होम /न्यूज /खेल /IND vs BAN, 2ND ODI: पहले वनडे की गलती भारत ने दूसरे मैच में दोहराई, कहीं हाथ में आई बाजी फिसल न जाए

IND vs BAN, 2ND ODI: पहले वनडे की गलती भारत ने दूसरे मैच में दोहराई, कहीं हाथ में आई बाजी फिसल न जाए

IND vs BAN: भारत ने दूसरे वनडे में पहले मैच वाली गलती दोहराई, जिसका भारत को खामियाजा उठाना पड़ा. (Indian cricket team instagram)

IND vs BAN: भारत ने दूसरे वनडे में पहले मैच वाली गलती दोहराई, जिसका भारत को खामियाजा उठाना पड़ा. (Indian cricket team instagram)

India vs Bangladesh 2nd ODI: भारत ने बांग्लादेश के खिलाफ पहले वनडे में जो गलती की थी, वही दूसरे मैच में दोहराई. इसका उस ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

भारत-बांग्लादेश के बीच मीरपुर में दूसरा वनडे खेला जा रहा
भारत ने पहले वनडे वाली गलती दूसरे मैच में दोहराई
69 रन पर 6 विकेट गंवाने के बावजूद बांग्लादेश ने 271 रन ठोके

नई दिल्ली. भारत और बांग्लादेश के बीच मीरपुर में 3 वनडे की सीरीज का दूसरा मैच खेला जा रहा. बांग्लादेश ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में 7 विकेट के नुकसान पर 271 रन का स्कोर खड़ा किया. हालांकि, एक वक्त पर बांग्लादेश की हालत पतली थी और उसपर जल्दी ऑल आउट होने का खतरा मंडरा रहा था. 69 रन के स्कोर पर मेजबान बांग्लादेश के 6 बल्लेबाज पवेलियन लौट गए थे. लेकिन, इसके बाद मैच पर भारत का शिकंजा कमजोर हो गया. भारत ने पहले वनडे में जो गलती की थी, वही दूसरे मैच में भी दोहरा दी और इसका खामियाजा उसे उठाना पड़ा और बांग्लादेश की टीम ने 271 रन का स्कोर खड़ा कर दिया.

भारत में पहले वनडे में क्या गलती की थी, जो दूसरे में दोहराई. उसके लिए दिमाग पर ज्यादा जोर देने की जरूरत नहीं है. भारतीय गेंदबाजों ने दोनों ही मुकाबलों में शानदार शुरुआत की. जहां पहले वनडे में 186 रन का बचाव करते हुए भारतीय गेंदबाजों ने 136 रन के स्कोर पर बांग्लादेश के 9 विकेट गिरा दिए थे. वहीं, दूसरे वनडे में भी 19 ओवर में बांग्लादेश के 6 बल्लेबाजों को पवेलियन की राह दिखा दी थी. उस समय मेजबान टीम का स्कोर महज 69 रन था. लेकिन, पहले मैच में जो गलती भारतीय गेंदबाजों ने की थी, वही दूसरे में दोहरा दी.

दरअसल, पहले मैच में बांग्लादेश के 9 विकेट गिराने के बाद भारतीय गेंदबाज यह मान बैठे थे कि अब किसी भी पल बांग्लादेश की पारी सिमट जाएगी. क्योंकि उसे जीत के लिए 50 रन और बनाने थे और मेहदी हसन मिराज के साथ 10वें नंबर पर बल्लेबाजी के लिए मुस्तफिजुर रहमान थे. 10वें नंबर के बल्लेबाज से शायद ही किसी को उम्मीद होती है कि वो साझेदारी कर टीम को जीत दिला देगा. लेकिन, हुआ ऐसा ही.

खराब गेंदबाजी का भारत ने उठाया खामियाजा
भारतीय गेंदबाज 9 विकेट गिराने के बाद रिलेक्स हो गए और उन्होंने खराब लाइन लेंथ से गेंदबाजी की. इससे बांग्लादेश को मैच में आने का मौका मिल गया. मिराज ने खराब गेंदों पर खूब रन बटोरे और आखिरी विकेट रहमान के साथ नाबाद 51 रन की साझेदारी कर बांग्लादेश को मैच जिता दिया. यही गलती भारतीय गेंदबाजों ने दूसरे मैच में की. बांग्लादेश के 6 विकेट जल्दी गिराने के बाद ऑल आउट अटैक की रणनीति के बजाए भारतीय गेंदबाजों ने काफी खराब गेंद फेंकी. मिराज और महमुदुल्लाह ने इसका पूरा फायदा उठाया और 7वें विकेट के लिए 165 गेंद में 148 रन की साझेदार कर बांग्लादेश की मैच में वापसी करा दी. यह भारत के खिलाफ किसी भी विकेट के लिए बांग्लादेश की तरफ से सबसे बड़ी पार्टनरशिप है.

आखिरी 30 गेंद में बांग्लादेश ने 68 रन ठोके
दूसरे वनडे में भारतीय गेंदबाजों ने बीच के ओवर में कितनी खराब गेंदबाजी की. इसे एक आंकड़े से समझा जा सकता है. बांग्लादेश का स्कोर पहले 19 ओवर में 69/6 था. लेकिन, बाद के 31 ओवर में बांग्लादेश ने 1 विकेट खोकर 186 रन ठोक डाले. यानी 6 रन प्रति ओवर बनाए. आखिरी 30 गेंद में तो बांग्लादेशी बल्लेबाजों ने और खुलकर बल्लेबाजी की और 14 रन प्रति ओवर के हिसाब से 68 रन ठोके. शुरुआती कुछ ओवर में अच्छी गेंदबाजी करने वाले उमरान मलिक बाद में काफी महंगे साबित हुए.

मेहदी हसन ने पलटा भारत के खिलाफ लगातार दूसरा मुकालबला, अबकी बार तो सबसे बड़ी पारी से रचा इतिहास

मेहदी हसन ने पलटा भारत के खिलाफ लगातार दूसरा मुकालबला, अबकी बार तो सबसे बड़ी पारी से रचा इतिहास

उन्होंने पहले 8 ओवर में 30 रन देकर 1 विकेट हासिल किया था. इसमें दो ओवर मेडन भी फेंके थे. लेकिन, आखिरी दो ओवर में उमरान ने 28 रन लुटाए. यही हाल सिराज का भी रहा. उन्होंने पहले 8 ओवर में 49 रन देकर 2 विकेट लिए थे. लेकिन, आखिरी 12 गेंद में उन्होंने 24 लुटाए और एक भी विकेट नहीं ले पाए. शार्दुल ने भी शुरुआती 9 ओवर में 32 रन दिए थे. लेकिन, आखिरी ओवर में 15 रन लुटा दिए.

Tags: India vs Bangladesh, Mahmudullah, Mohammed siraj, Rohit sharma, Shardul thakur, Umran Malik

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें