लाइव टीवी

संडे स्पेशल: इन खिलाड़ियों पर हुए हैं वायरस अटैक, हर पल रहता है करियर तबाह होने का खतरा!

News18Hindi
Updated: April 5, 2020, 7:39 AM IST
संडे स्पेशल: इन खिलाड़ियों पर हुए हैं वायरस अटैक, हर पल रहता है करियर तबाह होने का खतरा!
जब खिलाड़ियों पर हुआ वायरस अटैक!

कोरोना वायरस (Coronavirus) ने इस वक्त दुनिया में कोहराम सा मचाया हुआ है, लेकिन क्या आप जानते हैं एक खिलाड़ी जब भी मैदान में उतरता है तो उसपर हर पल वायरस अटैक का खतरा होता है...

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस... एक ऐसी महामारी जिसने पूरी दुनिया में कोहराम सा मचाया हुआ है. करीब 12 लाख लोगों को कोरोना वायरस हो चुका है और अबतक 60 हजार से ज्यादा लोग अपनी जान गंवा चुके हैं. ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, स्पेन और इटली जैसे देशों में इस वायरस (COVID 19) ने खूब तबाही मचाई है. भारत और दूसरे एशियाई मुल्कों में भी इसका खूब असर है. खेल की दुनिया पर भी इस महामारी ने असर डाला है. सभी टूर्नामेंट स्थगित या रद्द हो चुके हैं. कई बड़े खिलाड़ी भी कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके हैं. वैसे आपको बता दें खिलाड़ियों को हर पल वायरस से खतरा रहता है. वो जब-जब मैदान में उतरते हैं उनपर कभी भी वायरस अटैक हो सकता है और ये हमला इतना खतरनाक होता है कि खिलाड़ियों का करियर तक खत्म हो सकता है. आज संडे स्पेशल में आज हम आपको बताएंगे कुछ ऐसे खिलाड़ियों के बारे में जिनपर वायरस अटैक हुए हैं. साथ ही आपको ऐसे वायरस की जानकारी भी देंगे जिनसे हर पल खिलाड़ियों को गंभीर बीमारियां होने की आशंका बनी रहती है.

वायरस की वजह से मार्क गिलेस्पी का हाथ चलना बंद हो गया था


जब इस गेंदबाज का हाथ चलना अचानक हुआ बंद
साल 2007, आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप आयोजन वेस्टइंडीज में था. न्यूजीलैंड की मजबूत टीम कैरेबियाई सरजमीं पर कदम रख चुकी थी. उनकी गेंदबाजी यूनिट का एक अहम हिस्सा थे मार्क गिलेस्पी (Mark Gillespie) लेकिन उनके साथ एक ऐसी घटना हुई कि किसी को यकीन नहीं हुआ. मार्क गिलेस्पी वेस्टइंडीज की धरती पर पहुंचे ही थे कि उनका हाथ चलना बंद हो गया. मार्क गिलेस्पी अपने दाएं हाथ को ना तो हिला पा रहे थे ना ही वो उसपर कुछ महसूस कर पा रहे थे. गिलेस्पी के साथ अचानक ये क्या हुआ? ये सब देख खुद वो भी हैरान थे लेकिन जब डॉक्टरों के पास गए तो उन्होंने बताया कि गिलेस्पी पर वायरस अटैक हुआ है. दरअसल गिलेस्पी को गले के वायरस से रिएक्शन हो गया और उनके दाएं हाथ ने ही काम करना बंद कर दिया.



गिलेस्पी ने खुद पर हुए वायरस अटैक पर बताया था, 'मैं जब लॉस एंजेलिस एयरपोर्ट पर रुका था तो मैं नहाने गया. मैं बालों पर शैंपू लगा रहा था कि अचानक मेरे हाथ ने काम करना बंद किया. मुझे इससे पहले ऐसा कभी महसूस नहीं हुआ था.' इसके बाद जब डॉक्टरों ने गिलेस्पी को इंजेक्शन दिया तब जाकर वो ठीक हुए. हालांकि इस वायरस इंफेक्शन की वजह से वो वर्ल्ड कप के दो मैच नहीं खेल सके.



वर्ल्ड कप के दौरान वायरस का शिकार हुए मियांदाद
पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर जावेद मियांदाद (Javed Miandad) भी एक अजीबोगरीब वायरस का शिकार हुए थे. जावेद मियांदाद ने हाल ही में खुलासा किया था कि 1992 वर्ल्ड के दौरान उनपर वायरस का ऐसा अटैक हुआ कि उन्हें काफी ज्यादा पसीना आने लगा. जावेद मियांदाद वर्ल्ड कप फाइनल के दौरान बल्लेबाजी तक नहीं कर पा रहे थे. उन्होंने अपने यू-ट्यूब चैनल पर लोगों को इसके बारे में बताया.

If cricketers are concerned about hairstyles, movies are the right place, Javed Miandad, cricket news, pakistan cricket team, क्रिकेट न्यूज, खेल, जावेद मियांदाद, पाकिस्तान क्रिकेट टीम
जावेद मियांदाद भी हुए थे अजीबोगरीब वायरस से पीड़ित


मियांदाद ने कहा, ' बल्लेबाजी के दौरान मैं काफी असहज स्थिति में था. मैं वायरल इंफेक्शन से पीड़ित था, जिससे मेरी रनिंग पर असर पड़ रहा था. अगर आपको ठीक से याद हो तो मैं पारी के अंत में अपने शॉट तक नहीं लगा पा रहा था. मैं समझ नहीं पा रहा था कि मुझे क्या हुआ है. मुझे कोई अजीबोगरीब वायरस हो गया था, जिसकी वजह से मुझे बेहद पसीना आता था. मैंने डॉक्टरों से भी बात की. पारी के अंत तक तो मेरी स्थिति ऐसी थी कि मैं सिर्फ खड़ा ही था, शॉट नहीं लगा पा रहा था.'

इंफेक्शन से हुई थी ओलिंपिक गोल्ड मेडलिस्ट की मौत
बता दें सिर्फ वायरस ही नहीं खिलाड़ियों को मैदान पर बैक्टीरिया से भी जानलेवा खतरा होता है. साल 2010 में लंदन ओलिंपिक के दौरान दो बार के ओलिंपिक गोल्ड मेडलिस्ट रोअर एंडी होम्स (Andy Holmes) की मौत हो गई. एंडी होम्स को वेल रोग हुआ था. ये रोग एक बैक्टीरिया के जरिए फैलता है जो कि पानी के जरिए या किसी जानवर के पेशाब के संपर्क में आने से होता है. इस रोग में किडनी और लिवर काम करना बंद कर देते हैं और मौत भी हो जाती है. एंडी होम्स को पूर्वी इंग्लैंड में वेल रोग हो गया था.

दो बार के ओलिंपिक गोल्ड मेडलिस्ट थे एंडी होम्स


इन बीमारियों से होता है खिलाड़ियों को खतरा
1. इंपेटिगो: ये एक तरह का चर्म रोग होता है जिसकी मुख्य वजह बैक्टीरिया होता है. इस रोग में सबसे पहले मुंह और नाक में लाल निशान बन जाते हैं. अगर कोई खिलाड़ी इस रोग से पीड़ित है और कोई दूसरा खिलाड़ी उसे छूता है या उसका तौलिया, रेजर, उसका सामान, मोबाइनल फोन इस्तेमाल करता है तो उसे भी ये रोग होने की आशंका रहती है.

2. हरपीज ग्लैडीएटोरियम: ये बीमारी HSV-1 वायरस से फैलती है. ये वही वायरस है जिससे सर्दी और गला बंद होता है. इस वायरस से आपके शरीर पर कहीं भी लाल दाद जैसे निशान बन जाते हैं. अगर किसी खिलाड़ी को ये होता है तो ये बहुत जल्दी फैलता है. जिन खेलों में विरोधी को छूना या पकड़ना होता है उनमें इस वायरस के फैलने की आशंका रहती है.

3. MRSA: ये भी एक तरह की त्वचा से जुड़ी बीमारी है जो कि पीड़ित व्यक्ति को छूने से फैलती है. पीड़ित व्यक्ति का सामान इस्तेमाल करने से भी ये बीमारी फैल जाती है. ऐसे में वो खिलाड़ी जिन्हें खेल के दौरान सीधे शारीरिक संपर्क करना होता है तो उन्हें इससे सीधे तौर पर खतरा होता है.

मुश्किल में फंसे ECB की मदद के लिए आगे आए खिलाड़ी, वेतन में कटौती के लिए तैयार

मयंती लैंगर ने पाकिस्तानी खिलाड़ियों को लगाई डांट, मैदान पर कर रहे थे बदतमीजी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य खेल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 5, 2020, 6:15 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading