इस भारतीय दिग्गज ने कहा- विराट कोहली की दोस्ती भी नहीं दिला सकती IPL कॉन्ट्रैक्ट

माइकल क्लार्क के दावों को दिग्गज भारतीय बल्लेबाज ने बताया बकवास

माइकल क्लार्क (Michael Clarke) ने ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों पर IPL में खेलने के लिए विराट कोहली (Virat Kohli) की चमचागिरी करने का आरोप लगाया था

  • Share this:
    नई दिल्ली. 2015 में ऑस्ट्रेलिया को वर्ल्ड कप जिताने वाले पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क (Michael Clarke) इन दिनों अपने बयान की वजह से सुर्खियों में हैं. माइकल क्लार्क ने कहा था कि ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी आईपीएल में खेलने के लिए भारतीय कप्तान विराट कोहली के खिलाफ स्लेजिंग करने से डरते हैं. साथ ही उन्होंने अपनी टीम के खिलाड़ियों पर चमचागिरी का आरोप भी लगा दिया था. अब माइकल क्लार्क को पूर्व भारतीय ओपनर के. श्रीकांत (K Srikanth) ने जवाब दिया है. श्रीकांत ने कहा कि माइकल क्लार्क की बातें कॉमेडी की तरह हैं.

    स्लेजिंग से नहीं जीते जाते मैच
    श्रीकांत  (K Srikanth) ने स्टार स्पोर्ट्स के कार्यक्रम 'क्रिकेट कनेक्टेड' में कहा, 'सिर्फ स्लेजिंग से मैच नहीं जीते जाते. क्लार्क का बयान बेहद हास्यास्पद था.' क्लार्क का कहना था कि 2018-19 टेस्ट सीरीज के दौरान विराट कोहली के प्रति कंगारु खिलाडियों ने नरमी बरती थी और वो उनके खिलाफ स्लेजिंग करने से डर रहे थे.

    श्रीकांत  (K Srikanth) ने कहा, 'अगर आप नासिर हुसैन या सर विवियन रिचर्डस से पूछते हैं जोकि अनुभवी खिलाड़ी हैं, आप स्लेजिंग के माध्यम से कभी भी रन नहीं बना सकते हैं या विकेट नहीं ले सकते हैं. आपको अच्छा क्रिकेट खेलने के लिए संयम और संकल्प दिखाने की जरूरत है. आपको जीत के लिए अच्छी गेंदबाजी और विकेट लेने की जरूरत है. स्लेजिंग मेरे हिसाब से किसी भी तरह से मदद नहीं कर सकती.'

    किसी की दोस्ती नहीं दिला सकती आईपीएल करार
    वीवीएस लक्ष्मण (VVS Laxman) ने भी माइकल क्लार्क के बयान को बेबुनियाद बताया. उन्होंने कहा कि अगर आपकी किसी भारतीय खिलाड़ी से दोस्ती है तो इसका मतलब ये नहीं कि आपको आईपीएल में खेलने का मौका मिल जाएगा. टीमें आपका प्रदर्शन और काबिलियत देखती हैं. हम ऐसे ही खिलाड़ी को चुनते हैं जिसने बेहतरीन खेल दिखाया हो.

    टिम पेन ने भी दिया था क्लार्क को जवाब
    बता दें ऑस्ट्रेलिया के मौजूदा टेस्ट कप्तान टिम पेन ने भी माइकल क्लार्क को जवाब दिया था. उन्होंने खुलासा किया था कि ऑस्ट्रेलियाई टीम विराट कोहली से किसी भी तरह की लड़ाई से बचने के लिए उन्हें उकसाने से बचती रही है. टिम पेन का कहना था कि विराट कोहली को जितना उकसाया जाता है, स्लेज किया जाता है वो उतना ही अच्छा खेलते हैं. टिम पेन के मुताबिक जब कंगारू खिलाड़ी टेस्ट मैच खेलते हैं तो वो अपना सर्वश्रेष्ठ ही देते हैं. कोई खिलाड़ी आईपीएल कॉन्ट्रैक्ट के बारे में नहीं सोचता.

    बता दें कि ऑस्ट्रेलिया दौरे पर विराट कोहली (Virat Kohli) का बल्ला खामोश ही रहा था. उन्होंने 7 पारियों में महज 40.28 की औसत से 282 रन बनाए थे. उनके बल्ले से एक शतक और एक अर्धशतक निकला था. हालांकि टीम इंडिया ने 2-1 से सीरीज अपने नाम की थी. टेस्ट में विराट कोहली का औसत 53.62 है और उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ही सबसे ज्यादा 7 शतक ठोके हैं.

    बांद्रा स्टेशन पर लोगों की भीड़ देख परेशान हुए पंड्या, हाथ जोड़कर की खास अपील

    एशिया के ब्रैडमैन का बड़ा बयान-मशीन खराब हो सकती है, विराट की बल्लेबाजी नहीं

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.