शमी ने खोले भारतीय गेंदबाजी के राज, बताया कैसे बने सबसे शानदार

शमी ने खोले भारतीय गेंदबाजी के राज, बताया कैसे बने सबसे शानदार
मोहम्मद शमी भारतीय तेज गेंदबाजी का अहम हिस्सा हैं (bcci)

वर्ल्ड कप में इंग्लैंड की पिच पर तेज गेंजबाजों की भूमिका काफी अहम रहने वाली है.

  • Share this:
पिछले कुछ समय में भारतीय गेंदबाजी में कमाल का सुधार हुआ है जिसके बाद वह सबसे शानदार गेंदबाजी अटैक बनकर उभरी है. भारतीय टीम अब जीत के लिए केवल बल्लेबाजी पर निर्भर नहीं है. इंग्लैंड में हो रहे वर्ल्ड कप में भारत पहला मैच पांच जून को खेलने वाला है. इंग्लैंड की पिच पर तेज गेंजबाजों की भूमिका काफी अहम रहने वाली है. टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी खुद को ऐसे गेंदबाजी अटैक का हिस्सा पाकर बेहद गर्व महसूस करते हैं.

शमी ने आईएएनएस को दिए साक्षात्कार में कहा कि यह भारत के लिए गर्व की बात है कि विश्व कप में टीम की गेंदबाजी उसकी ताकत के रूप में जानी जा रही है. भारत में अभी तक बल्लेबाजों का राज हुआ करता था, लेकिन शमी को गर्व है कि इस टीम के पास भारत का अभी तक का सबसे अच्छा तेज गेंदबाजी आक्रमण है.

पिछले कुछ साल में बदली है भारतीय गेंदबाजी 



शमी ने कहा, 'बीते 20-30 साल में, अगर आप भारतीय क्रिकेट का इतिहास देखेंगे तो हमेशा बल्लेबाजों का दबदबा रहा है. आप इसके लिए गेंदबाजों को दोष नहीं दे सकते क्योंकि जो विकेट बनाई जाती थीं वो गेंदबाजों की मददगार नहीं होती थी. पिछले पांच-सात साल में चीजें बदलनी शुरू हुई हैं. ईमानदारी से कहूं तो इसमें एक प्रक्रिया का पालन हुआ है. यह एक रात में नहीं हुआ है. हम एक ईकाई के तौर पर काम कर रहे हैं और इससे मदद मिल रही है.
भारतीय गेंदबाजी को वर्ल्ड कप में सबसे शानदार गेंदबाजी अटैक माना जा रहा है (pti)
भारतीय गेंदबाजी को वर्ल्ड कप में सबसे शानदार गेंदबाजी अटैक माना जा रहा है (pti)


उन्होंने कहा, 'अच्छी बात यह है कि वैराएटी के अलावा हमारे गेंदबाजों के पास तेजी भी है. कौशल और पेस का एक साथ होना हमारे तेज गेंदबाजी आक्रमण की विशेष पहचान है. यह एक सपने के सच होने जैसा है. मुझे इस बात पर गर्व होता है कि लोगबाग आज के दौर में हमारे तेज गेंदबाजों की बात करते हैं. यह चीज ज्यादा सुनी नहीं जाती थी, लेकिन अब यह हमारी ताकत है.'

बेटी अस्पताल में भर्ती, दो घंटे सो पाए मैदान में उतरे और लगा दिया शतक

उन्होंने कहा, 'मैं काफी दिनों से सीमित ओवरों की क्रिकेट खेल रहा हूं लेकिन हाल ही में हुई ऑस्ट्रेलिया सीरीज से मुझे आत्मविश्वास मिला. मैंने इसे आईपीएल में भी जारी रखा. मैं अपने मौके का इंतजार कर रहा था क्योंकि मेरा सफेद गेंद से रिकॉर्ड अच्छा है. मैं दो साल से इंतजार कर रहा था और मेरे दिमाग में यही था कि मुझे जब भी मौका मिलेगा तो मुझे उसे किस तरह से भुनाना है. मैं दिखाना चाहता था कि मैं क्या कर सकता हूं.'

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज