हार्दिक पंड्या के दीवाने हुए इंग्लैंड के पूर्व कप्तान, कहा- धोनी, विराट के बाद ये होंगे अगले ग्लोबल सुपर स्टार

हार्दिक पंड्या (फोटो- AP)

हार्दिक पंड्या (फोटो- AP)

IND Vs AUS: आईपीएल के बाद से ही हार्दिक पंड्या बेहतरीन फॉर्म में हैं. ऑस्ट्रेलिया के मौजूदा दौरे पर उन्होंने वनडे सीरीज़ में 90, 28 और 92* रनों की पारी खेली.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 7, 2020, 1:53 PM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. हार्दिक पंड्या (Hardik Pandya) ने अपनी ताबड़तोड़ बैटिंग से हर किसी को दीवाना बना दिया है. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उन्होंने दूसरे टी-20 मैच में महज 22 गेंदों पर 42 रनों की धमाकेदार पारी खेली और टीम इंडिया को जीत दिला दी. पंड्या की इस पारी के बाद हर कोई उनकी तारीफ कर रहा है. इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन (Former England captain Michael Vaughan) ने कहा है कि महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली के बाद अब हार्दिक पंड्या ग्लोबल स्टार हो सकते हैं. वॉन का ये भी कहना है कि अगले तीन साल में आईसीसी के दो टूर्नामेंट भारत में ही हैं और हार्दिक यहां धमाल मचा सकते हैं.

हार्दिक की जमकर तारीफ

माइकल वॉन ने कहा, 'अगला टी-20 वर्ल्ड कप भारत में है. आईपीएल भी है. साल 2023 में वनडे का वर्ल्ड कप भी भारत में ही है. हार्दिक के पास बेहतरीन मौका है कि वो अगले ग्लोबल स्टार बन सकते हैं. धोनी लंबे समय तक स्टार थे. फिलहाल विराट ग्लोबल स्टार हैं. हार्दिक के पास अगले तीन साल अभी और हैं और मुझे पूरी उम्मीद है कि हार्दिक ग्लोबल स्टार बन सकते हैं.'

गज़ब के फॉर्म में हैं हार्दिक
आईपीएल के बाद से ही हार्दिक पंड्या बेहतरीन फॉर्म में हैं. ऑस्ट्रेलिया के मौजूदा दौरे पर उन्होंने वनडे सीरीज़ में 90, 28 और 92* रनों की पारी खेली. जबकि टी-20 सीरीज़ में उन्होंने 16 और 42 * का स्कोर बनाया है. पिछले टी-20 मैच में टीम इंडिया को आखिरी ओवर में जीत के लिए 14 रन बनाने थे. ऐसे में उन्होंने 2 बेहतरीन छक्के लगाकर 2 गेंद पहले ही जीत दिला दी.

ये भी पढ़ें:- विराट कोहली की कप्तानी में जीत मिली तो आया रोहित शर्मा का बयान, कही ये बात

क्या है शानदार फॉर्म का राज़



भारतीय ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या ने रविवार को कहा कि कोरोना वायरस के कारण लगे लॉकडाउन के दौरान उन्होंने जरूरत के समय मैच फिनिश करने में महारत हासिल करने पर काम किया. पंड्या ने मैच के बाद प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में कहा कि लॉकडाउन के दौरान मैं जरूरत के समय मैच फिनिश करने पर ध्यान लगाना चाहता था. यह मायने नहीं रखता कि मैं ज्यादा रन जुटाऊं या नहीं. उन्होंने कहा कि मैं कई दफा ऐसी स्थितियों में खेल चुका हूं और मैंने अपनी गलतियों से सीख ली.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज