लाइव टीवी

शाकिब के साथी ने की मैच फिक्सिंग, सजा मिलने पर हुआ बुरा हाल, हज करने पर मिली शांति

भाषा
Updated: October 31, 2019, 5:01 PM IST

शाकिब अल हसन (Shakib Al Hasan) को दो साल के लिए प्रतिबंधित किया गया है जिसमें से एक साल की सजा निलंबन के रूप में है.

  • Share this:
ढाका: बांग्लादेश (Bangladesh) के पूर्व कप्तान मोहम्मद अशरफुल (Mohammad Ashraful) ने गुरुवार को कहा कि भ्रष्ट संपर्क की शिकायत करने में नाकाम रहने के कारण शाकिब अल हसन (Shakib Al Hasan) पर लगा प्रतिबंध पूरी व्यवस्था के लिए स्तब्ध करने वाला है. उन्होंने साथ ही सुझाव दिया कि इस शीर्ष ऑलराउंडर को उससे जुड़ी खबरों से बचाया जाना चाहिए जिससे उसकी वापसी में मदद हो सके. बांग्लादेश प्रीमियर लीग (Bangladesh Premier League) में भ्रष्टाचार के मामले में सजा पाने वाले अशरफुल ने शाकिब का समर्थन करते हुए कहा कि बांग्लादेश के सबसे दिग्गज क्रिकेटरों में शामिल इस ऑलराउंडर के लिए अगले 12 महीने मुश्किल होने वाले हैं. शाकिब को दो साल के लिए प्रतिबंधित किया गया है जिसमें से एक साल की सजा निलंबन के रूप में है.

मोहम्‍मद अशरफुल ने की थी मैच फिक्सिंग
पांच साल के प्रतिबंध के बाद प्रथम श्रेणी क्रिकेट में वापसी करने वाले अशरफुल ने ईएसपीएनक्रिकइंफो से कहा, ‘हमारे मामले अलग हैं. उसने अधिकारियों को फिक्सिंग को लेकर संपर्क किए जाने की जानकारी नहीं दी जबकि मैं मैच फिक्सिंग से पूरी तरह जुड़ा था. लेकिन यह व्यवस्था के लिए स्तब्ध करने वाला है. हमें क्रिकेट खेलना पसंद है. शाकिब जिस बात से गुजर रहा है उसे शब्दों में बयां करना मुश्किल है. मुझे लगता है कि उसको लेकर अधिक खबरें नहीं होनी चाहिए. (मेरे लिए) इतनी सारी खबरों से निपटना मुश्किल था.’

shakib al hasan ban, shakib al hasan corruption, mohammad ashraful, mohammad ashraful match fixing, bangladesh cricket, ashrafurl haz visit, शाकिब अल हसन बैन, शाकिब प्रतिबंध, मोहम्‍मद अशरफुल मैच फिक्सिंग
मोहम्‍मद अशरफुल की गिनती बांग्‍लादेश के जबरदस्‍त बल्‍लेबाजों में होती है.


शाकिब से बुकी ने 3 बार किया था संपर्क
एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में शीर्ष रैंकिंग वाले ऑलराउंडर 32 साल के शाकिब को कथित भारतीय सट्टेबाज दीपक अग्रवाल द्वारा तीन मौकों पर संपर्क किए जाने की जानकारी नहीं देने का दोषी पाया गया है. इसमें से एक बार संपर्क आईपीएल के दौरान अप्रैल 2018 में किया गया था. बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने शाकिब के प्रति सहानुभूति जताते हुए कहा कि देश का क्रिकेट बोर्ड मुश्किल समय में अपने टेस्ट और टी20 कप्तान के साथ खड़ा है.

हज जाने के बाद बदली मानसिकता
Loading...

बांग्लादेश प्रीमियर लीग 2014 में मैच फिक्सिंग के लिए पांच साल के प्रतिबंध (दो साल का निलंबित प्रतिबंध भी शामिल) का सामना करने वाले अशरफुल ने बताया कि उनके लिए इस सजा से निपटना कितना मुश्किल हो गया था. अशरफुल ने कहा, ‘मैंने पहले छह महीने में सोते हुए अधिक समय बिताया. मैं पूरी रात टीवी देखता था और फिर दोपहर लगभग दो बजे उठता था. इसके बाद मैं हज पर गया, जिसने मुझे नया नजरिया दिया.’

india vs bangladesh, ind vs ban, Shakib al hassan, Bangladesh Cricket Board, bcb president, Nazmul Hassan, tamim iqbal, तमीम इकबाल, नजमुल हसन, इंडिया वस बांग्लादेश, भारत बनाम बांग्लादेश, क्रिकेट न्यूज, शाकिब अल हसन, नजमुल हसन, बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड, महमूदुल्लाह, मोमिनुल हक
शाकिब अल हसन बैन के बाद 29 अक्टूबर 2020 से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी कर सकेंगे. (फाइल फोटो)


'मुझे शाकिब से कम समर्थन मिला'
उन्होंने कहा, ‘मैं हमेशा सोचता था कि क्या मैं दोबारा खेल पाऊंगा, मुख्य रूप से अपनी उम्र के कारण (अशरफुल को जब प्रतिबंधित किया गया तब वह 30 साल के थे). क्रिकेट बोर्ड शाकिब की मदद कर रहा है. मुझे समर्थन मिला लेकिन उतना नहीं जितना शाकिब को मिल रहा है. साथ ही हमें याद रखना चाहिए कि कई बार चोटिल होने वाले मशरफे मुर्तजा और शाकिब जैसे खिलाड़ियों ने हमेशा असाधारण वापसी की है.’

shakib al hasan ban, shakib al hasan corruption, mohammad ashraful, mohammad ashraful match fixing, bangladesh cricket, ashrafurl haz visit, शाकिब अल हसन बैन, शाकिब प्रतिबंध, मोहम्‍मद अशरफुल मैच फिक्सिंग
मोहम्‍मद अशरफुल ने बांग्‍लादेश प्रीमियर लीग के दौरान मैच फिक्सिंग की थी.


फिट रहना अशरफुल की बड़ी चुनौती थी
अशरफुल ने कहा कि वह अपने निलंबन के दौरान प्रशंसकों से मिले समर्थन से हैरान थे. उनका प्रतिबंध पिछले साल खत्म हुआ. अशरफुल ने कहा कि उनके लिए फिट रहना सबसे बड़ी चुनौती थी लेकिन शाकिब को इस तरह की चीजों का सामना नहीं करना होगा. उन्होंने कहा कि वह बांग्लादेश में मान्यता प्राप्त क्रिकेट नहीं खेल पाए और ना ही ट्रेनिंग कर पाए और उन्हें गैर मान्यता प्राप्त टूर्नामेंटों में खेलना पड़ा.

शाकिब को मीरपुर में ट्रेनिंग की अनुमति
उन्होंने कहा, ‘इन तीन साल में मुझे कहीं भी खेलने और ट्रेनिंग करने की स्वीकृति नहीं थी. मैं ढाका में वकीलों के साथ खेलता था. मैं अमेरिका में टूर्नामेंटों में खेलता था. मैं देश भर में अलग अलग स्थानों पर खेला. मैं नए लोगों से मिला, नया अनुभव हासिल किया. शाकिब को ऐसी किसी चीज का सामना नहीं करना होगा. उसे मीरपुर में ट्रेनिंग की स्वीकृति मिली है. उसे मेरी तरह किसी समस्या का सामना नहीं करना होगा.’

गांगुली के राज में भी द्रविड़ की बढ़ी मुश्किलें, फिर मिला नोटिस

धोनी की कप्तानी में 16 मैच तक बैंच पर रहा, अब की सबकी धुनाई,जड़ा ताबड़तोड़ शतक

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 31, 2019, 4:56 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...