन दोनों खिलाड़ियों ने टीम इंडिया के लिए सीमित ओवरों के क्रिकेट में जमकर विकेट निकाले हैं और कई बड़े कारनामे किए हैं.

    भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के चयनकर्ताओं को फिलहाल प्रभावित नहीं कर पा रहे कुलदीप यादव का कहना है कि वह धोनी की कमी को महसूस करते हैं, जो विकेट के पीछे से लगातार उनका मार्गदर्शन करते रहते थे. धोनी भारतीय क्रिकेट टीम में हर किसी के मेंटर थे, खासकर गेंदबाजों को उनसे काफी लाभ मिलता था. कुलदीप यादव और युजवेंद्र पहले भी कई मौकों पर अपनी विकेटों को श्रेय महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) को देते रहे हैं.

    भुवनेश्वर कुमार को इंग्लैंड दौरे पर नहीं चुनने की वजह आई सामने, चयनकर्ता इस बात से थे चिंतित

    कुलदीप यादव ने इंडियन एक्सप्रेस के साथ बातचीत में कहा कि वह स्टम्प्स के पीछे धोनी की गैरमौजूदगी को महसूस करते हैं. उन्होंने कहा, ''कभी-कभी उनके मार्गदर्शन की कमी महसूस करता हूं, क्योंकि धोनी का अनुभव काफी ज्यादा है. वह विकेट के पीछे से लगातार हमारा मार्गदर्शन करते रहते थे. वह लगातार चिल्लाते रहते थे. हम उस अनुभव की कमी को महसूस करते हैं. अब विकेट के पीछे ऋषभ पंत हैं. वह जितना ज्यादा खेलेंगे, भविष्य में उतना ज्यादा मार्गदर्शन कर पाएंगे. मुझे हमेशा लगता है कि गेंदबाज को एक पार्टनर की जरूरत होती है, जो दूसरे सिरे से जवाब दे सके.''

    कुलदीप यादव उस वक्त सुर्खियों में आए थे, जब धोनी रिटायर नहीं हुए थे. उस वक्त कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल एक साथ खेल रहे थे. कुलदीप यादव ने आगे कहा, ''जब माही भाई वहां थे, मैं और चहल खेल रहे थे. जब से माही भाई गए हैं, मैं और चहल एक साथ नहीं खेले. माही भाई के जाने के बाद मुझे कुछ ही मैच खेलने का मौका मिला. मैं कई मैच खेले हैं. मैंने हैट्रिक भी ली. अगर आप ओवरऑल परफॉर्मेंस देखें तो यह ठीक है. लेकिन अगर मेरे परफॉर्मेंस को कोई तोड़ के देखे तो कई बार यह बहुत अच्छी नहीं है. जिस विपक्ष के खिलाफ हम खेल रहे हैं, उसे भी देखना होगा.''

    इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के पिछले दो सीजन भी कुलदीप यादव के लिए यादगार नहीं रहे हैं. कुलदीप ने आईपीएल 2019 और 2020 में कुल 14 मैच खेले. 2021 में उन्हें एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला. वहीं. आईपीएल 2017 में उन्होंने 12 और आईपीएल 2018 में उन्होंने 16 मैच दो बार की चैंपियन कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए खेले थे.

    IND vs SL: श्रीलंका दौरे के लिए कप्तानी की दौड़ में शिखर के साथ हार्दिक भी शामिल

    इंग्लैंड दौरे पर चयनकर्ता कुलदीप यादव को अनदेखा कर सकते हैं, लेकिन पूर्व विकेटकीपर दीप दासगुप्ता का कहना है कि रिस्ट स्पिनर का कौशल अद्वितीय था और उन्हें कुछ समर्थन की आवश्यकता थी. दीप दासगुप्ता ने कहा, ''लेकिन मैं थोड़ा हैरान हूं. जाहिर है, उसका ग्राफ नीचे चला गया है, उनकी परफॉर्में नीचे चली गई है. लेकिन मुझे अभी भी यकीन है कि उनकी स्किल सबसे अलग है. हमें उन्हें अभी मौका देने चाहिए. मैं समझ सकता हूं कि अपनी परफॉर्मेंस की वजह से टीम और प्लेइंग इलेवन का हिस्सा नहीं बन पा रहे हैं. मुझे यकीन है. वह युवा हैं और उनमें अभी बहुत सा क्रिकेट बचा हुआ है. उन्हें ऐसे लड़खड़ाते हुए नहीं छोड़ देना चाहिए. उन्हें उनका खेल खेलने देना चाहिए. हमें उन्हें सपोर्ट करना चाहिए.''

    विराट कोहली, रोहित शर्मा और रवि शास्त्री के साथ कुलदीप यादव ने बातचीत की है. उन्होंने कहा कि ये सभी मुझे मोटिवेट करते हैं, लेकिन टीम कॉम्बिनेशन ऐसा नहीं था, जिसमें मैं जगह बना सकता था.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज