21 साल के करियर में कई बार क्रिकेट 'छोड़ने' का मन बना चुकी थी मिताली, जानें कैसे किया खुद को प्रेरित

21 साल के करियर में कई बार क्रिकेट 'छोड़ने' का मन बना चुकी थी मिताली, जानें कैसे किया खुद को प्रेरित
मिताली राज भारत की वनडे कप्तान हैं

भारतीय महिला वनडे कप्तान मिताली राज (Mithali Raj) को क्रिकेट खेलते हुए 21 साल हो चुके हैं

  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय महिला टीम की वनडे कप्तान मिताली राज (Mithali Raj) को क्रिकेट खेलते हुए 21 साल हो गए हैं. इतने लंबे करियर में मिताली देश में महिला क्रिकेट का दूसरा नाम बन गई हैं. उन्होंने कई बड़े रिकॉर्ड अपने नाम किए हैं. लॉकडाउन के बीच मिताली ने बताया कि वह किस तरह खुद को प्रेरित करती हैं और आज किस तरह इतने लंबे समय तक खेल पाई हैं.

21 साल में कई बार रिटायरमेंट के बारे में सोच चुकी हैं मिताली
मिताली ने कहा, 'मैंने अपने करियर को लेकर कभी प्लानिंग नहीं की जैसे मैं अपने पारियों की नहीं की. कई बार ऐसे मौके आए जब मैं रिटायरमेंट के बारे में सोचने लगी थी. कई बार मुझे लगा कि मुझे क्रिकेट छोड़ देना चाहिए लेकिन हमेशा किसी चीज ने मुझे रोके रखा. मैं खेलती गई और सीरीज के बाद दूसरी सीरीज के बारे सोचती गई. 21 साल के करियर को प्लान को आसान नहीं है. एक ही चीज को 21 साल तक करना मुश्किल होता है. मुझे यह लगता है कि अगर मुझे क्रिकेट खेलना है तो इसके सबसे ऊंचे स्तर पर खेलना होगा. मैं करियर के किसी भी फेज में हूं मेरे लिए हर मैच जरूरी है और मैं हर मैच में अच्छा प्रदर्शन करना चाहती हूं.'

वर्ल्ड कप से प्रेरित होती हैं मिताली
मिताली का मानना है कि उन्हें वर्ल्ड कप उन्हें प्रेरित करता है. करियर में अब तक कई वर्ल्ड कप खेलने के बाद वह एक बार उसे जीतना चाहती हैं. उन्होंने कहा, 'हमारी टीम काफी अच्छी है. हमने हाल ही में वनडे और टी20 में अच्छा प्रदर्शन किया है जिसे देखकर लगता है कि टीम वर्ल्ड कप में अच्छा प्रदर्शन करेगी. हालांकि जीत कई दूसरी चीजों पर भी निर्भर करती है जैसे हमारी तैयारी और हम वर्ल्ड कप से पहले कितनी और कौन सी सीरीज खेलते हैं. हालांकि वर्ल्ड कप का आयोजन होगा या नहीं यह बड़ा सवाल है और कोई इसका जवाब नहीं जानता. अपने देश के लिए खेलने के अलावा जो चीज मुझे क्रिकेट खेलने के लिए प्रेरित करता है वह वर्ल्डकप. वर्ल्ड कप जीत मेरे लिए बहुत अहम है.'



पहले टेस्‍ट मैच से कर दिया था बाहर, अब ऐसा करिश्‍मा करने वाले दुनिया के 7वें खिलाड़ी बनने जा रहे हैं स्‍टुअर्ट ब्रॉड

पृथ्‍वी शॉ और शुभमन गिल को अपनी गेंदबाजी से 'डराने' वाले बांग्‍लादेशी क्रिकेटर पर लगा 2 साल का बैन

मिताली के लिए लॉकडाउन फेज नई उम्मीदें लेकर आया और उन्हें अपने ट्रेनिंग सेशन में मदद मिली. उन्होंने कहा, 'जब कोई सालों से क्रिकेट खेल रहा हो तो वह इसके बेसिक नहीं भूलता. ल़ॉकडाउन से पहले मैं हर जोर ट्रेनिंग करती थी. लॉकडाउन ने मुझे खाली समय दिया ताकी मैं अपने शरीर को समझ सकूं. मैंने इस लॉकडाउन का फाायदा उठाने की कोशिश की है.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading