कोच का दावा: मयंक अग्रवाल मानसिक तौर पर परेशान, भारतीय Playing 11 से निकलने का असर!

बचपन के कोच का दावा-मयंक अग्रवाल को खुद पर शक हो गया था (फोटो-एएफपी)

बचपन के कोच का दावा-मयंक अग्रवाल को खुद पर शक हो गया था (फोटो-एएफपी)

मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) के बचपन के कोच आर एक्स मुरली ने एक इंटरव्यू में कहा कि ऑस्ट्रेलिया दौरे पर फ्लॉप होने के बाद ये क्रिकेटर मानसिक तौर पर परेशान हो गया था और ये परेशानी अब भी जानरी है.

  • Share this:

नई दिल्ली. टीम इंडिया के ओपनिंग बल्लेबाज मयंक अग्रवाल Mayank Agarwal) के लिए पिछला एक साल कुछ खास नहीं रहा है. साल 2018 में हीरो बनकर उभरे मयंक अग्रवाल के लिए टेस्ट टीम की प्लेइंग इलेवन में जगह बनाना मुश्किल हो गया है. करियर की बेहतरीन शुरुआत के बाद भी मयंक अग्रवाल को महज कुछ नाकामियों के बाद ये सब झेलना पड़ रहा है जिसकी वजह से वो मानसिक तौर पर परेशान हैं. ये दावा खुद मयंक अग्रवाल के बचपन के कोच आर एक्स मुरली ने किया है.

आर एक्स मुरली ने इनसाइड स्पोर्ट से बातचीत में कहा कि मयंक अग्रवाल अब भी पूरी तरह से मानसिक परेशानी से नहीं उबरे हैं. बता दें मयंक अग्रवाल इस वक्त मुंबई में बीसीसीआई के बायो बबल में हैं वो टीम इंडिया के साथ 2 जून को इंग्लैंड दौरे पर रवाना होंगे. इंग्लैंड में भारत को वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल और फिर पांच टेस्ट मैचों की सीरीज खेलनी है.

खुद पर शक करने लगे थे मयंक!

आर एक्स मुरली ने खुलासा किया कि ऑस्ट्रेलिया दौरे के बाद मयंक अग्रवाल को खुद पर शक होने लगा था. उन्होंने कहा, 'सब कुछ आपकी सोच पर निर्भर करता है. अगर कुछ सही नहीं होता है तो आपके दिमाग में दो तरह की बातें आने लगती हैं. आप अपनी मानसिक स्थिति का संतुलन गंवाने लगते हो. आप हर चीज पर शक करने लगते हो, यही मयंक अग्रवाल के साथ भी हुआ.' आर एक्स मुरली ने आगे कहा, 'हर खिलाड़ी में काफी घबराहट होती है. खेल में आप कामयाबी से ज्यादा नाकामी देखते हो. जब आप फेल होने से डरने लगते हो और आपको पता होता है कि टीम में काफी ज्यादा प्रतिस्पर्धा है तो एक नाकामी आपको प्रक्रिया से हटा देती है. ऑस्ट्रेलिया सीरीज के बाद मयंक अग्रवाल ने अपनी मानसिक स्थिति पर ही काम किया है और उन्होंने आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन किया.'
WTC Final: मुंबई में जन्मा था न्यूजीलैंड का क्रिकेटर, अब बोला- अपने भारत के खिलाफ खेलना मुश्किल

मयंक अग्रवाल ने आईपीएल 2021 में खेले 7 मैचों में 43.33 की औसत से 260 रन बनाए. उनका स्ट्राइक रेट भी 140 से ऊपर रहा. मयंक अग्रवाल इंग्लैंड दौरे से पहले लय में आ गए हैं, अब देखना ये है कि टीम इंडिया उन्हें प्लेइंग इलेवन में मौका देती है या नहीं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज