Home /News /sports /

माइकल वॉन नस्लवाद के आरोपों से घिरे, बीबीसी ने अपने शो से किया बाहर

माइकल वॉन नस्लवाद के आरोपों से घिरे, बीबीसी ने अपने शो से किया बाहर

माइकल वॉन का नाम रफीक नस्लवाद जांच रिपोर्ट में आया है. हालांकि उन्होंने सभी आरोपों का खंडन किया. (Instagram)

माइकल वॉन का नाम रफीक नस्लवाद जांच रिपोर्ट में आया है. हालांकि उन्होंने सभी आरोपों का खंडन किया. (Instagram)

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन (Michael Vaughan) नस्लवाद के आरोपों पर मुश्किल में घिर गए हैं. यॉर्कशर के पूर्व खिलाड़ी अजीम रफीक (Azeem Rafiq) ने वॉन पर नस्लीय टिप्पणी का आरोप लगाया है. इस वजह से उन्हें बीबीसी ने अपने शो से बाहर कर दिया.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन (Michael Vaughan) को दो खिलाड़ियों द्वारा लगाये गए नस्लवाद (Racism) के आरोपों के कारण बीबीसी (BBC) के एक शो से बाहर कर दिया गया है. वॉन बीबीसी फाइव लाइव्स के शो ‘ द टफर्स एंड वॉन क्रिकेट शो ’ में पिछले 12 साल से विशेषज्ञ के तौर पर काम कर रहे थे. उन पर अजीम रफीक (Azeem Rafiq) ने नस्लवाद का आरोप लगाते हुए दावा किया है कि वॉन ने उन पर और अन्य खिलाडि़यों पर 2009 में यार्कशर के एक मैच से पहले नस्लीय टिप्पणी की थी.

    एक दिन पहले ही वॉन ने खुलासा किया कि यॉर्कशर के पूर्व खिलाड़ी अजीम रफीक द्वारा उन पर नस्लवादी व्यवहार का आरोप लगाया गया है. उन्होंने हालांकि इन आरोपों का पूरी तरह खंडन करते हुए कहा कि वह इस सूची से अपना नाम हटाने के लिए आखिर तक ‘लड़ाई’ लड़ेंगे. ‘डेली टेलीग्राफ’ के कॉलम में वॉन ने स्वीकार किया कि यॉर्कशर टीम में संस्थागत नस्लवाद के रफीक के आरोपों की जांच में जिस ‘पूर्व खिलाड़ी’ का जिक्र हो रहा है, वह वही थे.

    वॉन ने 1991 से 2009 में संन्यास लेने तक यॉर्कशर काउंटी टीम का प्रतिनिधित्व किया. यॉर्कशर की अजीम रफीक रिपोर्ट में कहा कि उन्होंने रफीक सहित एशियाई खिलाड़ियों के एक समूह से कहा, ‘इस समूह में आप जैसे बहुत खिलाड़ी है, हमें इसके बारे में कुछ करने की आवश्यकता है.’ यह कथित घटना तब हुई जब यॉर्कशर 2009 में नॉटिंघमशर के खिलाफ एक मैच के दौरान मैदान पर उतर रहा था. पेशेवर खिलाड़ी के तौर पर यह रफीक का पहला सत्र था. वॉन ने कहा कि कथित घटना के 11 साल बाद, दिसंबर 2020 में क्लब में संस्थागत नस्लवाद के रफीक के दावों की जांच करने वाली समिति से बात करने के लिए उनसे संपर्क किया गया था.

    यह भी पढ़ें:

    न्यूजीलैंड अगर अफगानिस्तान से हार गया तो बहुत सारे सवाल उठेंगे, सोशल मीडिया को कोई नहीं रोक पाएगा: शोएब अख्तर

    T20 World Cup: केएल राहुल नहीं तोड़ सके युवराज सिंह का 14 साल पुराना रिकॉर्ड

    उन्होंने कहा, ‘मैंने समिति को यह जवाब दिया कि  इस बात को सुन कर मुझे गुस्सा आ रहा है. यह कथित घटना के 11 साल बाद का समय  था. उस मैच के दौरान या पिछले 11 वर्षों में इस पर कभी सवाल नहीं उठा. उस समय ऐसा लगा जैसे किसी ने ईंट से मेरे सिर पर मार दिया. मैं 30 वर्षों से क्रिकेट खेल रहा हूं और मुझ पर एक खिलाड़ी या कमेंटेटर के रूप में कभी भी ऐसी ही किसी घटना या अनुशासनात्मक अपराध का आरोप नहीं लगाया गया है.’

    Tags: Cricket news, England, Michael vaughan, Racism

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर