सौरव गांगुली ने बदली कब्रिस्तान में प्रैक्टिस करने वाले गेंदबाज की किस्मत!

सौरव गांगुली ने बदली कब्रिस्तान में प्रैक्टिस करने वाले गेंदबाज की किस्मत!
गांगुली की एक नजर ने बदली कब्रिस्तान में प्रैक्टिस करने वाले की किस्मत!

टीम इंडिया (Indian Cricket Team) का एक ऐसा खिलाड़ी जिसके पिता गरीब किसान थे और वो कब्रिस्तान में गेंदबाजी प्रैक्टिस करता था लेकिन आज वो सबसे घातक गेंदबाजों में से एक है

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 30, 2020, 10:20 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अगर आपके अंदर लगन हो, खुद पर विश्वास हो और कुछ पाने की तमन्ना हो तो फिर आपके लिए नामुमकिन कुछ भी नहीं. टीम इंडिया का एक क्रिकेटर ऐसा भी है जिसके पिता एक मामूली से किसान थे, जो कब्रिस्तान में गेंदबाजी प्रैक्टिस करता था लेकिन आज उसका नाम दुनिया के सबसे घातक क्रिकेटरों में शूमार होता है. इस खिलाड़ी ने अपने दम पर फर्श से अर्श तक का सफर तय किया. हम बात कर रहे हैं मोहम्मद शमी (Mohammed Shami) की, जिनका बचपन बेहद कठिनाइयों में गुजरा है लेकिन कहते हैं ना सोना आग में तपकर ही कुंदन बनता है, कुछ ऐसा ही मोहम्मद शमी के साथ भी हुआ.

मोहम्मद शमी की प्रेरणादायी कहानी
मोहम्मद शमी (Mohammed Shami) का जन्म यूपी के अमरोहा में सहसपुर अलीनगर गांव में एक किसान के घर में हुआ था. शमी को बचपन से ही क्रिकेट खेलने का शौक था, खासतौर पर तेज गेंदबाजी करने का. मोहम्मद शमी को जहां मौका मिलता था वो गेंदबाजी करते थे. चाहे वो घर का आंगन हो या फिर छत. मोहम्मद शमी के घर के पीछे एक कब्रिस्तान था, इसी की खाली जमीन पर शमी ने पूरा बचपन बिताया. वो यहीं दिनभर क्रिकेट खेला करते थे. बचपन में टेनिस गेंद से खेलने वाले शमी अपनी रफ्तार और उछाल से बल्लेबाजों के लिए खौफ का दूसरा नाम थे.

मोहम्मद शमी (Mohammed Shami) ने जब लेदर बॉल से क्रिकेट खेलना शुरू किया तो उन्हें कोच बदर अहमद का साथ मिला. उन्होंने शमी की गेंदबाजी को निखारा. लेकिन शमी का हथियार था उनकी तेजी. वो 140 किमी. प्रति घंटा से गेंदबाजी करते थे. स्थानीय टूर्नामेंट में तो शमी के सामने कोई टिकता ही नहीं था. गजब की बात देखिए शमी ने यूपी के लिए ट्रायल दिये लेकिन उनका चयन नहीं हुआ. यूपी में मौके कम थे तो कोच बदर ने उन्हें कोलकाता में क्लब क्रिकेट खेलने की सलाह दी. शमी ने कोलकाता में ही प्रैक्टिस शुरू की.



Mohammed Shami, mohammed shami hat trick, mohammed shami vs Afghanistan, ICC Cricket World Cup 2019, on this day, मोहम्मद शमी, आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप, मोहम्मद शमी हैट्रिक, अफगानिस्तान, क्रिकेट
मोहम्मद शमी भारतीय टीम के तेज गेंदबाज हैं




गांगुली ने बदली शमी की किस्मत
मोहम्मद शमी (Mohammed Shami) कोलकाता में ट्रेनिंग करने लगे और फिर वो दिन आया जब उनकी किस्मत ही बदल गई. कोलकाता के ईडन गार्डन्स में सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) प्रैक्टिस के लिए आए हुए थे और शमी को उन्हें गेंदबाजी करने का मौका मिला. मोहम्मद शमी ने अपनी कहर बरपाती गेंदबाजी से सौरव गांगुली को काफी परेशान किया. इसके बाद गांगुली ने बंगाल क्रिकेट टीम के मैनेजमेंट को मोहम्मद शमी पर नजर रखने को कहा. बस फिर क्या था मोहम्मद शमी ने बंगाल क्रिकेट टीम में जगह बनाई और उसके बाद 2013 में शमी भारतीय क्रिकेट टीम का हिस्सा बन गए.

विराट कोहली ने कहा- 6 साल पहले मिली हार ने टेस्ट में बनाया चैंपियन!

इंग्लैंड से आई बड़ी खबर, पाकिस्तानी खिलाड़ियों के कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट आई

मोहम्मद शमी का करियर
मोहम्मद शमी ने अबतक 49 टेस्ट में भारत का प्रतिनिधित्व किया है जिसमें उन्होंने 180 विकेट अपने नाम किये हैं. वहीं 77 वनडे में उनके नाम 144 विकेट हैं. मोहम्मद शमी इस वक्त भारतीय क्रिकेट टीम ही नहीं बल्कि दुनिया के सबसे घातक गेंदबाज हैं. पुरानी गेंद से विकेट लेने के मामले में शमी का कोई सानी नहीं. हाल ही के दिनों में टीम इंडिया की टेस्ट मैचों में कामयाबी की सबसे बड़ी वजह शमी की गेंदबाजी ही मानी जाती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading