तस्लीमा नसरीन के बयान पर भड़के मोईन अली के पिता, बोले- एक दिन जब उनसे मिलूंगा तो...

मोईन अली को लेकर बांग्लादेशी लेखिका तस्लीमा नसरीन ने विवादित टिप्पणी की है (CSK/Twitter)

मोईन अली को लेकर बांग्लादेशी लेखिका तस्लीमा नसरीन ने विवादित टिप्पणी की है (CSK/Twitter)

मोईन अली के पिता ने कहा, ''सच कहा जाना चाहिए, मैं वास्तव में गुस्से में हूं, लेकिन मुझे पता है कि मैं उनके जैसे लोगों के हाथों में खेलूंगा, अगर मैं अपने गुस्से को काबू से बाहर कर दूंगा तो. अगर मैं किसी दिन उनसे मिलूंगा तो मैं उनके मुंह पर उन्हें बताऊंगा कि मैं उनके बारे में क्या सोचता हूं.''

  • Share this:
नई दिल्ली. इंग्लैंड के ऑलराउंडर मोईन अली (Moeen Ali) पर बांग्लादेश की लेखिका की विवादित टिप्पणी के बाद क्रिकेटर के पिता मुनीर अली (Mumir Ali) का रिएक्शन आया है. उन्होंने कहा कि वह तस्लीमा नसरीन (Taslima Nasreen) के इस बयान से काफी आहत और सदमे में हैं. दरअसल, तस्लीमा नसरीन ने अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से इंग्लैंड के इस क्रिकेटर पर टिप्पणी करते हुए कहा था कि मोईन अली अगर क्रिकेट को अपना करियर नहीं चुनते तो कब के आईएसआईएस को जॉइन कर चुके होते. तस्लीमा नसरीन का यह बयान उस वक्त आया, जब मीडिया में खबर चल रही थी कि मोईन अली ने अपनी चेन्नई सुपर किंग्स की जर्सी पर एल्कोहल ब्रांड को लगाने से मना कर दिया है.

हालांकि, इस तरह की रिपोर्ट तो बाद में आईपीएल फ्रेंचाइजी ने खारिज कर दिया. सीएसके के सीईओ काशी विश्वनाथ ने एक बयान में कहा कि मोईन अली की तरह से इस तरह की कोई मांग नहीं की गई है. तस्लीमा नसरीन के इस बयान की मोईन अली के साथी खिलाड़ी उनके सपोर्ट में आ गए हैं और साथ ही तस्लीमा नसरीन की इस टिप्पणी को उन्होंने अपमानजनक करार दिया है.

विराट के पार्टनर ने गौतम गंभीर को बताया रोल मॉडल, बोले- उनके वीडियो आज भी देखता हूं



तस्लीमा नसरीन ने बाद में अपने इस ट्विटर पोस्ट के बचाव में कहा कि यह "व्यंग्यात्मक" था. उन्होंने ट्वीट किया, ''नफरत करने वाले अच्छी तरह से जानते हैं कि मेरा मोईन अली के लिए किया गया ट्वीट व्यंग्यात्मक था. लेकिन उन्होंने मुझे अपमानित करने के लिए इसे एक मुद्दा बना दिया, क्योंकि मैं मुस्लिम समाज को धर्मनिरपेक्ष बनाने की कोशिश करती हूं और मैं इस्लामी कट्टरता का विरोध करती हूं.''


तस्लीमा नसरीन की इस टिप्पणी पर नाराजगी जताते हुए मुनीर अली ने इंडियन एक्सप्रेस से कहा कि उनकी पोस्ट एक "इस्लामोफोबिक स्टेटमेंट" थी. उनके सफाई वाले ट्वीट में जिसमें उन्होंने अपनी मूल टिप्पणी को व्यंग्य के रूप में बताया है. वह यह भी कहती है कि वह कट्टरवाद के खिलाफ हैं. अगर वह आईने में देखेंगी तो उन्होंने पता चलेगा कि उन्होंने क्या ट्वीट किया है. कट्टरपंथी क्या है- एक मुस्लिम व्यक्ति के खिलाफ एक शातिर रुढ़िवादी, स्पष्ट रूप से यह एक इस्लामोफोबिक बयान है. कोई ऐसा व्यक्ति जिसके पास अपना आत्म-सम्मान और दूसरों के लिए सम्मान नहीं है, वही केवल इस स्तर तक गिर सकता है.''

उन्होंने आगे कहा, ''सच कहा जाना चाहिए, मैं वास्तव में गुस्से में हूं, लेकिन मुझे पता है कि मैं उनके जैसे लोगों के हाथों में खेलूंगा, अगर मैं अपने गुस्से को काबू से बाहर कर दूंगा तो. अगर मैं किसी दिन उनसे मिलूंगा तो मैं उनके मुंह पर उन्हें बताऊंगा कि मैं उनके बारे में क्या सोचता हूं. अभी के लिए, मैं उन्हें एक शब्दकोश चुनने और व्यंग्य का अर्थ देखने के लिए कहूंगा.''

IPL 2020 में सबसे ज्यादा 71 यॉर्कर डालने वाले नटराजन बोले- धोनी की एक सलाह से बदला मेरा करियर

मोईन अली के पिता ने कहा, ''ऐसा नहीं है कि वह क्या सोचती हैं. यह ऐसा है, जैसे आप किसी ऐसे व्यक्ति के खिलाफ जहर उगल रहे हैं, जिसे आप जानते भी नहीं हैं और फिर इसे व्यंग्य कहकर पीछे हट रहे हैं. सभी लोगों में से उनके एजेंडे को चुनने के लिए, मुझे विश्वास नहीं हो रहा है कि उन्होंने मेरे बेटे चुना है. क्रिकेटिंग जगत में हर कोई जानता है कि वह किस तरह का इंसान है.''

बता दें कि मोईन अली के साथी खिलाड़ी जोफ्रा आर्चर, सैम बिलिंग्स और दूसरे कई क्रिकेटर इस मुद्दे पर मोईन अली के साथ खड़े हैं. इन खिलाड़ियों ने तस्लीमा नसरीन को उनके इस ट्वीट को लेकर कड़ी फटकार भी लगाई है. आईसीसी वनडे वर्ल्ड कप 2019 की विजेता टीम के खिलाड़ी मोईन अली को चेन्नई सुपर किंग्स ने आईपीएल 2021 के ऑक्शन में सात करोड़ रुपये में खरीदा है. मोईन अली फिलहाल सीएसके की टीम के साथ मुंबई में हैं. चेन्नई का पहला मैच 10 अप्रैल को दिल्ली कैपिटल्स के साथ खेला जाना है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज