अभी भी टी20 क्रिकेट के 'किंग' हैं महेंद्र सिंह धोनी, ये है वजह

2006 से लेकर अब तक धोनी ने 93 मैच खेले हैं, जिसमें से 72 मैच में वो कप्‍तान रहे हैं और वह सबसे अधिक मैचों में कप्‍तानी का वर्ल्‍ड रिकॉर्ड रखते हैं.

News18Hindi
Updated: November 4, 2018, 5:09 PM IST
अभी भी टी20 क्रिकेट के 'किंग' हैं महेंद्र सिंह धोनी, ये है वजह
महेंद्र सिहं धोनी
News18Hindi
Updated: November 4, 2018, 5:09 PM IST
टीम इंडिया को 2007 टी20 वर्ल्‍ड कप का खिताब दिलाने वाले महेंद्र सिंह धोनी को बीसीसीआई की चयन समिति ने वेस्‍टइंडीज और ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ होने वाली टी20 सीरीज से बाहर कर दिया है, जो कि निजी तौर पर धोनी के करियर पर एक दाग की तरह है. आखिर जिस खिलाड़ी ने भारतीय क्रिकेट को अपनी शर्तों पर बुलंदियों पर पहुंचाया हो उसके साथ ऐसी घटना होना अपने आप में अनोखी बात है.

धोनी और टी20 क्रिकेट
टी20 क्रिकेट में बतौर कप्‍तान धोनी के आंकड़े न सिर्फ प्रतिद्वंद्वियों बल्कि दुनियाभर के क्रिकेट प्रशंसकों की आंखें चकाचौंध कर देते हैं. भारत ने अपना पहला टी20 मैच दिसंबर 2006 में साउथ अफ्रीका के साथ जोहानिसबर्ग में खेला था, जिसमें में धोनी भी शामिल थे. सहवाग की कप्‍तानी में खेले गए मैच में धोनी बल्‍लेबाज़ के तौर पर असफल रहे थे तो विकेटकीपर के तौर पर एबी डीविलियर्स का कैच पकड़ा था.इसके बाद माही के जीवन में जबर्दस्‍त मोड़ आया.

जब भारत और धोनी अपना दूसरा टी20 मैच खेलने उतरे तो टीम की कमान रांची जैसे छोटे शहर से आने वाले युवा के हाथों में ही थी. 2007 टी20 वर्ल्‍ड कप में यह भारत का पहला मैच था और मुकाबला था स्‍कॉटलैंड से, लेकिन बारिश की वजह से यह मैच बिना कोई गेंद फेंके रद्द हो गया. जबकि 24 सितंबर 2007 को टीम इंडिया के चैंपियन बनने के साथ ही दुनिया में एक स्‍टार का जन्‍म हुआ और वो नाम था धोनी. यकीनन इस जीत ने तय कर दिया था कि आने वाले सालों में शांत स्‍वभाव वाले धोनी का दबदबा भारतीय क्रिकेट में नजर आएगा और ऐसा ही हुआ. टेस्‍ट क्रिकेट में टीम इंडिया को लीड करते हुए शानदार मुकाम दिलाने वाले धोनी ने वनडे क्रिकेट में 2011 वर्ल्‍ड कप और 2013 चैंपियंस ट्रॉफी का खिताब दिलाकर अपनी 'बादशाहत' का बिगुल बजाया है.

महेंद्र सिंह धोनी




सच कहा जाए तो इसके ( 2007 टी20 वर्ल्‍ड कप) बाद धोनी ने पीछे मुड़कर नहीं देखा. हालांकि बतौर कप्‍तान वह टीम को दूसरी बार वर्ल्‍ड कप चैंपियन नहीं बना सके और उनका बांग्‍लादेश में 2014 में खेले गए टी20 वर्ल्‍ड कप में श्रीलंका ने सपना तोड़ दिया था. बावजूद इसके टीम को फाइनल में ले जाना भी कोई मामूली बात नहीं होती.

महेंद्र सिंह धोनी-विराट कोहली

Loading...

जबकि 2006 से लेकर अब तक धोनी ने 93 मैच खेले हैं, जिसमें से 72 मैच में वो कप्‍तान रहे हैं और वह सबसे अधिक मैचों में कप्‍तानी का वर्ल्‍ड रिकॉर्ड रखते हैं. धोनी की कप्‍तानी में भारत ने 41 मैच जीते हैं तो 28 में उसे हार मिली है. जबकि एक मैच टाई रहा है तो दो मैच का कोई रिजल्‍ट नहीं आया. उनका सफलता प्रतिशत 59.28 है और यह 50 से ज्‍यादा मैचों में कप्‍तानी करने वालों में सर्वोच्‍च है.

महेंद्र सिंह धोनी


बतौर बल्‍लेबाज़ फीके रहे धोनी
धोनी ने 93 मैचों में 37.17 के औसत और 127.09 के स्‍ट्राइक रेट से 1487 रन बनाए हैं, जिसमें दो अर्धतशक शामिल हैं. जबकि बतौर कप्‍तान उन्‍होंने 72 मैचों में 37.06 के औसत से 1112 रन बनाए और इस दौरान उनका सर्वोच्‍च स्‍कोर 48 रन रहा. देखा जाए तो धोनी के बतौर बल्‍लेबाज़ आंकड़े बहुत अच्‍छे नहीं हैं, लेकिन वह अक्‍सर पांचवें या फिर उससे निचले पायदान पर ही बल्‍लेबाजी करने आते थे. हालांकि कई बार उनकी रन बनाने की काबिलियत पर भी सवाल उठे थे. वैसे मजेदार बात ये भी कि धोनी ने विराट कोहली की कप्‍तानी में 16 मैचों में 40 के औसत से 280 और रोहित की कप्‍तानी में खेले चार मैचों में 47.50 के औसत से 95 रन बनाए हैं.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...