ऋषभ पंत का बड़ा बयान, समस्‍या का पूरा हल नहीं बताते एमएस धोनी

ऋषभ पंत का बड़ा बयान, समस्‍या का पूरा हल नहीं बताते एमएस धोनी
महेंद्र सिंह धोनी और ऋषभ पंत काफी करीबी भी हैं

ऋषभ पंत (Rishabh Pant) को धोनी (MS Dhoni) का उत्तराधिकारी माना जा रहा है लेकिन सीमित ओवरों के प्रारूप में लोकेश राहुल (KL Rahul) ने उनकी जगह ले ली जिससे इस युवा खिलाड़ी को अंतिम एकदश में जगह बनाने के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है.

  • Share this:
नई दिल्ली. महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) को अपना मार्गदर्शक बताते हुए विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत (Rishabh Pant) ने कहा कि विश्व कप विजेता कप्तान अपने तरीके से युवा खिलाड़ियों की मदद करते है लेकिन किसी समस्या का पूर्ण समाधान देने की जगह खुद हल ढूढ़ने के लिए प्रोत्साहित करते है. पंत (Rishabh Pant) को धोनी (MS Dhoni) का उत्तराधिकारी माना जा रहा था लेकिन सीमित ओवरों के प्रारूप में लोकेश राहुल (KL Rahul) ने उनकी जगह ले ली जिससे इस युवा खिलाड़ी को अंतिम एकदश में जगह बनाने के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है.

धोनी को पंत मानते हैं अपना सबसे बड़ा मार्गदर्शक
पंत ने इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) की अपनी टीम दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals) के साथ इंस्टाग्राम पर बातचीत में कहा, ‘वह मैदान के अंदर और बाहर मेरे मार्गदर्शक की तरह हैं. मैं किसी भी समस्या के समाधान के लिए उनसे संपर्क कर सकता हूं लेकिन वह मुझे कभी भी पूर्ण समाधान नहीं देते है.’ उन्होंने कहा, ‘ऐसा इसलिए भी है कि मैं पूरी तरह उन पर निर्भर ना रहूं. वह केवल संकेत देते हैं जिससे मुझे हल निकालने में मदद मिलती है. वह बल्लेबाजी में मेरे पसंदीदा जोड़ीदारों में से एक हैं. उनके साथ हालांकि बल्लेबाजी का मौका कम ही मिलता है.’ कोविड-19 (Covid-19) महामारी के कारण आईपीएल (IPL) को अनिश्चित काल के लिए टाल दिया गया है.

धोनी के बाद पंत को दिया जाता रहा है मौका
धोनी के क्रिकेट से ब्रेक लेने के बाद ऋषभ पंत को लगातार मौके दिए गए हैं. सेलेक्टर्स कई बार कह चुके हैं कि वह पंत को बैक करना चाहते हैं. हालांकि पंत के लिए टीम में जगह बनाना अब मुश्किल होता जा रहा है. टीम के बल्लेबाज केएल राहुल ने न्यूजीलैंड के दौरे पर विकेटकीपिंग की उससे पंत की जगह मुश्किल में पड़ गई है.



पंत ने अपने करियर में 13 टेस्ट, 16 वनडे और 27 टी20 खेले हैं. पंत ने अपने शुरूआती दिनों को याद करते हुए कहा कि वो रात को 2 बजे दिल्ली आने के लिए बस पकड़ते थे. इस दौरान उन्होंने उन सीनियर खिलाड़ियों का भी नाम लिया जिन्होंने पंत को उनके करियर में मदद की है. इसमें विराट कोहली, रोहित शर्मा, शिखर धवन, धोनी, युवराज सिंह और सुरेश रैना शामिल हैं.

सनथ जयसूर्या: एक ऐसा गेंदबाज, जो रातों-रात बन गया ओपनर और फिर वनडे क्रिकेट में हुआ 'धमाका'

बड़ा खुलासा : राहुल द्रविड़ ने पाकिस्तान में घुसकर दी थी चुनौती, अगर मैं...
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज