डेब्यू के दिन कमरे में जाकर जमकर रोया था यह क्रिकेटर, सालों बाद भी है इस बात का अफसोस

मनोत तिवारी ने डेब्यू को लेकर किया खुलासा

बंगाल के क्रिकेटर मनोज तिवारी (Manoj Tiwary) ने साल 2008 में ऑस्ट्रेलिया में वनडे डेब्यू किया लेकिन वह कभी टेस्ट नहीं खेल पाए

  • Share this:
    नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेटर मनोज तिवारी (Manoj Tiwari) इन दिनों क्रिकेट से दूर हैं. साल 2015 के बाद से वह भारतीय टीम से बाहर हैं वहीं वह पिछले आईपीएल (IPL) सीजन का भी हिस्सा नहीं थे. मनोज तिवारी ने हाल ही में एक इंटरव्यू में अपने टेस्ट डेब्यू के बारे में बात करते हुए बताया कि जिस दिन उन्हें डेब्यू करना था वह अपने होटल के कमरे में जाकर बहुत रोए थे. इस घटना को लगभग 13 साल हो गए हैं लेकिन आज भी उन्हें  एक अफसोस है.

    डेब्यू न करने पर रोए थे मनोज तिवारी
    मनोज तिवारी ने स्पोर्ट्स कीड़ा से बातचीत में बताया कि साल 2007 में उन्हें बांग्लादेश के खिलाफ टेस्ट डेब्यू करने का मौका मिला था. वह टीम के साथ बांग्लादेश तो गए लेकिन मैच में हिस्सा नहीं ले पाए. फील्डिंग के अभ्यास के दौरान उनका कंधा डिस्लोकेट हो गया था और वह हिस्सा नहीं ले पाए थे. मनोज तिवारी ने कहा, 'मैं शानदार फॉर्म और रिदम में था लेकिन मैं इंजरी के कारण मैच खेल नहीं पाया. उस दिन मैं होटल रूम गया और बहुत रोया था.'

    ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ किया था डेब्यू
    इसके बाद साल 2008 में फरवरी में मनोज तिवारी को आखिरकार ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ डेब्यू का मौका मिला. ऑस्ट्रेलिया में हो रही ट्राई सीरीज के लिए उन्हें टीम में मौका दिया गया. हालांकि ब्रिस्बेन में अपने डेब्यू मैच में ह महज दो रन बनाकर ब्रेट ली की गेंद पर आउट हो गए थे. इसके बाद उन्हें वापसी करने में तीन साल लग गए. साल 2011 में वह वेस्टइंडीज के चेन्नई वनडे के हीरो साबित हुए थे. तिवारी ने 2011 में चेन्‍नई में वेस्‍टइंडीज के खिलाफ नाबाद 104 रन की विजयी पारी खेली थी. हालांकि इसके बाद अगले ही मैच में उन्हें टीम से बाहर कर दिया गया. मनोज तिवारी ने कहा कि मैंने कभी सोचा नहीं था कि अपने देश के लिए शतक बनाने के बाद और मैन ऑफ द मैच जीतने के बाद मैं अगले 14 मैचों के लिए बाहर हो जाऊंगा. तिवारी को टीम इंडिया (Team India) की तरफ से वापस खेलने का मौका आठ महीने बाद मिला था.

    2015 से टीम में बाहर हैं मनोज तिवारी
    इसके बाद भारत 2012 में श्रीलंका दौरे पर गई थी. उन्‍होंने उस मैच में 21 रन बनाए थे और फिर इसके बाद अर्धशतक जड़ा था. हालांकि इसके बाद उन्‍हें फिर से दो साल के लिए टीम से बाहर कर दिया गया. 2015 में जिम्‍बाब्‍वें के खिलाफ वनडे सीरीज में उनकी वापसी हुई. इसके बाद से वह टीम से बाहर ही हैं.

    मनोज तिवारी ने अपने वनडे करियर में 12 मैच खेले जिसमें उन्होंने 26.09 की औसत से 287 रन बनाए. वहीं उन्होंने तीन टी20 मैच भी खेले. साल 2015 के बाद से वह टीम में वापसी नहीं कर पाए हैं वहीं 2018 के बाद से आईपीएल भी नहीं खेले हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.