Home /News /sports /

नई IPL Team को लेकर विवाद बढ़ा, BCCI पर निशाना, क्या सट्टेबाजी करने वाली कंपनियां भी खरीद सकती हैं IPL टीमें?

नई IPL Team को लेकर विवाद बढ़ा, BCCI पर निशाना, क्या सट्टेबाजी करने वाली कंपनियां भी खरीद सकती हैं IPL टीमें?

IPL 2022 Team Auction: अगले सीजन से आईपीएल में 8 की जगह 10 टीमें उतरेंगी.

IPL 2022 Team Auction: अगले सीजन से आईपीएल में 8 की जगह 10 टीमें उतरेंगी.

आईपीएल के पूर्व चेयरमैन ललित मोदी ने बीसीसीआई पर निशाना साधा है. उन्होंने बोर्ड पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि - क्या सट्टेबाजी करने वाली कंपनियां भी IPL टीमें खरीद सकती हैं ? अहमदाबाद फ्रेंचाइजी को खरीदने वाली सीवीसी कैपिटल द्वारा सट्टेबाजी और जुआ कंपनियों में निवेश का विवाद तूल पकड़ रहा है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली . दो नई आईपीएल टीम के मालिकों को लेकर विवाद बढ़ता नजर आ रहा है. इस मामले में अब आईपीएल के पूर्व चेयरमैन ललित मोदी ने बीसीसीआई पर निशाना साधा है. उन्होंने बोर्ड पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि – क्या सट्टेबाजी करने वाली कंपनियां भी IPL टीमें खरीद सकती हैं ?

    भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) ने 2022 से नई आईपीएल टीमों के मालिक के रूप में आरपीएसजी वेंचर्स लिमिटेड ( RPSG Ventures Limited ) और इरेलिया कंपनी पीटीई लिमिटेड Irelia Company Pte Ltd. (CVC Capital Partners) को नामित किया है. आरपीएसजी ग्रुप ने 7,090 करोड़ रुपये का भुगतान करके लखनऊ फ्रेंचाइजी हासिल की, जबकि सीवीसी कैपिटल ने अहमदाबाद फ्रेंचाइजी जीतने के लिए दूसरी सबसे बड़ी बोली (5,600 करोड़ रुपये) लगाई.

    ललित मोदी ने किया ट्वीट
    भारतीय क्रिकेट बोर्ड की घोषणा के तुरंत बाद, ललित मोदी ने BCCI को निशाना बनाते हुए ट्वीट किया. उन्होंने लिखा कि “मुझे लगता है कि सट्टेबाजी कंपनियां आईपीएल टीम खरीद सकती हैं. एक नया नियम होना चाहिए. जाहिर है, एक योग्य बोली लगाने वाला भी एक बड़ी सट्टेबाजी कंपनी का मालिक है. आगे क्या? क्या बीसीसीआई अपना होमवर्क नहीं करता है? ऐसे मामले में Anti-corruption क्या कर सकता है? “

    सीवीसी कैपिटल जांच के दायरे में – रिपोर्ट
    Outlook ने अपनी एक रिपोर्ट में दावा किया है कि, “सट्टेबाजी कंपनियों के साथ संबंधों के लिए सीवीसी कैपिटल जांच के दायरे में है.” इस रिपोर्ट के बाद आइपीएल की नई टीम अहमदाबाद फ्रेंचाइजी की बोली जीतने वाली सीवीसी कैपिटल विवादों में आ गई है.

    रिपोर्ट के अनुसार, बीसीसीआइ का ध्यान सीवीसी कैपिटल की व्यापारिक गतिविधियों पर पड़ा. लेकिन यह आश्चर्य की बात है कि सोमवार को financials ओपन होने से पहले “verification stage” में इस पर ध्यान नहीं दिया गया.

    सट्टेबाजी और जुआ कंपनियों में भारी निवेश 
    सीवीसी कैपिटल पार्टनर्स सट्टेबाजी कंपनियों के साथ अपने संबंधों को लेकर लिए मुश्किल में पड़ गया है. रिपोर्ट के मुताबिक,  सीवीसी कैपिटल ने सट्टेबाजी और जुआ कंपनियों में भारी निवेश किया है.”

    साल 2013 में मैच फिक्सिंग और सट्टेबाजी के कारण आईपीएल की काफी बदनामी हुई थी. इसी वजह से चेन्नई सुपरकिंग्स और राजस्थान रायल्स पर दो संस्करणों के लिए प्रतिबंध लगाया गया था.  इस मामले में कई मीडिया संस्थानों ने बीसीसीआई से बात करने कि कोशिश की लेकिन बोर्ड ने अभी इस पर कोई कमेंट नहीं किया है.

    Tags: Auction ipl 2021, IPL, IPL 2021 Auction, IPL 2022 Auction, IPL Auction

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर