शोएब अख्तर ने कहा- यह किसी के चाचा की टीम नहीं, जो हर फॉर्मेट में ओपनिंग करोगे

पाकिस्तान ने पिछले दिनों टेस्ट और टी20 दोनों सीरीज जीती. (PCB Twitter)

पाकिस्तान ने पिछले दिनों टेस्ट और टी20 दोनों सीरीज जीती. (PCB Twitter)

पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) ने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) की सेलेक्शन पॉलिसी काे लेकर सवाल उठाए हैं. उन्होंने कहा कि खिलाड़ियों को उनके रोल के बारे में बताना होगा, नहीं तो आगे टीम के प्रदर्शन में गिरावट आएगी.

  • Share this:

नई दिल्ली. पाकिस्तान का पिछले दिनों प्रदर्शन काफी अच्छा रहा है. जिम्बाब्वे के खिलाफ टीम ने टेस्ट और टी20 दोनों सीरीज जीती. इसके बाद भी पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) टीम चयन से अधिक प्रभावित नहीं हैं. उन्होंने कहा कि नेशनल टीम के चयन को हल्के में नहीं लेना चाहिए. उन्होंने विकेटकीपर बल्लेबाज मोहम्मद रिजवान (Mohammad Rizwan) भी सवाल उठाए.

शोएब अख्तर ने पाकिस्तान के एक टीवी चैनल से बातचीत में कहा कि जब तक टीम जीत रही है, तो कोई अन्याय नहीं है. अगर कोई खिलाड़ी बाहर भी होता है, तो ठीक है. एक सीरीज चल रही थी, इसलिए उस समय आलोचना करना जरूरी नहीं था. हम उनका समर्थन करते हैं, ताकि वे सही फैसले ले सकें. अब सीरीज खत्म हो गई है इसलिए मैं कहता हूं कि इस तरह की क्रिकेट मत खेलो, यह स्वीकार्य नहीं है. अगर इस तरह चलता रहा, तो आपके खेल में जल्द ही गिरावट आएगी.

मोहम्मद रिजवान को लेकर शोएब अख्तर ने जताई निराशा

पूर्व पाकिस्तानी तेज गेंदबाज ने कहा कि आपको यह नहीं पता कि मोहम्मद रिजवान के साथ क्या करना है और रिजवान को भी सोचना पड़ेगा. यह किसी के चाचा की टीम नहीं है जो आप हर फॉर्मेट में ओपन कर सकते हो. आपको टीम द्वारा मिली भूमिका में ढलना होगा. यह साधारण सी बात है, अगर आप ऐसा नहीं कर पाते हो, तो बाहर का रास्ता है. आप जा सकते हैं. उनका चयन ही मत करो.
यह भी पढ़ें: बॉल टेंपरिंग में अपने बयान से पलटे कैमरन बैनक्रॉफ्ट, बोले- मेरे पास नई जानकारी नहीं

नई जरूरत के हिसाब से खुद काे ढालना होगा

शोएब अख्तर ने कहा कि पीसीबी को पिछड़ी हुई मानसिकता पर ध्यान देना पड़ेगा. उन्होंने कहा कि जब टीम जीत रही होती है तो कोई फर्क नहीं पड़ता. लेकिन आपको नई जरूरत के हिसाब से खुद को ढालना होगा. यह बहुत ही आसान है. यदि आप ऐसा नहीं कर सकते हैं तो आप जा सकते हैं. ऐसे खिलाड़ियों को चयन नहीं होना चाहिए. मोहम्मद रिजवान को जिम्बाब्वे के खिलाफ टी20 सीरीज में ओपनिंग का मौका मिला था जबकि टेस्ट में वे मिडिल ऑर्डर में उतरे थे. टी20 में उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया था लेकिन दो टेस्ट में वे सिर्फ 66 रन बना सके थे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज