सचिन तेंदुलकर और उनके बेटे अर्जुन को टीम में चुनना संयोग : चयनकर्ता

सचिन तेंदुलकर और उनके बेटे अर्जुन को टीम में चुनना संयोग : चयनकर्ता
अर्जुन तेंदुलकर को विज्जी ट्रॉफी के लिए मुंबई की टीम में शामिल किया गया है.

मिलिंद रेगे ने विज्जी ट्रॉफी के लिए सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन को मुंबई की टीम में शामिल किया है. जब सचिन तेंदुलकर अपने करियर की शुरुआत ही कर रहे थे तब उन्हें मुंबई की रणजी टीम में चुनने वाली चयन समिति के सदस्य मिलिंद रेगे भी थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 10, 2019, 9:52 AM IST
  • Share this:
क्रिकेट के मैदान पर अनोखे रिकॉर्ड बनना कोई नई बात नहीं है, लेकिन मैदान के बाहर क्रिकेट से जुड़े रिकॉर्ड बेहद खास ही होते हैं. ऐसा ही एक रिकॉर्ड सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) और उनके बेटे अर्जुन तेंदुलकर (Arjun Tendulkar) से भी जुड़ा है. हालांकि ये रिकॉर्ड बनाने वाले इनमें से कोई नहीं हैं, बल्कि मुंबई क्रिकेट संघ के मुख्य चयनकर्ता मिलिंद रेगे (Milind Regge) ने ये रिकॉर्ड बनाया है.

दरअसल, मिलिंद रेगे ने विज्जी ट्रॉफी के लिए सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन को मुंबई की टीम में शामिल किया है और बहुत ही कम लोगों को इस बात की जानकारी है कि जब सचिन तेंदुलकर अपने करियर की शुरुआत ही कर रहे थे तब उन्हें मुंबई की रणजी टीम में चुनने वाली चयन समिति के सदस्य मिलिंद रेगे भी रहे थे.

दिसंबर 1988 में सचिन को गुजरात के खिलाफ रणजी ट्रॉफी डेब्यू करने का अवसर मिला और उन्होंने इसका पूरा इस्तेमाल करते हुए शतक जड़कर एक साल के भीतर भारतीय टीम में भी जगह बना ली. अगर सचिन को सही समय पर सही मौका नहीं मिलता तो शायद हम क्रिकेट के इस महान सितारे को अपनी आभा बिखेरते हुए कभी देख ही न पाते.



बता दें कि जब सचिन को मुंबई के लिए रणजी ट्रॉफी खिलाने का फैसला किया गया तब मुंबई चयन समिति के अध्यक्ष नरेन तम्हाने ‌थे और समिति में मिलिंद रेगे भी शामिल थे. रेगे मुंबई के रणजी कप्तान भी रह चुके हैं. सचिन को चुनने के 30 साल बाद अब रेगे ने उनके बेटे अर्जुन तेंदुलकर को विज्जी ट्रॉफी के लिए मुंबई की टीम में शामिल किया है. इस अंडर-23 टूर्नामेंट का आयोजन बीसीसीआई की ओर से कराया जाता है.
cricket, bcci, sachin tendulkar, arjun tendulkar, milind regge, मिलिंद रेगे, बीसीसीआई, क्रिकेट, सचिन तेंदुलकर, अर्जुन तेंदुलकर, मुंबई क्रिकेट संघ, विज्जी ट्रॉफी, रणजी, vizzy trophy, mumbai cricket association
अर्जुन तेंदुलकर तेज गेंदबाज हैं और उन्होंने हाल ही में इंग्लैंड में खेले गए टूर्नामेंट में 23 विकेट लिए.


मिलिंद रेगे ने इस बारे में इंडिया टुडे से बातचीत में कहा कि मैं ऐसे किसी चयनकर्ता को नहीं जानता जिसने पिता और बेटे का किसी टीम में चयन किया हो. यह मात्र एक संयोग है कि सचिन तेंदुलकर और उनके बेटे अर्जुन को टीम में शामिल करने वाली चयन समिति में मैं शामिल रहा.

रेगे ने साथ ही बताया कि मुझे अर्जुन की तेज गेंदबाजी क्षमता ने काफी प्रभावित किया और यही वजह है कि उन्हें टीम में शामिल किया गया है. हमें अच्छी गेंदबाजी करने वाले गेंदबाज की तलाश थी. मैंने उन्हें हाल ही में इंग्लैंड में खेलते देखा, जहां उन्होंने 23 विकेट लिए. वह अलग-अलग एज ग्रुप में भारत के लिए खेल चुके हैं. लेकिन मैं आपको बताना चाहता हूं कि जब तक मैं इंचार्ज हूं, किसी भी खिलाड़ी विशेष तरजीह नहीं दी जाएगी.

टी-20 वर्ल्ड कप से पहले बांग्लादेश को बड़ा झटका, चोट के चलते ये ऑलराउंडर बाहर

क्रिस गेल को बड़ा झटका, ये इच्छा रह गई अधूरी, मैदान से नहीं कह सकेंगे अलविदा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज