मोंटी पनेसर ने कहा- अगर चौथे टेस्ट में भी मोटेरा जैसी पिच होती है तो आईसीसी भारत के अंक काटे

मोंटी पनेसर ने भी मोटेरा टेस्ट की पिच पर सवाल उठाए हैं. (साभार-पनेसर इंस्टाग्राम)

मोंटी पनेसर ने भी मोटेरा टेस्ट की पिच पर सवाल उठाए हैं. (साभार-पनेसर इंस्टाग्राम)

इंग्लैंड के पूर्व स्पिनर मोंटी पनेसर (Monty Panesar) ने रविवार को कहा कि अहमदाबाद का नरेंद्र मोदी स्टेडियम टेस्ट मैच के लायक नहीं था. क्योंकि यहां दो दिन के भीतर ही मैच खत्म हो गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 28, 2021, 4:55 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. इंग्लैंड के पूर्व स्पिनर मोंटी पनेसर ( Monty Panesar) ने रविवार को कहा कि अहमदाबाद का नरेंद्र मोदी स्टेडियम टेस्ट मैच के लायक नहीं था. क्योंकि यहां दो दिन के भीतर ही मैच खत्म हो गया. उन्होंने कहा कि अगर चौथे टेस्ट में भी ऐसी ही पिच रहती है तो फिर इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल ( ICC)को भारत के अंक काट देने चाहिए. भारत ने अहमदाबाद में हुए पिंक बॉल टेस्ट में दो दिन के भीतर ही मेहमान इंग्लैंड को 10 विकेट से हरा दिया था. मैच में गिरे तीस में से 28 विकेट स्पिनर्स ने लिए थे. इसके बाद से ही दोनों देशों के पूर्व खिलाड़ी इस पिच की आलोचना कर रहे हैं.

पनेसर ने न्यूज एजेंसी एएनआई से हुई चर्चा में मोटेरा की पिच को लेकर कहा कि ये इंग्लैंड में वीकेंड पर क्लब क्रिकेट खेलने की तरह था. मुझे लगता है कि ये दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम है. ऐसे में नरेंद्र मोदी स्टेडियम में आने वाले फैंस यही चाहते होंगे कि टेस्ट मैच लंबा चले. ताकि वो ये देख सकें कि विकेट कितना अच्छा है, स्टेडियम कितना खूबसूरत है. ये दो दिन में खत्म हो जाने वाले टेस्ट मैच के लायक स्टेडियम नहीं है. अगर आप इस तरह का क्रिकेट खेलना चाहते हैं तो फिर पार्क में जाएं.

मोटेरा का विकेट चेन्नई से भी खराब था: पनेसर

ये पूछे जाने पर कि क्या आईसीसी को तीसरे टेस्ट में जिस तरह का विकेट बनाया गया था, उसे ध्यान में रखना चाहिए. इस पर पनेसर ने कहा कि अगर अगले टेस्ट में भी ऐसी ही पिच रहती है तो आईसीसी को जरूर ऐसा करना चाहिए और भारत के प्वाइंट्स काट देने चाहिए. उन्होंने कहा कि हर कोई इस बात को लेकर खुश था कि क्रिकेट को दुनिया का सबसे बड़ा स्टेडियम मिल गया. कम से क्यूरेटर को तो इस टेस्ट के लिए अच्छी विकेट बनानी थी. भले ही फिर वो टर्निंग ट्रैक होता. हर कोई चेन्नई टेस्ट की विकेट की शिकायत कर रहा था. लेकिन मोटेरा का तो विकेट उससे भी खराब था.
'विकेट ऐसा हो जिस पर मैच तीन दिन तो चले'

इंग्लैंड के इस पूर्व स्पिनर ने आगे कहा कि अगर आप स्पिनर्स के मददगार विकेट ही बनाना चाहते हैं तो कम से कम ऐसी पिच तो बनाएं जिस पर मैच कम से कम तीन या साढ़े तीन दिन चले. उन्होंने कहा कि भारत में लोग कह रहे हैं कि इंग्लैंड के बल्लेबाज स्पिनर्स को अच्छा नहीं खेलते हैं. तो ऐसे लोगों को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि एलेस्टर कुक और केविन पीटरसन जैसे बल्लेबाज भारत में रन बना चुके हैं. कुक का तो भारत में ऑस्ट्रेलिया के पूर्व ओपनर मैथ्यू हेडन जैसा अच्छा रिकॉर्ड है.

आइडियल विकेट बनाने पर जोर देना चाहिए



उन्होंने कहा कि भारत में फैंस क्रिकेट के सबसे बड़े हिस्सेदार हैं. जब तक उनकी टीम इंडिया जीतती रहेगी. उन्हें इस बात से फर्क नहीं पड़ेगा कि मैच पांच दिन चला या फिर दो दिन में ही खत्म हो गया. हालांकि, कुछ लोग कह रहे हैं कि विश्व क्रिकेट में भारत का दबदबा है. ऐसे में उसकी ये जिम्मेदार बनती है कि वो टेस्ट क्रिकेट के लिए आइडियल विकेट बनाए.

बता दें कि भारत और इंग्लैंड के अहमदाबाद में हुआ तीसरा टेस्ट दो दिन में ही खत्म हो गया था. कुल 140.2 ओवर का ही खेल हुआ था. भारत मेहमान टीम को 10 विकेट से हराकर वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल के एक कदम और करीब पहुंच गया. तीसरे टेस्ट की पिच को लेकर मचे हंगामे के बाद अब सबकी नजरें इसी मैदान पर 4 मार्च से होने वाले सीरीज के आखिरी टेस्ट पर होंगी कि यहां पिच का मिजाज कैसा रहता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज